Analytic Insight Net - FREE Online Tipiṭaka Research and Practice University and related NEWS through 
http://sarvajan.ambedkar.org 
in
 105 CLASSICAL LANGUAGES
Paṭisambhidā Jāla-Abaddha Paripanti Tipiṭaka Anvesanā ca Paricaya Nikhilavijjālaya ca ñātibhūta Pavatti Nissāya 
http://sarvajan.ambedkar.org anto 105 Seṭṭhaganthāyatta Bhāsā
Categories:

Archives:
Meta:
04/22/16
1844 Sat Apr 23 2016 LESSONS from INSIGHT-NET-Hi Tech Radio Free Animation Clipart Online A1 (Awakened One) Tipiṭaka Research & Practice University in Visual Format (FOA1TRPUVF) through http://sarvajan.ambedkar.org Button Plant Green Butterfly E Mail Animation Clipaonesolarpower@gmail.com Classical Buddhism (Teachings of the Awakened One with Awareness) belong to the world, and everyone have exclusive rights:JCMesh J Alphabets Letter Animation ClipartMesh C Alphabets Letter Animation Clipart Rendering exact translation as a lesson of this University in one’s mother tongue to this Google Translation and propagation entitles to become a Stream Enterer (Sottapanna) and to attain Eternal Bliss as a Final Goal. list of websites propagating the teachings of The Awakened One with Awareness i.e., Buddha Tripitaka in Visual format http://sarvajan.ambedkar.org/?m=200907 http://wapedia.mobi/en/Buddhahood#1. http://news. xinhuanet. com/english/ 2009-07/27/ content_11780918 .htm www.chinaview. cn www.buddhismandbusi ness.webs. com http://www.grameenfoundation.org/welcome/google_psa/ www.grameenfoundation.org http://plato.stanford.edu/entries/abhidharma/ http://www.taosinstitute.net/Websites/taos/images/PublicationsWorldShare/BuddhaAsTherapistMeditations_2015.pdf http://www.audiodharma.org/series/1/talk/1839/ http://scroll.in/article/806815/in-sounding-the-bugle-for-2017-polls-in-uttar-pradesh-mayawati-did-not-spare-anyone In sounding the bugle for 2017 polls in Uttar Pradesh, Mayawati did not spare anyone https://in.news.yahoo.com/robot-monk-blends-science-buddhism-chinese-temple-022046666.html Robot monk blends science and Buddhism at Chinese temple http://www.hindustantimes.com/india/jodhpur-dalits-against-liquor-shop-say-they-ve-converted-to-buddhism/story-66WtTi1jP436dwxVFIRO1N.html Jodhpur: SC/STs against liquor shop say they’ve converted to Buddhism https://in.news.yahoo.com/scheduled-caste-commission-report-scs-010500542.html Scheduled Caste Commission report: ‘SCs don’t get SC funds’ in Classical English,Tamil- பாரம்பரிய இசைத்தமிழ் செம்மொழி,Chinese (Traditional)-中國古代(傳統),Malayalam- ക്ലാസ്സിക്കൽ മലയാളം,Bengali- ক্লাসিক্যাল বাংলা,Kannada- ಶಾಸ್ತ್ರೀಯ ಕನ್ನಡ,Marathi - शास्त्रीय मराठी,Punjabi- ਕਲਾਸੀਕਲ ਦਾ ਪੰਜਾਬੀTelugu- ప్రాచీన తెలుగు,
Filed under: General
Posted by: @ 2:51 pm

1844 Sat Apr 23 2016

LESSONS


from

INSIGHT-NET-Hi Tech Radio Free Animation Clipart Online A1 (Awakened One) Tipiṭaka Research & Practice University
in Visual Format (FOA1TRPUVF)  

through http://sarvajan.ambedkar.org

Button Plant Green Butterfly E Mail Animation Clipaonesolarpower@gmail.com

Classical Buddhism (Teachings of the Awakened One with Awareness) belong to the world, and everyone have exclusive rights:JCMesh J Alphabets Letter Animation ClipartMesh C Alphabets Letter Animation Clipart

Rendering
exact translation as a lesson of this University  in one’s mother
tongue to this Google Translation and propagation entitles to become a
Stream Enterer (Sottapanna) and to attain Eternal Bliss as a Final Goal.

list of websites propagating the teachings of The Awakened One with Awareness i.e., Buddha Tripitaka in Visual format

http://sarvajan.ambedkar.org/?m=200907
http://wapedia.mobi/en/Buddhahood#1.
http://news. xinhuanet. com/english/ 2009-07/27/ content_11780918 .htm
www.chinaview. cn
www.buddhismandbusi ness.webs. com
http://www.grameenfoundation.org/welcome/google_psa/
www.grameenfoundation.org

http://plato.stanford.edu/entries/abhidharma/
http://www.taosinstitute.net/Websites/taos/images/PublicationsWorldShare/BuddhaAsTherapistMeditations_2015.pdf

http://www.audiodharma.org/series/1/talk/1839/

http://scroll.in/article/806815/in-sounding-the-bugle-for-2017-polls-in-uttar-pradesh-mayawati-did-not-spare-anyone

In sounding the bugle for 2017 polls in Uttar Pradesh, Mayawati did not spare anyone


https://in.news.yahoo.com/robot-monk-blends-science-buddhism-chinese-temple-022046666.html

Robot monk blends science and Buddhism at Chinese temple
http://www.hindustantimes.com/india/jodhpur-dalits-against-liquor-shop-say-they-ve-converted-to-buddhism/story-66WtTi1jP436dwxVFIRO1N.html

Jodhpur: SC/STs against liquor shop say they’ve converted to Buddhism

https://in.news.yahoo.com/scheduled-caste-commission-report-scs-010500542.html

Scheduled Caste Commission report: ‘SCs don’t get SC funds’

in Classical EnglishTamil

“> பாரம்பரிய இசைத்தமிழ் செம்மொழி

,
Chinese (Traditional)-中國古代(傳統),Malayalam- ക്ലാസ്സിക്കൽ മലയാളം,Bengali- ক্লাসিক্যাল বাংলা,Hindi- शास्त्रीय हिन्दी,Kannada- ಶಾಸ್ತ್ರೀಯ ಕನ್ನಡ,Marathi - शास्त्रीय मराठी,Gujarati - આ Classical ગુજરાતી,Punjabi- ਕਲਾਸੀਕਲ ਦਾ ਪੰਜਾਬੀ,Telugu- ప్రాచీన తెలుగు,


Scheduled Caste Commission report: ‘SCs don’t get SC funds’

WITH
various political parties staking claim to the legacy of Dr B R
Ambedkar on his 125th birth anniversary, the latest annual report by the
Scheduled Caste Commission has found that almost all states have failed
to honour their budgetary commitments toward the SC community.

It’s
learnt that in its first such audit, the commission examined the
2012-13 budget of 26 states and found that funds spent on “SC-specific”
scheme was only a tiny fraction of the total allotted under the SC
Special Plan (SCSP). The report is yet to be tabled in Parliament. “The
expenditure on SC-specific schemes is just a small fraction of the total
allocation to SCSP across the country.

The
Centre’s guidelines, specified in the budget, state that various
ministries and departments have to earmark funds under the SCSP, at
least in proportion to the community’s population in states. According
to Census 2011, the SC community constitutes 16.6 per cent of the
country’s population.

Of
the Rs 80,310 crore the 26 states allotted to SCSP schemes in 2012-13,
when the UPA government was in power at the Centre, Rs 61,480 crore was
spent. However, of this amount only Rs 9,920 crore, or just 12 per cent
of the total allocation, was spent on SC-specific schemes and the rest
was diverted to other schemes, the commission found.

 “only those schemes should be
included under SCSP which ensure direct benefits to individuals or
families belonging to SCs”. “SCSP funds are meant for SCs only, but are
diverted to other areas,”.

The commission’s audit focused mainly on allocation and expenditure, and the gap between the two. Consider these:

* Funds allotted for SCSP by 19 of 26 states were, in proportion, less than the SC community’s population there.

*
On expenditure, the commission found that none of the 26 states spent
even half the funds under the SCSP account on “SC-specific schemes”.
Just 14 states spent more than 10 per cent of the total spent funds
under the SCSP on “SC-specific schemes”. Six others, including Gujarat,
UP and Bihar, spent less than 20 per cent funds on SC-specific schemes.
Chhattisgarh, West Bengal and Odisha were among the worst performers.

*
There is a wide gap between funds allotted and money spent on SC
schemes. For instance, Punjab tagged 28.85 per cent of the state budget
under SCSP but spent just 4.81 per cent of that allocation on
SC-specific schemes.

“There
are general schemes and there are SC-specific schemes. The SC
commission has not correctly defined the funds meant for the SC-specific
schemes. Our funds are reaching the SCs and benefitting the community,”
said N K Aswal, additional chief secretary, SC & ST Development,
Chhattisgarh.

K
D Kapadia, director, Gujarat SC Welfare department, said: “In our
state, the SC population is scattered. Many villages have more than 250
members in the SC segment. The schemes implemented in the areas
surrounding these villages should be considered under SCSP. In urban
areas, many wards have a significant population of SCs. Urban Local
Bodies provide many facilities i.e., street lights, overhead water
tanks, roads, footpaths, drinking water, drainage, schools, community
toilets, dispensaries, etc., in such wards. These should be included in
outlay for SCSP.”

K
S Saroj, secretary (Welfare of SCs and BCs), Punjab, said: “We allocate
funds for SCs in proportion to the SC population in Punjab. The
expenditure on SC schemes is also undertaken in the same way. We don’t
know how the commission has found such discrepancies between allocation
and expenditure.”

Ms
Mayawati as CM of UP distributed the wealth of the state
proportionately
among all sections of the society for Sarvajan Hithaye Sarvajan Sukhaye
i.e., for the welfare, happiness and peace of all societies as
enshrined in our Constitution to save democracy, liberty, equality and
fraternity. Because of her best governance he became eligible to become
the PM of this country. This was not liked by the 1% intolerant,
violent, militant, shooting, lynching, lunatic,
mentally retarded cannibal psychopath chitpawan brahmins of Rakshasa
Swayam Sevaks and all its avathars BJP (Bahuth Jiyadha Psychopaths), VHP
(Violent Hindutva psychopaths), ABVP (All Brahmins Venomous
Psychopaths) Bhajan Dal etc., because of their hatred towards 99%
Sarvajan Samaj defeated her by tampering the fraud EVMs. But she proved
when she and her BSP won majority of the seats in the UP Panchayat
elections.

The
only solution is to replace  all the EVMs in a single phase with paper
ballots and dismiss all the governments selected by these fraud EVMs and
then conduct fresh elections.

WATCH INDIAN EXPRESS VIDEOS HERE


20) Classical Tamil

“>20) பாரம்பரிய இசைத்தமிழ் செம்மொழி



1844 Sat Apr 23 2016



“>காட்சி வடிவில் (FOA1TRPUVF)

“>aonesolarpower@gmail.com





“>http://wapedia.mobi/en/Buddhahood#1.
http: // எனத் செய்தி. xinhuanet. www.chinaview. www.buddhismandbusi ness.webs. “>http://www.grameenfoundation.org/welcome/google_psa/

“>http://www.taosinstitute.net/Websites/taos/images/PublicationsWorldShare/BuddhaAsTherapistMeditations_2015.pdf



உத்தர பிரதேசத்தில் 2017 தேர்தல் ஊதல் ஒலி -  மாயாவதி யாரையும் விட்டுவைக்கவில்லை


https://in.news.yahoo.com/robot-monk-blends-science-buddhism-chinese-temple-022046666.html
சீன கோவிலில் ரோபோ துறவி அறிவியல் மற்றும் புத்த கலப்பு

http://www.hindustantimes.com/india/jodhpur-dalits-against-liquor-shop-say-they-ve-converted-to-buddhism/story-66WtTi1jP436dwxVFIRO1N.html
ஜோத்பூர்: எஸ்சி / எஸ்.டீ.க்கள் மதுபான கடைகளுக்கு   எதிராக  அவர்கள் புத்த மதத்திற்கு மாறினர்

https://in.news.yahoo.com/scheduled-caste-commission-report-scs-010500542.html
தாழ்த்தப்பட்ட வகுப்பினருக்கான கமிஷன் அறிக்கை: ‘தாழ்த்தப்பட்ட எஸ்சி களுக்கு  நிதி இல்லை’

ஜோசப் கேம்பல்
ராய்ட்டர்ஸ்
23 ஏப்ரல் 2016
மூலம்

ஜோசப் கேம்பல் மூலம்

மாஸ்டர்
சியான்பான் ஏப்ரல் 20, 2016 ம் ஆண்டு, அவர் பெய்ஜிங்கில் செய்த   ரோபோ
துறவி சியன் ‘ஏற செயல்பாடு புறநகரில் ளொங்க்குஅன்  புத்த கோவில் ரோபோ
உரையாடல் போது புகைப்படம் எடுத்துக்கொள்ளும் வாய்ப்பு    தெரிகிறது -
ராய்ட்டர்ஸ் / கிம் யுங்-ஹூன்


ஜோசப் கேம்பல் மூலம்

பீஜிங்
(ராய்ட்டர்ஸ்) - பெய்ஜிங் புறநகரில் ஒரு புத்த கோவில் பின்பற்றுபவர்கள்
ஈர்க்க பயன்படுத்த தொழில்நுட்பம் முடிவு செய்துள்ளது.

ளொங்க்குஅன் 
கோவில் அது, புத்த சூத்திரங்கள் மந்திரம் முடியும் என்று குரல் கட்டளை
வழியாக செல்ல வேண்டும், மற்றும் ஒரு எளிய உரையாடல் நடத்த ஒரு ரோபோ துறவி
உருவாக்கியுள்ளது என்கிறார்.

சியன் ‘ஏற  பெயரிடப்பட்டது, 2 அடி
உயரமான ரோபோ மஞ்சள் அங்கிகளும் ஒரு கார்ட்டூன் போன்ற புதிய துறவி ஒரு
சரவன் தலை, மார்பு மீது ஒரு தொடுதிரை வைத்திருக்கும் ஒத்திருக்கிறது.

சியன்
‘ஏற  அவரது திரையில் பட்டியலில் புத்த மற்றும் அன்றாட வாழ்க்கையை பற்றி
சுமார் 20 எளிய கேள்விகளுக்கு, பதில் அளிப்பதன் மூலம் ஒரு உரையாடலை நடத்த,
மற்றும் அவரது சக்கரங்கள் இயக்கங்கள் ஏழு வகையான செய்ய முடியும்.

மாஸ்டர்
சியான்பான் , சியன் ‘ஏற  படைப்பாளர், ரோபோ துறவி அறிவியல் மற்றும் புத்த
இணைவு மூலம், சீனாவில் புத்த ஞானம் பரப்பி சரியான கப்பல் என்று கூறினார்.

“அறிவியல்
மற்றும் புத்த எதிர்க்கின்றனர் என்றும், முரணாக, மற்றும் ஒருங்கிணைந்த
மற்றும் பரஸ்பர இணக்கமான முடியும்,” Xianfan கூறினார்.

புத்த மெதுவாக சீர்திருத்தங்கள் பல தசாப்தங்களுக்கு முன்னர் போகிறது ஆனதிலிருந்து தினசரி வாழ்வில் மீண்டும் தடங்கல்.

சியான்பான்  புத்த ஒரு வேகமாக மாறிவரும், ஸ்மார்ட் போன் ஆதிக்க சமுதாயத்தில் உள்ள மக்கள் ஒரு இடைவெளி நிரப்பப்பட்டது கூறினார்.

“புத்த
உள் மனதில் மிகவும் முக்கியத்துவம் ஒட்டிக்கொள்கிறது என்று ஒன்று உள்ளது,
மற்றும் தனிநபரின் ஆன்மீக உலகில் கவனம் செலுத்துவதில்லை,” என்று அவர்
கூறினார்.

“அது இந்த முன்னோக்கு, நான் பல மக்கள் தேவைகளை பூர்த்தி
செய்ய முடியும் என்று நான் நினைக்கிறேன் இருந்து பேசிய உயர்ந்த
கலாச்சாரத்தின் ஒரு வகையான..”

சிறிய ரோபோ துறவி ஒரு தொழில்நுட்ப
நிறுவனம் மற்றும் சீனாவின் உயர்மட்ட பல்கலைக்கழகங்கள் சில இருந்து செயற்கை
நுண்ணறிவு நிபுணர்கள் இடையே ஒரு கூட்டு திட்டம் உருவாக்கப்பட்டது.

அக்டோபர் மாதம் பொதுமக்களுக்கு திறந்து வைக்கப்பட்டது.

ஆனால் சியன் ‘ஏற  அவசியம் இல்லை பல அவரை இருக்க வேண்டும் என்று சமூக பட்டாம்பூச்சி உள்ளது.

அவர்
பல ரோபாட்டிக்ஸ் மற்றும் சீனா முழுவதும் கண்டுபிடிப்பு கண்காட்சிகள்
சுற்றுப்பயணம் மேற்கொண்டு வருகிறார் ஆனால் அரிதாக Longquan கோவிலில்
பொது தோன்றுவார்.

சியன் ‘ஏற  அவரை பற்றி ஆர்வத்தை சமூக ஊடக
வெடித்து விட்டது கூட, அவரது நாட்கள் ஒரு அலுவலகத்தில் ஒரு அலமாரியில்
“தியானம்” மிக செலவழிக்கிறது.

சியன் ‘ஏற  அதே பெயரில் சியான்பான் 
2013 கார்ட்டூன் உருவாக்கம் அழகூட்டும். கோவில் கார்ட்டூன் அனிமேஷன்,
வெளியிடப்பட்ட காமிக் தொகை நூல்களாக, மற்றும் முல்லா துறவி இடம்பெறும் கூட
விற்பனைப் பொருட்களை வருகிறது.

மைக்கேல் யூ, ஒரு சுற்றுலா மற்றும் பௌதத்தை  பயிற்சி செய்பவர், அவர் முதலில்  சமூக ஊடக சியன் ‘ஏற  காணப்பட்டது என்று கூறினார்.

அவர்
மிகவும் அழகாக மற்றும் அபிமானமாக   தெரிகிறார். அவர், இன்னும் மக்கள்
மத்தியில் புத்தம் பரவிட  மிகவும் சுவாரசியமாது என்பதால்  அவர்களை
உண்மையில் புத்தம் புரிந்து கொள்ள  வைக்கும்  என்று நினைக்கிறேன் என்று
அவர் கூறினார்.


கோவிலில்  அதன் செயல்பாடுகளின் பல்வேறு வகைகளை மிகவும் வேண்டும்  இது சியன் ‘ஏற வின்  ஒரு புதிய மாடல், வளரும் என்கிறார்.

(ஜோசப் கேம்பல் மூலம் அறிவிக்க வேண்டும்; எடிட்டிங் ராபர்ட் பிரசெல்
 மூலம்)

http://www.hindustantimes.com/india/jodhpur-dalits-against-liquor-shop-say-they-ve-converted-to-buddhism/story-66WtTi1jP436dwxVFIRO1N.html
ஜோத்பூர்: எஸ்சி / எஸ்.டீ.க்கள் மதுபான கடைகளுக்கு   எதிராக  அவர்கள் புத்த மதத்திற்கு மாறினர்

தங்கள்
பகுதியில்  மதுபான கடைகளைத் திறந்த தை  எதிர்த்து  எஸ்.சி / எஸ்.டி களின்
ஒரு குழு மாநில நிர்வாகம் தங்கள் கோரிக்கை புறக்கணிக்கப்பட்டது என அவர்கள்
புத்த மதத்திற்கு மாறிவிட    உரிமை கோரியுள்ளன.

ஜோத்பூர் பட்சிய 
புறநகர் பகுதியில் சாண்ட் ரவிதாஸ் காலனியில்   வசிப்பவர்கள் மதுபான
கடைகளுக்கு  எதிராக மூன்று வாரங்ககளாக  கண்டனம் தெரிவித்து வருகின்றனர்.

ஆர்ப்பாட்டத்தில் ஈடுபட்ட குடியிருப்பாளர்கள் சிலர் மொட்டை அடித்துக்கொண்டனர்.

அசோக்
பலோதியா , அவரது தலையை மொட்டையடித்து “எது வந்தாலும் சரியே”  யார்
எதிர்த்தாலும்  மதுபான கடைகளுக்கு எதிராக தங்கள் இயக்கம் தொடரும் என்று
கூறினார்.

நாம் இந்து மதத்திலிருந்து இருந்து, அம்பேத்கர் சீடர்களாக
இருப்பதால், நாங்கள் அவரை போன்றே  பௌத்தத்தை  ஏற்றுக்கொண்டுள்ளோம் 
என்று  எச்சரித்தார்.


அதே வட்டாரத்திலேயே இருந்து பாக்வண்டி 
அவர்கள் மதுபான கடைகளைத் திறப்பதை  நிறுத்த எந்த அளவிற்கும் செல்ல தயாராக
இருப்பதாக  மற்றும் கடை உரிமம் ரத்துக்கு குறைவாக எதையும் ஏற்க  முடியாது
என்று கூறினார்.

மதுபானக் கடைகளுக்கு எதிரான இயக்கம் தொடர்ந்திட :

சிறந்த தீர்வு புத்த மதத்திற்கு மாற வேண்டும்.

டெக்னோ-அரசியல்-சமூக
மாற்றம், பொருளாதார விடுதலை இயக்கம், பாபாசாகேப் அம்பேத்கரால்
ஆரம்பிக்கப்பட்ட, மன்யவர்  கன்ஷ்ரம்  மற்றும் மாயாவதி அவர்களின்
கோடிக்கணக்கான  ஆதரவாளர்களையும்  தொடர்வதன்  மூலம்.

இன்றைய
தலைவர்கள் அவர்களின் தலைக களை   மொட்டை அடித்துக்கொண்டு மற்றும் ஒரு
உதாரணம்மாக இருக்க  விழிப்புணர்வுடன் விழித்துக்கொண்ட ஒரு வரை போன்று
தங்கள் வாழ்க்கையை வாழ வேண்டும். அனைத்து நல்ல கட்டளைகளை பின்பற்ற அனைத்து
வகையான போதை  பொருட்களை புசித்தல்  தவிர்த்தது உட்பட வாழ வேண்டும்.

தமது
சொந்த சாதி ஊடகம் மற்றும் தொலைக்காட்சி ஓடைகளில், அவர்களது சொந்த
குடும்ப உறுப்பினர்கள் பொரு ட்டு, புருடா விட்டுக்கொண்டிருப்பதை அடியோடு
தவிர்த்து   உருளும் கற்கள்  போன்று உருளுவதற்கு  பதிலாக, வேற்று
பாதங்களில் நடந்து மற்றும்  சாராயம் குடிப்பதை   மற்றும் புகைபிடித்தல் 
உட்பட போதை பொருட்களை நிறுத்த மக்களை கேட்க வேண்டும் அனைத்து சுற்று
தலைவர்கள்.

அவர்கள், வீட்டு பெண்கள் மற்றும் தங்கள் குழந்தைகளுக்கு
போதையில் இருக்கும் போது  தங்கள் வீடுகளுக்கு உள்ளே தங்கள் ஆண்களை
அனுமதிக்க கூடாது என்று சொல்ல வேண்டும். மற்றும் அவர்களை அவர்கள் தங்கள்
வீடுகளை விட்டு வெளியே அவர்களை துரட்டி அடிப்பீர்களா அவர்களை
கேட்கவேண்டும்.

படிப்படியான முறையில் மதுபானக் கடைகளை மூடுதல், ஒரு
நாய் வாலை ஒரே நறுக்கில் நறுக்குவதற்கு பதிலாகபடிப்படியான முறையில்
நறுக்குதல்  போல் உள்ளது. இதேபோல் பேப்பர் வாக்குச்சீட்டுக்களுக்கு
பதிலாக படிப்படியான  முறையில் அனைத்து EVM (மோசடி வாக்குப் பதிவு
இயந்திரங்களை  முன்னாள் CJI சதாசிவம்முன்னாள் CEC  சம்பத் ஆலோசனை மேல்  
உத்தரவிட்டார்.

தாழ்த்தப்பட்ட வகுப்பினருக்கான கமிஷன் அறிக்கை: ‘தாழ்த்தப்பட்ட எஸ்சி நிதி இல்லை’

பல்வேறு அரசியல் கட்சிகள் தனது 125-வது பிறந்த நாளையொட்டி, டாக்டர் பி
ஆர் அம்பேத்கர் மரபு கூற்றை பெற்றுக்கொள்வதில் உறுதியாக கொண்டு, ஒரு
தாழ்த்தப்பட்ட வகுப்பைச் ஆணையம் ஆண்டறிக்கையில் கிட்டத்தட்ட அனைத்து
மாநிலங்களிலும் எஸ்சி சமூகத்தைப் பற்றிய தங்கள் வரவு-செலவுத்திட்ட
உறுதிமொழிகளை முடியவில்லை என்று கண்டறியப்பட்டது.

அது
அதன் முதல் அத்தகைய தணிக்கை, கமிஷன் 26 மாநிலங்களில் 2012-13 பட்ஜெட்டில்
ஆய்வு மற்றும் “எஸ்சி குறிப்பிட்ட” திட்டத்திற்காக செலவிட்ட நிதி எஸ்சி
சிறப்பு திட்டம் (SCSP) கீழ் ஒதுக்கப்பட்ட மொத்தம் மட்டுமே ஒரு சிறிய
பகுதியை இருந்தது கண்டறியப்பட்டது என்று கற்று.
அறிக்கை இன்னும் நாடாளுமன்றத்தில் தாக்கல் செய்ய வேண்டும். “எஸ்சி-குறிப்பிட்ட திட்டங்கள் மீது செலவுகளை நாடு முழுவதும் SCSP க்கு மொத்த ஒதுக்கீட்டில் ஒரு சிறு பகுதிதான்.

வரவு
செலவு திட்டம், மாநில குறிப்பிடப்பட்ட மையம் வழிகாட்டுதல்கள், பல்வேறு
அமைச்சகங்கள் மற்றும் துறைகள் குறைந்தது மாநிலங்களில் சமூகத்தில் மக்கள்
தொகையில் விகிதத்தில், SCSP கீழ் நிதி அடையாள குறி வேண்டும் என்று.
மக்கள் தொகை கணக்கெடுப்பு 2011 படி, எஸ்சி சமூகத்தில் நாட்டின் மக்கள் தொகையில் 16.6 சதவீதம் கூறப்பட்டிருக்கிறது.

ரூ
80.310 கோடி 26 மாநிலங்களில் SCSP திட்டங்கள் ஐக்கிய முற்போக்கு கூட்டணி
அரசு மையத்தில் அதிகாரத்தில் இருந்த போது, 2012-13-ஆம் ஆண்டில்
ஒதுக்கப்பட்ட, ரூ 61.480 கோடி செலவிடப்பட்டுள்ளது.
எனினும், இந்த அளவு மட்டுமே ரூ 9.920 கோடி, அல்லது மொத்த
ஒதுக்கீட்டில் சதவீதம் 12, எஸ்சி-குறிப்பிட்ட திட்டங்கள் செலவு மற்றும்
மீதமுள்ள மற்ற திட்டங்கள் திருப்பி அனுப்பப்பட்டது இருந்தது குழு
கண்டறிந்துள்ளது.

 “மட்டுமே
அந்த திட்டங்கள் தனிநபர்கள் அல்லது குடும்பங்கள் தாழ்த்தப்பட்ட சேர்ந்த
நேரடி நன்மைகள் உறுதி செய்யும் வகையில் SCSP கீழ் சேர்க்கப்பட வேண்டும்”.
“மட்டுமே SCSP நிதி தாழ்த்தப்பட்ட பொருள், ஆனால் மற்ற பகுதிகளில் திருப்பி,”.

கமிஷன் தணிக்கை ஒதுக்கீடு மற்றும் செலவு, மற்றும் இரண்டு இடையே இடைவெளி கவனம் செலுத்தியது. இந்த கருத்தில்:

19 26 மாநிலங்களில் SCSP ஒதுக்கப்பட்ட * நிதிகள் விகிதம், அங்கு எஸ்சி சமூகத்தில் மக்கள் தொகையில் குறைவாக இருந்தார்கள்.

*
செலவினம், கமிஷன் 26 மாநிலங்களில் யாரும் SCSP கணக்கின் கீழ் கூட அரை நிதி
செலவு “எஸ்சி-குறிப்பிட்ட திட்டங்கள்” என்று காணப்படுகிறது.
வெறும் 14 மாநிலங்களில் “எஸ்சி-குறிப்பிட்ட திட்டங்கள்” மேல் 10 கழித்தார் SCSP கீழ் மொத்த செலவு நிதி சதவீதம். குஜராத்,
உ.பி., பீகார் ஆகிய மாநிலங்களில் உட்பட ஆறு பேர்,, எஸ்சி-குறிப்பிட்ட
திட்டங்கள் மீது 20 க்கும் குறைவான சதவீதம் நிதி கழித்தார்.
சத்தீஸ்கர், மேற்கு வங்கம் மற்றும் ஒடிசா மோசமான கலைஞர்களில் மத்தியில் இருந்தன.

* ஒதுக்கப்பட்ட நிதிகள் மற்றும் பணச் எஸ்சி திட்டங்கள் செலவு இடையே பரந்த இடைவெளி உள்ளது. உதாரணமாக, பஞ்சாப் குறித்துள்ளார் 28,85 பட்ஜெட்டில் சதவீதம் SCSP கீழ்
ஆனால் எஸ்சி-குறிப்பிட்ட திட்டங்கள் வெறும் 4.81 என்று ஒதுக்கீடு சதவீதம்
கழித்தார்.

“பொது திட்டங்கள் உள்ளன மற்றும் எஸ்சி-குறிப்பிட்ட திட்டங்கள் உள்ளன. எஸ்சி கமிஷன் சரியாக எஸ்சி-குறிப்பிட்ட திட்டங்களுக்காக செலவழிக்கப்படும் நிதி வரையறுக்கப்பட்ட இல்லை. எங்கள் நிதி தாழ்த்தப்பட்ட அடையும் மற்றும் சமூக பயன் அடையும், “என்று
அந்த எண்ணிக்க கே Aswal, கூடுதல் தலைமை செயலாளர், எஸ்சி & எஸ்.டி
அபிவிருத்தி, சத்தீஸ்கர் கூறினார்.

கே டி கபாடியா, இயக்குனர், குஜராத் எஸ்சி நலத்துறை, கூறினார்: “நம் மாநிலத்தில், எஸ்சி மக்கள் சிதறியுள்ளது. பல கிராமங்கள் எஸ்சி பிரிவில் 250 க்கும் மேற்பட்ட உறுப்பினர்கள் வேண்டும். இந்த கிராமங்களில் சுற்றியுள்ள பகுதிகளில் செயல்படுத்தப்படும் திட்டங்கள் SCSP கீழ் கருத வேண்டும். நகர்ப்புற பகுதிகளில், பல வார்டுகளில் தாழ்த்தப்பட்ட குறிப்பிடத் தக்க எண்ணிக்கையில் வேண்டும். நகர்ப்புற
உள்ளாட்சி பல வசதிகளை அதாவது, தெரு விளக்குகள், மேல்நிலை நீர்த்
தொட்டிகள், சாலைகள், நடைபாதைகள், நீர், வடிகால், பள்ளிகள், சமூகம்
கழிப்பறைகள், மருந்தகங்கள், முதலியன குடித்து, போன்ற வார்டுகளில்
வழங்கும்.
இந்த SCSP க்கான செலவீடு சேர்க்கப்பட வேண்டும். “

கே
எஸ் சரோஜ், செயலாளர், பஞ்சாப் (எஸ்சி மற்றும் BCS நலன்) கூறினார்:
“நாங்கள் பஞ்சாபில் எஸ்சி மக்கள் தொகை விகிதத்தில் தாழ்த்தப்பட்ட நிதி
ஒதுக்கப்.
எஸ்சி திட்டங்கள் மீது செலவுகளை கூட அதே வழியில் மேற்கொள்ளப்படும். நாம் கமிஷன் ஒதுக்கீடு, செலவினங்களுக்கும் இடையிலான இத்தகைய வேறுபாடுகள் கண்டுள்ளது எப்படி என்று எனக்கு தெரியாது. “

ஜனநாயகம்,
சுதந்திரம், சமத்துவம் மற்றும் சகோதரத்துவம் காப்பாற்ற நம் அரசியல்
சாசனத்தில் பொதிந்துள்ளது என உ.பி. முதல்வர் மாயாவதி மாநில செல்வம்
விகிதாசாரத்தில் Sarvajan Hithaye Sarvajan Sukhaye அதாவது சமூகத்தின்
அனைத்து பிரிவினரையும் மத்தியில், நலன்புரி, மகிழ்ச்சி மற்றும் அனைத்து
சங்கங்களின் சமாதான விநியோகிக்கப்படுகிறது
. ஏனெனில் அவரது சிறந்த ஆட்சிமுறையின் அவர் இந்த நாட்டின் பிரதமர் ஆக தகுதியைப் பெற்றது. இந்த,
1% சகிப்புத்தன்மையற்ற, வன்முறை, போராளி பிடித்திருக்கிறது படப்பிடிப்பு,
தாக்கிக் கொலை இல்லை, பைத்தியம் மனநிலை சரியில்லாத மிராண்டியாக மனநோயாளி
chitpawan ராட்சசன் ஸ்வயம் சேவகர்கள் மற்றும் அதன் அனைத்து avathars பாஜக
(Bahuth Jiyadha Psychopaths), விஸ்வ இந்து பரிஷத் (வன்முறை இந்துத்துவ
மனநோயாளிகள்), ஏ.பி.வி.பியின் பிராமணர்கள் (
ஏனெனில்
99% Sarvajan சமாஜ் நோக்கி தங்கள் வெறுப்பு அனைத்து பிராமணர்கள் நஞ்சூ
Psychopaths) பஜன் தளம் முதலியன, மோசடி வாக்குப் பதிவு இயந்திரங்கள்
கைவைத்து அவள் தோற்கடித்தார்.
ஆனால், அவரும் அவரது பகுஜன் சமாஜ் கட்சி உ.பி. பஞ்சாயத்து தேர்தலில் முன்னணி பெரும்பான்மை ஆசனங்களை வென்ற போது அவர் நிரூபித்தார்.

ஒரே
தீர்வு பேப்பர் வாக்குச்சீட்டுக்களை ஒரு ஒற்றை கட்டத்தில் அனைத்து
வாக்குப் பதிவு இயந்திரங்கள் பதிலாக இந்த மோசடி வாக்குப் பதிவு
இயந்திரங்கள் மூலம் தேர்ந்தெடுக்கப்படும் அனைத்து அரசாங்கங்களைப் பதவி
நீக்கம் செய்ததன் பின்னர் புதிய தேர்தல் நடத்த உள்ளது.

7) Classical Chinese (Traditional)
7)中國古代(傳統)

1844年星期六2016年4月23日
教訓

INSIGHT-NET-A1在線(覺醒的人)大藏經研究與實踐大學
在Visual格式(FOA1TRPUVF)
通過http://sarvajan.ambedkar.org
aonesolarpower@gmail.com

古典佛教(覺醒與一個意識的教誨)屬於世界,每個人都擁有專有權利:JC

渲染精確的翻譯,因為這大學的在一個人的母語此谷歌翻譯和傳播的教訓有權成為流輸入者(Sottapanna),並獲得永恆極樂作為最終目標。

網站傳播覺醒的人的教導與意識列表即三藏佛在Visual格式

http://sarvajan.ambedkar.org/?m=200907
http://wapedia.mobi/en/Buddhahood#1。
HTTP://消息。新華網。 COM /英/ 2009-07 / 27 / content_11780918的.htm
www.chinaview。 CN
www.buddhismandbusi ness.webs。 COM
http://www.grameenfoundation.org/welcome/google_psa/
www.grameenfoundation.org

http://plato.stanford.edu/entries/abhidharma/
http://www.taosinstitute.net/Websites/taos/images/PublicationsWorldShare/BuddhaAsTherapistMeditations_2015.pdf

http://www.audiodharma.org/series/1/talk/1839/

http://scroll.in/article/806815/in-sounding-the-bugle-for-2017-polls-in-uttar-pradesh-mayawati-did-not-spare-anyone
在冠冕堂皇的北方邦為2017年調查的號角,瑪雅瓦蒂沒有放過任何人

https://in.news.yahoo.com/robot-monk-blends-science-buddhism-chinese-temple-022046666.html
機器人和尚在中國寺廟融合科學與佛教
http://www.hindustantimes.com/india/jodhpur-dalits-against-liquor-shop-say-they-ve-converted-to-buddhism/story-66WtTi1jP436dwxVFIRO1N.html
焦特布爾:SC /對酒店ST公司說,他們已經皈依佛門
https://in.news.yahoo.com/scheduled-caste-commission-report-scs-010500542.html
賤民委員會報告:“旺不要SC基金”

https://in.news.yahoo.com/robot-monk-blends-science-buddhism-chinese-temple-022046666.html
機器人和尚在中國寺廟融合科學與佛教
由約瑟夫·坎貝爾
路透社
2016年4月23日

https://www.rt.com/viral/340638-buddha-robot-longquan-beijing/
佛BOT:中國寺廟報名微型機器人和尚提振教導(視頻)
請觀看視頻:
https://www.rt.com/viral/340638-buddha-robot-longquan-beijing/

Xian’er是基於從寺廟本身的卡通系列叫,麻煩最受歡迎的人物,你尋找自己。現璠開發了一系列突出和發展,通過新媒體佛教與當代文化的連接,根據CNTV。

該Xian’er機器人與科技公司的支持與中國大學人工智能專家開發,寺目前正在開發一個更廣泛的功能的新模式。

法師現璠看著機器人和尚Xian’er,他在北京,4月20日,2016年REUTERS /金庚勳郊區龍泉佛寺合影的機會展示了機器人的通話功能

由約瑟夫·坎貝爾

北京(路透社) - 在北京郊區的一座佛教寺廟已決定利用技術來吸引追隨者。

龍泉寺表示,它已經開發出一種機器人和尚可以唄佛教經典裡,通過語音命令移動,並舉行簡單的對話。

命名Xian’er,2英尺高的機器人酷似黃色長袍卡通般的小和尚有光頭,抱著胸前的觸摸屏。

Xian’er可以通過回答關於佛教和日常生活約20簡單的問題,他的屏幕上列出舉行會談,並在他的車輪進行七類運動。

法師現璠,Xian’er的創建者表示,機器人和尚在中國的傳播佛教的智慧,通過科學和佛教的融合完美的容器。

“科學與佛教並非對立,也不矛盾,可以結合並相互兼容,”現璠說。

佛教已經慢慢爬回到日常生活改革以來持續了幾十年前。

現璠說,佛教充滿人們的間隙快速變化,智能手機主導的社會。

“佛教是值得重視內部心臟非常重視,並注意個人的精神世界,”他說。

“這是一種提升文化。從這個角度來說,我覺得它能夠滿足很多人的需求說起。”

小機器人和尚是發展成為一家技術公司和中國的一些頂尖大學的人工智能專家之間的聯合項目。

據公佈10月份公眾。

但Xian’er不一定是交際花許多人認為他是。

他還參觀了幾個機器人和中國各地的創新展覽會,但很少讓在龍泉寺在公眾場合露面。

Xian’er把大部分日子在辦公室的架子上“打坐”,儘管關於他的好奇心已經爆炸了社交媒體。

Xian’er由現璠2013年漫畫創作的同名啟發。該廟已生產卡通動畫,漫畫出版的詩集,甚至商品為特色的卡通和尚。

米歇爾宇,旅遊和實踐佛經上說,她第一次看到Xian’er在社交媒體上。

“他看起來真的很可愛,可愛的,他會傳播佛教給更多的人,因為他們會覺得他很有趣,而且會讓他們真的想了解佛教,”她說。

寺廟正在開發Xian’er的新模式,它說將有功能更多樣化。

(由約瑟夫坎貝爾報告;編輯由羅伯特·Birsel)

http://www.hindustantimes.com/india/jodhpur-dalits-against-liquor-shop-say-they-ve-converted-to-buddhism/story-66WtTi1jP436dwxVFIRO1N.html
焦特布爾:SC /對酒店ST公司說,他們已經皈依佛門

A組SC / ST的誰一直抗議在他們當地酒店的開幕聲稱他們已皈依佛門作為國家政府已經忽略了他們的需求。

桑特Ravidas殖民地在焦特布爾市郊Bhadasia居民一直在抗議反對酒店三個星期。

有些抗議的居民也得到了自己出家。

阿肖克Balotia,誰削髮示威者之一,他說,他們將繼續他們對酒店運動“不論發生什麼事情。”

“我們已經從印度教警告轉換因為我們是BR安貝德卡的追隨者,我們採用佛教喜歡他,”他說。

Bhagwanti從同一地點說,他們準備去任何程度上阻止酒店的開幕,也不會解決任何東西少於店牌照的取消。

繼續開展同白酒商店運動

最佳的解決方案是皈依佛門

通過技術 - 政治 - 社會轉型經濟解放被Babasaheb BR安貝德卡博士發起的運動,其次是Manyawar Kanshram和瑪雅瓦蒂女士和他們的追隨者億盧比。

今天的領導人必須剃度他們的頭,並導致他們的生活像覺醒的人有意識的表率。在全國將遵循所有的好戒律包括避免各種麻醉品的消費。

在全面領導誰字面上推出像滾石必須赤腳走路,並要求人們停止食用飲酒,包括燒酒和吸煙cigarrets和比迪煙,而不是在自己的種姓媒體和電視頻道的意思張口閉口只為自己的家庭成員。

他們必須告訴家庭婦女和自己的孩子,不要讓他們的家裡面自己的男人的民間當他們陶醉。他們必須讓他們把他們離開自己的家園。

在分階段的酒類商店關門說話就像切割分階段實施,而不是在單桿狗的尾巴。同樣所有的欺詐行為EVM的有一氣呵成紙選票,而不是分階段的前CJI Sadasivam下令由前CEC薩姆帕斯的建議進行更換。

賤民委員會報告:“旺不要SC基金”

與各政黨跑馬圈地索賠; B R安貝德卡博士在他的125週年誕辰的遺產,由賤民委員會最新的年度報告發現,幾乎所有的國家都沒有兌現向社會SC其預算的承諾。

它的了解,它的第一個此類審核,委員會審議了2012 - 13年預算的26個州,發現花費在“特定SC-”計劃的資金僅僅是SC專項規劃(SCSP)下分配總額的一小部分。該報告尚未在議會提出。 “具體的SC-方案的開支在全國總分配SCSP的只是一小部分。

該中心的指導方針,在預算中,國家規定的各種部委和部門必須指定將SCSP下資金,至少在比例社區在美國的人口。根據2011年人口普查,SC社會構成了全國人口的16.6%。

盧比80310億盧比的26個州分配給SCSP計劃在2012 - 13年,當UPA政府是在該中心的功率,盧比61480億盧比花了。然而,這只是量9,920盧比億盧比,或者只是12%的總撥款的比例,被用在特定的SC​​-方案,其餘被轉移到其他計劃,該委員會發現。

 “只有這些計劃應包括SCSP,確保屬於種姓的個人或家庭直接受益的”。 “SCSP資金只是針對種姓,而是被轉移到其他地區,”。

該委員會的審計主要集中在分配和支出,以及兩者之間的差距。考慮這些:

* 26的19個國家分配給SCSP資金,按比例,低於SC社區的人口在那裡。

*在支出中,委員會發現,沒有26個州的SCSP帳戶下度過連一半資金的“具體SC-方案”。僅僅14個州花了超過10%的SCSP下總共用了資金的比例的“特殊SC-方案”。六人,其中包括古吉拉特邦,UP和比哈爾邦,具體的SC-方案花了不到20%的資金。恰蒂斯加爾邦,西孟加拉邦和奧里薩邦表現最差之列。

*有資金分配和金錢花在SC方案之間有較大差距。例如,旁遮普標記28.85%的國家預算的百分之下SCSP但只花了4.81每該分配的比例在特定SC-方案。

“有一般的計劃,並有具體的SC-方案。自然科學委員會還沒有正確定義意味著特定的SC​​-計劃的資金。我們的資金達到了種姓和受益於社會,“NķAswal,額外的首席秘書,SC和ST發展,恰蒂斯加爾邦說。

殺敵卡帕迪亞,導演,古吉拉特邦SC福利部門表示:“在我們的狀態下,SC人口分散。許多村莊都在SC段250多名成員。周圍這些村莊的地區實施的計劃應SCSP考慮下。在城市地區,許多病房有旺的顯著人口。城市地方機構提供了許多設施,即路燈,高架水箱,道路,人行道,飲用水,排水,學校,社區廁所,醫務室等,在這樣的病房。這些應該包括在支出為SCSP“。

硫酸鉀Saroj,秘書,旁遮普邦,(種姓和BC的福利)說:“我們按比例在旁遮普邦的人口SC分配資金的種姓。在SC計劃的開支也進行了同樣的方式。我們不知道該怎麼委員會發現的分配​​和支出之間的這種差異。“

女士瑪雅瓦蒂為UP的CM發布時的狀態的財富比例對社會的Sarvajan Hithaye Sarvajan Sukhaye即各階層,對於福利,幸福和所有社會的和平是莊嚴載入我國憲法,以節省民主,自由,平等,博愛因為她的最好的治理,他成為有資格成為這個國家的PM。這是不是由1%不耐,暴力,激進的喜歡,射擊,私刑,瘋子,弱智食人族精神病chitpawan羅剎Swayam Sevaks及其所有avathars印度人民黨(Bahuth Jiyadha精神病患者),VHP(暴力印度教精神病患者),ABVP的婆羅門(因為他們對99%Sarvajan社會報仇恨的婆羅門毒蛇精神病患者)拜讚歌達爾等,通過篡改欺詐EVM的擊敗了她。但是,她證明了,當她和她的BSP贏得了廣大的UP鄉村行政委員會選舉的席位。

唯一的解決辦法是,以取代紙票的單相所有的EVM的並關閉這些欺詐EVM的選擇的所有政府,然後進行新的選舉。

17) Classical Malayalam
17) ക്ലാസ്സിക്കൽ മലയാളം

1844 ശ ഏപ്രി 23 2016
പാഠങ്ങൾ

നിന്ന്

ഇൻസൈറ്റ്-net-ഓൺലൈൻ 1 (ഉണർന്നവൻ) തിപിതിക റിസർച്ച് & അഭ്യാസം യൂണിവേഴ്സിറ്റി
വിഷ്വൽ ഫോർമാറ്റ് (FOA1TRPUVF) ൽ
http://sarvajan.ambedkar.org വഴി
aonesolarpower@gmail.com

ക്ലാസിക്കൽ ബുദ്ധമതം (അവബോധവും ഉണർന്നവൻ ടീച്ചിംഗ്) ലോകം വകയാണ്, എല്ലാവർക്കും എക്സ്ക്ലുസീവ് അവകാശമുണ്ടെന്ന്: ജെ.സി.

ഈ Google പരിഭാഷ ആൻഡ് ഗൈഡൻസ് ലേക്ക് ഒരുവൻറെ മാതൃഭാഷയിൽ ഈ
സർവ്വകലാശാലയുടെ ഒരു സ്മരണയുമാണത് കൃത്യമായ പരിഭാഷയെ റെൻഡർ ഒരു സ്ട്രീം
Enterer (Sottapanna) ആകുവാൻ അന്തിമ ലക്ഷ്യം എറ്റേണൽ വിജയം പ്രാപിച്ചേക്കാം
ലേക്ക് ഉകെയ്.

അതായത്, വിഷ്വൽ ഫോർമാറ്റിൽ ബുദ്ധ Tripitaka വാരാചരണം ഉറക്കത്തിലായിരുന്ന
വൺ ഉപദേശങ്ങൾ ജനങ്ങളിലെത്തിക്കുന്നതിൽ വെബ്സൈറ്റുകളുടെ പട്ടിക

http://sarvajan.ambedkar.org/?m=200907
http://wapedia.mobi/en/Buddhahood#1.
http: // വാർത്ത. xinhuanet. കോം / ഇംഗ്ലീഷ് / 2009-07 / 27 / content_11780918 .htm
www.chinaview. CN
www.buddhismandbusi ness.webs. സഖാവ്
http://www.grameenfoundation.org/welcome/google_psa/
www.grameenfoundation.org

http://plato.stanford.edu/entries/abhidharma/
http://www.taosinstitute.net/Websites/taos/images/PublicationsWorldShare/BuddhaAsTherapistMeditations_2015.pdf

http://www.audiodharma.org/series/1/talk/1839/

http://scroll.in/article/806815/in-sounding-the-bugle-for-2017-polls-in-uttar-pradesh-mayawati-did-not-spare-anyone
ഉത്തർപ്രദേശിൽ 2017 തിരഞ്ഞെടുപ്പിന് Bugle മുഴങ്ങുന്ന എന്നും മായാവതി ആരെയും ആദരിക്കാതെ ചെയ്തില്ല

https://in.news.yahoo.com/robot-monk-blends-science-buddhism-chinese-temple-022046666.html
റോബോട്ട് സന്യാസി ചൈനീസ് ക്ഷേത്രത്തിൽ ശാസ്ത്ര ബുദ്ധമതം രാജശില്പി
http://www.hindustantimes.com/india/jodhpur-dalits-against-liquor-shop-say-they-ve-converted-to-buddhism/story-66WtTi1jP436dwxVFIRO1N.html
ജോധ്പൂർ: മദ്യ ഷോപ്പ് നേരെ പട്ടികജാതി / എസ്ടി അവർ ബുദ്ധമതം പരിവർത്തനം ഞങ്ങൾ പറയുന്നു
https://in.news.yahoo.com/scheduled-caste-commission-report-scs-010500542.html
പട്ടികജാതി കമ്മീഷൻ റിപ്പോർട്ട്: ‘പട്ടികജാതി പട്ടികജാതി ഫണ്ട് ലഭിക്കില്ല’

https://in.news.yahoo.com/robot-monk-blends-science-buddhism-chinese-temple-022046666.html
റോബോട്ട് സന്യാസി ചൈനീസ് ക്ഷേത്രത്തിൽ ശാസ്ത്ര ബുദ്ധമതം രാജശില്പി
ജോസഫ് കാംപ്ബെൽ മാർഗം
റോയിറ്റേഴ്സ്
23 ഏപ്രിൽ 2016

https://www.rt.com/viral/340638-buddha-robot-longquan-beijing/
ബുദ്ധൻ-ബോട്ട് ചൈനീസ് ക്ഷേത്രം പഠിപ്പിക്കലുകൾ (വീഡിയോ) വർദ്ധിപ്പിക്കുന്ന മിനി സന്യാസിയുടെ റോബോട്ട് users- ന്റെയും
വീഡിയോ കാണുക:
https://www.rt.com/viral/340638-buddha-robot-longquan-beijing/

Xian’er
വിളിച്ചു ക്ഷേത്രം സ്വന്തം കാർട്ടൂൺ പരമ്പര നിന്ന് പ്രശസ്തമായ പ്രതീകം,
ട്രബിൾ അടിസ്ഥാനമാക്കിയുള്ളതാണ് നിനക്കുവേണ്ടി തന്നേ തേടുക.
Xianfan CNTV തക്കവണ്ണം ഹൈലൈറ്റ് വളർത്തിയെടുക്കാൻ പുതിയ മാധ്യമങ്ങളിലൂടെ സംസ്കാരം ബുദ്ധമതം ന്റെ കണക്ഷൻ പരമ്പര വികസിപ്പിച്ചു.

Xian’er റോബോട്ട് സാങ്കേതികവിദ്യയെ കമ്പനിയിൽ നിന്ന് പിന്തുണയും ചൈനീസ്
സർവകലാശാലകളിൽ നിന്ന് എയർ വിദഗ്ധരുമായി വികസിപ്പിച്ചു ക്ഷേത്രം നിലവിൽ
നിര്വഹിക്കുന്ന വ്യാപകമായ ഒരു പരിധിയുള്ള ഒരു പുതിയ മോഡൽ
വികസിപ്പിക്കുന്നത് ചെയ്തു.

അവൻ ബേഷിംഗ് പ്രാന്തപ്രദേശത്തുള്ള Longquan ബുദ്ധ ക്ഷേത്രം ഒരു ഫോട്ടോ
അവസരം സമയത്ത് റോബോട്ട് ന്റെ സംഭാഷണം ഫംഗ്ഷൻ വിളിച്ചോതുന്ന പോലെ
മാസ്റ്റർ Xianfan റോബോട്ട് സന്യാസിയുടെ Xian’er നോക്കുന്നു, ഏപ്രിൽ 20,
2016 റോയിറ്റേഴ്സ് / കിം Kyung-ഹൂ

ജോസഫ് കാംപ്ബെൽ മാർഗം

ബെയ്ജിംഗ് (റോയിട്ടേഴ്സ്) - ബേഷിംഗ് പ്രാന്തപ്രദേശത്തുള്ള ഒരു ബുദ്ധ
ക്ഷേത്രം അനുയായികളെ ആകർഷിക്കാൻ ഉപയോഗം സാങ്കേതികവിദ്യ തീരുമാനിച്ചു.

Longquan ക്ഷേത്രം അതു ബുദ്ധമത Suttas പ്രകീർത്തിക്കുകയും കഴിയുന്ന
വോയിസ് കമാൻഡ് വഴി നീക്കുക, ഒരു ലളിതമായ സംഭാഷണം ഹോൾഡ് റോബോട്ട്
സന്യാസി വികസിപ്പിച്ചെടുത്തിട്ടുണ്ട് പറയുന്നു.

Named Xian’er, 2-കാൽ ഉയരമുള്ള റോബോട്ട് കാർട്ടൂൺ-പോലുള്ള ആണാണോ
സന്യാസിയുടെ മഞ്ഞ ധരിപ്പിച്ചു ഒരു മുണ്ഡനം തലയും തന്റെ നെഞ്ചിൽ ഒരു ടച്ച്
സ്ക്രീൻ പിടിച്ചിരിക്കുന്ന സാമ്യങ്ങളുണ്ട്.

Xian’er തന്റെ സ്ക്രീനിൽ ലിസ്റ്റുചെയ്ത ബുദ്ധമതം ദൈനംദിന ജീവിതത്തിലെ
കുറിച്ച് ഏകദേശം 20 ലളിതമായ ചോദ്യങ്ങൾക്ക് ഉത്തരം ഒരു സംഭാഷണം ഹോൾഡ്
അവന്റെ വീലുകളിൽ ചലനങ്ങളിലൂടെ ഏഴു തരം നടത്താം.

മാസ്റ്റർ Xianfan, Xian’er സ്രഷ്ടാവുമായോ, റോബോട്ട് സന്യാസിയുടെ
ശാസ്ത്ര ബുദ്ധമതം ഫ്യൂഷൻ വഴി, ചൈന ബുദ്ധമതത്തിന്റെ ജ്ഞാനം പേരിലോ തികഞ്ഞ
പാത്രം പറഞ്ഞു.

“ശാസ്ത്രം ബുദ്ധമതവും എതിർക്കുന്നത് ചെയ്യുന്നു അത് വിട്ട് വിരുദ്ധമായി,
ഒപ്പം ഒരുമിച്ചുചേർക്കുകയും പരസ്പരം അനുയോജ്യമായ കഴിയും,” Xianfan പറഞ്ഞു.

പരിഷ്കാരങ്ങൾ നിരവധി ദശകങ്ങളായി മുമ്പ് പോകുന്ന നു ബുദ്ധമതം മെല്ലെ തിരികെ നിത്യജീവിതത്തിൽ .കട്ടപ്പന ചെയ്തു.

Xianfan ബുദ്ധമതം ഉടനേ മാറ്റുന്നതിൽ, സ്മാർട്ട് ഫോൺ ആധിപത്യമുള്ള സമൂഹത്തിലെ ജനങ്ങൾക്ക് ഒരു വിടവ് നിറഞ്ഞു പറഞ്ഞു.

“ബുദ്ധമതം അകത്തെ ഹൃദയത്തിൽ വളരെ പ്രാധാന്യം അറ്റാച്ചുചെയ്തിരിക്കുമ്പോൾ
സംഗതിയാണത്, വ്യക്തിയുടെ ആത്മീയ ലോകം ശ്രദ്ധിയ്ക്കുന്ന,” അവൻ പറഞ്ഞു.

“ഇത് എലവേറ്റഡ് സംസ്കാരം ഒരു തരം. നല്കപെട്ടതിനെ സംസാരിക്കുകയായിരുന്നു ഞാൻ അതു പലരും ആവശ്യങ്ങൾ തൃപ്തിപ്പെടുത്താൻ” എന്ന്.

ചെറിയ റോബോട്ട് സന്യാസി ടെക്നോളജി കമ്പനി ചൈനയുടെ ടോപ് സർവകലാശാലകളിൽ
ചില നിന്ന് കൃത്രിമ രഹസ്യാന്വേഷണ വിദഗ്ദ്ധർ തമ്മിലുള്ള സംയുക്ത സംരംഭമായി
വികസിപ്പിച്ചെടുത്തു.

ഒക്ടോബർ പൊതുജനങ്ങൾക്കായി അനാച്ഛാദനം ചെയ്തു.

എന്നാൽ Xian’er നിർബന്ധമില്ല പലരും അവനെ വിശ്വസിക്കുന്നുവെങ്കിൽ സോഷ്യൽ ചിത്രശലഭം.

അവൻ ചൈനയിൽ നിരവധി റോബോട്ടിക്സ് നവീന മേളകൾ പര്യടനം ചെയ്തു പക്ഷേ
അപൂർവ്വമായി Longquan ക്ഷേത്രത്തിൽ പൊതു പരിപാടികളിൽ പങ്കെടുക്കുന്നതിന്
ചെയ്യുന്നു.

Xian’er അവനെ കുറിച്ച് ജിജ്ഞാസ സോഷ്യൽ മീഡിയയിൽ പൊട്ടിത്തെറിക്കുന്ന
പോലും, ഉദ്യോഗസ്ഥരായി ഒരു ഷെൽഫിൽ “ധ്യാനിക്കൽ” അവന്റെ കാലത്തു ഏറ്റവും
അപകടം.

Xian’er ഇതേ പേരിൽ Xianfan ന്റെ 2013 കാർട്ടൂൺ സൃഷ്ടി പ്രചോദനം. ക്ഷേത്രം കാർട്ടൂൺ ആനിമേഷനുകൾ, പ്രസിദ്ധീകരിച്ച കോമിക്
ഗദ്യസമാഹാരങ്ങളും, ഒപ്പം കാർട്ടൂൺ സന്യാസിയുടെ ഫീച്ചർ പോലും
വ്യാപാരത്തിനുള്ള നിര്മിച്ചു.

മിഷേൽ എട്, ഒരു ടൂറിസ്റ്റ് ആൻഡ് പ്രാക്റ്റീസ് ബുദ്ധ, അവൾ ആദ്യം സോഷ്യൽ മീഡിയയിൽ Xian’er മറുവുമുള്ള പറഞ്ഞു.

“അയാള് ഭംഗിയുള്ളതും ഓമനത്തം തോന്നുന്നു. അവൻ കൂടുതൽ ആളുകളെ ബുദ്ധമതം
പ്രചരിപ്പിക്കാനും അവർ അവൻ രസകരമാണ് വിചാരിക്കുന്ന ശേഷം, അവരെ ശരിക്കും
ബുദ്ധമതം മനസ്സിലാക്കാൻ ആഗ്രഹിക്കുന്ന ആക്കും,” അവർ പറഞ്ഞു.

ക്ഷേത്രം അതു നിര്വഹിക്കുന്ന കൂടുതൽ വ്യത്യസ്തമായ പരിധി പറയുന്നത് ഏത് Xian’er ഒരു പുതിയ മോഡൽ, വികസിപ്പിക്കുന്നത്.

(ജോസഫ് കാംപ്ബെൽ വഴി റിപ്പോർട്ടുചെയ്യൽ; റോബർട്ട് Birsel ചിത്രസംയോജനം)

http://www.hindustantimes.com/india/jodhpur-dalits-against-liquor-shop-say-they-ve-converted-to-buddhism/story-66WtTi1jP436dwxVFIRO1N.html
ജോധ്പൂർ: മദ്യ ഷോപ്പ് നേരെ പട്ടികജാതി / എസ്ടി അവർ ബുദ്ധമതം പരിവർത്തനം ഞങ്ങൾ പറയുന്നു

പട്ടികജാതി ഒരു വിഭാഗം / തദ്ദേശീയമായി ഒരു മദ്യ ഷോപ്പ് ഉദ്ഘാടന
പ്രതിഷേധിച്ച് ചെയ്യപ്പെട്ട എസ്ടി സംസ്ഥാന ഭരണകൂടം അവരുടെ ആവശ്യം
അവഗണിച്ചതും പോലെ അവർ ബുദ്ധമതം സ്വീകരിച്ചിട്ടുണ്ട് അവകാശപ്പെട്ടു.

ജോധ്പൂർ ഓഫ് Bhadasia പ്രാന്തപ്രദേശത്തുള്ള സന്ത് Ravidas കോളനിയിൽ
താമസിക്കുന്നത് മദ്യ ഷോപ്പ് നേരെ മൂന്നു ആഴ്ച പ്രതിഷേധിച്ചിട്ടുണ്ട്.

പ്രതിഷേധം സ്ഥിരതാമസക്കാരായ ചില സ്വയം പീഡനശ്രമം ലഭിച്ചു.

അശോക് Balotia തല മുണ്ഡനം ആർ പ്രതിഷേധക്കാർ ഒന്നു തുടരാൻ മദ്യ ഷോപ്പ് നേരെ പ്രസ്ഥാനം “എന്തുതന്നെ വരും ‘പറഞ്ഞു.

“ഞങ്ങൾ ഹിന്ദുക്കൾ പരിവർത്തനം മുന്നറിയിപ്പു ഞങ്ങൾ ബി.ആർ. അംബേദ്കർ
അനുയായികളെ ശേഷം, നാം അവനെ ബുദ്ധമതം സ്വീകരിച്ചു ചെയ്തു,” അവൻ പറഞ്ഞു.

ഒരേ ലൊക്കാലിറ്റി നിന്ന് Bhagwanti അവർ മദ്യം ഷോപ്പ് ഉദ്ഘാടന നിർത്താൻ
കടയുടമകൾ ലൈസൻസ് റദ്ദാക്കൽ കുറവ് ഒന്നും നൽകാൻ തന്നെ ഏതെങ്കിലും പരിധിവരെ
പോകാൻ തയ്യാറാണ് ചൂണ്ടിക്കാണിച്ചു.

മദ്യവിൽപ്പന ശാലകൾ പ്രക്ഷോഭം തുടരാൻ

മികച്ച പരിഹാരങ്ങൾ ബുദ്ധമതം മാറ്റിയെടുക്കുക എന്നതാണ്

ടെക്നോ-രാഷ്ട്രീയ-സാമൂഹിക ട്രാൻസ്ഫോർമേഷൻ സാമ്പത്തിക ഇമാൻസിപ്പേഷൻ
പ്രസ്ഥാനം വഴി സാഹേബ് ഡോ അംബേദ്കർ മുൻകൈയെടുത്ത്, Manyawar Kanshram,
എം.എസ് മായാവതി അവരുടെ അനുയായികളെ കോടികൾ തൊട്ടുപിന്നിൽ.

ഇന്നത്തെ നേതാക്കന്മാർ തല tonsure ഒരു ഉദാഹരണവും സജ്ജമാക്കാൻ അവബോധം ഉറക്കത്തിലായിരുന്ന വൺ പോലുള്ള തങ്ങളുടെ ജീവിതം നയിക്കേണ്ടത്. ജാതി മുഴുവനും ലഹരി എല്ലാത്തരം ഉപയോഗിക്കുന്നതിനെ ഒഴിവാക്കിയും ഉൾപ്പെടെ എല്ലാ നല്ല പ്രമാണങ്ങളെ പിന്തുടരും.

റോളിങ് സ്റ്റോൺസ് പോലെ അക്ഷരാർത്ഥത്തിൽ ഉരുട്ടി എല്ലാവരും ചുറ്റും
നേതാക്കൾ പകരം സ്വന്തം ജാതി മീഡിയ ടിവി ചാനലുകളിൽ blabbering എന്ന, ആസനം
നടക്കുകയും ദഹിപ്പിക്കുന്ന arrack പുകവലിയും cigarrets ആൻഡ് ബീഡി ഉൾപ്പെടെ
ലഹരി നിർത്താൻ ആളുകളെ ചോദിക്കണം മാത്രം സ്വന്തം കുടുംബത്തിന്
ഉദ്ദേശിച്ചത്.

അവർ
ലഹരിയുള്ള വരുമ്പോൾ അവരുടെ വീടുകളിൽ അകത്ത് അവരുടെ മനുഷ്യരുടെ
അനുവദിക്കുന്നതിന് വീട്ടുകാർക്കും സ്ത്രീകളും തങ്ങളുടെ മക്കളോടും വേണം.
അവർ അവരുടെ വീടുകളിൽ നിന്നു അവരെ എറിയാൻ അവരെ ചോദിക്കണം.

ഘട്ടംഘട്ടമായി
മദ്യവിൽപ്പന ശാലകൾ അവസാനിപ്പിക്കുന്നതിന്റെ സംസാരിക്കേണ്ട ഒരു ഷോട്ട്
പകരം ഘട്ടംഘട്ടമായി നായുടെ വാൽ മുറിച്ചശേഷം പോലെയാണ്.
അതുപോലെ തട്ടിപ്പും വോട്ടിംഗ് യന്ത്രത്തിൽ മുൻ മുൻ വിളവുമേനി സമ്പത്ത്
നിര്ദ്ദേശിച്ചത് ജസ്റ്റിസ് Sadasivam ഉത്തരവിട്ടു പോലെ ഘട്ടം ഘട്ടമായി
പേപ്പർ ബാലറ്റുകൾ നന്നല്ല ഒന്നിലൂടെ മാറ്റിസ്ഥാപിക്കും ഞങ്ങൾക്കുണ്ട്.

പട്ടികജാതി കമ്മീഷൻ റിപ്പോർട്ട്: ‘പട്ടികജാതി പട്ടികജാതി ഫണ്ട് ലഭിക്കില്ല’

വിവിധ രാഷ്ട്രീയ പാർട്ടികൾ അദ്ദേഹത്തിന്റെ 125 ജന്മദിനത്തിൽ ഡോ ബി ആർ
അംബേദ്കർ ചരിത്രനായകനുള്ള ക്ലെയിം പ്രിയനെ കൂടെ പട്ടികജാതി കമ്മീഷൻ പുതിയ
വാർഷിക റിപ്പോർട്ട് മിക്കവാറും എല്ലാ സംസ്ഥാനങ്ങളിലും പട്ടികജാതി
കമ്മ്യൂണിറ്റി നേരെ തങ്ങളുടെ ബജറ്റിൽ പ്രതിബദ്ധത ബഹുമാനിക്കാൻ
പരാജയപ്പെട്ടു എന്നു കണ്ടെത്തി.

ആദ്യത്തെ
അത്തരം എമാര്, കമ്മീഷൻ 26 സംസ്ഥാനങ്ങളിൽ 2012-13 ബജറ്റ് പരിശോധിച്ച്
“പട്ടികജാതി-നിർദ്ദിഷ്ട” പദ്ധതിയിൽ ചെലവഴിച്ചത് ഫണ്ട് പട്ടികജാതി പ്രത്യേക
പദ്ധതി (SCSP) പ്രകാരം അനുവദിച്ച മൊത്തം മാത്രം ഒരു ചെറു ഘടകങ്ങളായ
കണ്ടെത്തി മനസ്സിലാക്കി പറ്റി.
റിപ്പോർട്ട് ഇതുവരെ ലോക്സഭ പാസാക്കാൻ എന്നതാണ്. “പട്ടികജാതി-നിർദ്ദിഷ്ട പദ്ധതികൾ ചെലവുകൾ രാജ്യത്തിന്റെ വിവിധ SCSP മൊത്തം അനുവദിച്ച വെറും ഒരു ചെറിയ ഭാഗം ആണ്.

കേന്ദ്ര
മാർഗനിർദേശങ്ങൾ ബജറ്റ് വ്യക്തമാക്കിയ സംസ്ഥാന വിവിധ മന്ത്രാലയങ്ങൾക്ക്
വകുപ്പുകൾക്കും കുറഞ്ഞത് സംസ്ഥാനങ്ങളിൽ കമ്മ്യൂണിറ്റിയുടെ ജനസംഖ്യയുടെ
അനുപാതത്തിൽ, SCSP ഫണ്ട് ചെറിയശതമാനം ഉണ്ടെന്ന്.
സെൻസസ് 2011 പ്രകാരം പട്ടികജാതി കമ്മ്യൂണിറ്റി രാജ്യത്തെ ജനസംഖ്യയുടെ 16.6 ശതമാനം.

കോടി
26 സംസ്ഥാനങ്ങളിൽ 2012-13 യുപിഎ സർക്കാർ കേന്ദ്രത്തിൽ അധികാരത്തിൽ
ഇരിക്കുമ്പോൾ ലെ SCSP പദ്ധതികൾ അനുവദിച്ച രൂപ 80.310 രൂപ 61.480 കോടി
ചെലവാക്കിയത്.
എന്നിരുന്നാലും, ഈ തുക രൂപ മാത്രമേ 9.920 കോടി, അല്ലെങ്കിൽ ഇങ്ങനെ
മൊത്തം വെറും 12 ശതമാനം പട്ടികജാതി-നിർദ്ദിഷ്ട പദ്ധതികൾ ചെലവഴിച്ചത്
ബാക്കി മറ്റ് പദ്ധതികൾ തിരിച്ചുവിട്ടു ചെയ്തു, കമ്മീഷൻ കണ്ടെത്തി.

 “മാത്രമേ
പദ്ധതികളുടെ വ്യക്തികൾക്കും പട്ടികജാതി പെടുന്ന കുടുംബങ്ങൾക്ക് നേരിട്ട്
ആനുകൂല്യങ്ങൾ ഉറപ്പുവരുത്താൻ ഏത് SCSP ഉൾപ്പെട്ടിട്ടുള്ള വേണം”.
“SCSP പണം പട്ടികജാതി നടപ്പിലാക്കുന്നത്, എന്നാൽ മറ്റ് പ്രദേശങ്ങൾ തിരിച്ചുവിട്ടു ചെയ്യുന്നു,”.

കമ്മീഷന്റെ ഓഡിറ്റ് അലോക്കേഷൻ ചെലവും, രണ്ടു തമ്മിലുള്ള അന്തരം മുഖ്യമായും ശ്രദ്ധയൂന്നി. ഈ ചിന്തിക്കുക:

* 26 സംസ്ഥാനങ്ങളിൽ 19 SCSP അനുവദിച്ച ഫണ്ട് അനുപാതം അവിടെ പട്ടികജാതി കമ്മ്യൂണിറ്റി ജനസംഖ്യയിൽ കുറവ് ആയിരുന്നു.

*
ചെലവ് ന് കമ്മീഷൻ 26 സംസ്ഥാനങ്ങളിൽ ആരും “പട്ടികജാതി-നിർദ്ദിഷ്ട പദ്ധതികൾ”
ന് SCSP അക്കൗണ്ടിന് കീഴിൽ പകുതിയോളം ഫണ്ട് ചെലവഴിച്ചത് കണ്ടെത്തി.
വെറും 14 സംസ്ഥാനങ്ങളിൽ “പട്ടികജാതി-നിർദ്ദിഷ്ട പദ്ധതികൾ” ന് SCSP കീഴിൽ മൊത്തം ചെലവഴിച്ച ഫണ്ടിന്റെ 10 ശതമാനം ചെലവഴിച്ചു. ഗുജറാത്ത് ഉൾപ്പെടെ ആറു പേരും യു.പി, ബിഹാർ, പട്ടികജാതി-നിർദ്ദിഷ്ട പദ്ധതികൾക്ക് 20 ശതമാനമാണ് കുറഞ്ഞത് ഫണ്ട് ചെലവഴിച്ചത്. ഛത്തീസ്ഗഡ്, പശ്ചിമബംഗാൾ, ഒഡീഷ മോശം പ്രകടനം കൂട്ടത്തിൽ ഉണ്ടായിരുന്നു.

* അനുവദിച്ച ഫണ്ട് പണം പട്ടികജാതി പദ്ധതികൾക്ക് ചെലവഴിച്ച തമ്മിലുള്ള വിശാലമായ വിടവ് ഉണ്ട്. ഉദാഹരണത്തിന്, പഞ്ചാബ് ടാഗ് ബജ 28,85 ശതമാനം SCSP കീഴിൽ എന്നാൽ
പട്ടികജാതി-നിർദ്ദിഷ്ട പദ്ധതികൾക്ക് വെറും 4.81 ആ അലോക്കേഷൻ ശതമാനം
ചെലവഴിച്ചു.

“പൊതുവേ പദ്ധതികൾ ഉണ്ട്, എസ്.സി-നിർദ്ദിഷ്ട പദ്ധതികൾ ഉണ്ട്. പട്ടികജാതി കമ്മീഷൻ ശരിയായി പട്ടികജാതി-നിർദ്ദിഷ്ട പദ്ധതികൾക്ക് ഫണ്ട് നിർവചിച്ചിരിക്കുന്നത് ചെയ്തിട്ടില്ല. നമ്മുടെ ഫണ്ട് പട്ടികജാതി എത്തുന്നതിനും കമ്മ്യൂണിറ്റി benefitting
ചെയ്യുന്നു, “വ കെ അസ്വാൾ അഡീഷണൽ ചീഫ് സെക്രട്ടറി, പട്ടികജാതി &
പട്ടികവർഗ്ഗ വികസന, ഛത്തീസ്ഗഡ് പറഞ്ഞു.

കെ ഡി കപാഡിയ, സംവിധായകൻ, ഗുജറാത്ത് എസ്.സി വകുപ്പ് പറഞ്ഞു: “ഞങ്ങളുടെ സംസ്ഥാനത്ത് പട്ടികജാതി ജനസംഖ്യ ചിതറിപ്പോയി. പല ഗ്രാമങ്ങളും പട്ടികജാതി വിഭാഗത്തിൽ 250 ലധികം അംഗങ്ങളുണ്ട്. ഈ ഗ്രാമങ്ങളിലെ ചുറ്റുമുള്ള പ്രദേശങ്ങൾ നടപ്പാക്കിയ പദ്ധതികൾ SCSP കീഴിൽ കണക്കാക്കാം. നഗര പ്രദേശങ്ങളിലെ പല വാർഡുകളും പട്ടികജാതി ഗണ്യമായ ജനസംഖ്യ ഞങ്ങൾക്കുണ്ട്. അർബൻ
തദ്ദേശ സ്ഥാപനങ്ങൾ പല സൗകര്യങ്ങളും അതായത്, തെരുവ് വിളക്കുകൾ, ഓവർഹെഡ്
വാട്ടർ ടാങ്കുകൾ, റോഡുകൾ, footpaths, വെള്ളം, ഡ്രെയിനേജ്, സ്കൂളുകൾ,
കമ്മ്യൂണിറ്റി ടോയ്ലറ്റ്, ഡിസ്പെൻസറികൾ മുതലായവ കുടിവെള്ളം അത്തരം
വാർഡുകളിൽ നൽകുന്നു.
ഈ SCSP അടങ്കൽ ഉൾപ്പെടുത്തുക. “

കെ
എസ് സരോജ് സെക്രട്ടറി (പട്ടികജാതി BCs ക്ഷേമം), പഞ്ചാബ് പറഞ്ഞു: “പഞ്ചാബ്
പട്ടികജാതി ജനസംഖ്യയുടെ അനുപാതത്തിൽ നാം പട്ടികജാതിക്കാരുടെ ഫണ്ട് മതി.
പട്ടികജാതി പദ്ധതികൾ തുക കൂടി അതേ വിധത്തിൽ അവകാശപ്പെടുന്നു. നാം കമ്മീഷൻ അലോക്കേഷൻ ചെലവും തമ്മിലുള്ള അത്തരം ക്രമക്കേട് കണ്ടെത്തി അറിയില്ല. “

അമൃത്
മായാവതി ഉത്തർപ്രദേശ് മുഖ്യമന്ത്രി സംസ്ഥാനത്തിന്റെ ധനം ആനുപാതികമായി
സമൂഹത്തിന്റെ എല്ലാ ഇടയിൽ Sarvajan Hithaye Sarvajan Sukhaye അതായത്,
ക്ഷേമത്തിനായി, എല്ലാ സമൂഹങ്ങളും സന്തോഷം ശാന്തിയുടെയും നമ്മുടെ ഭരണഘടന
നിഷ്ഠമായ പോലെ ജനാധിപത്യം, സ്വാതന്ത്ര്യം, സമത്വം, സാഹോദര്യം രക്ഷിക്കാൻ
വിതരണം പോലെ
. കാരണം അവളുടെ മികച്ച ഭരണത്തിന്റെ അവൻ ഈ രാജ്യത്തെ പ്രധാനമന്ത്രി യോഗ്യനാണ് മാറി.
1% അസഹിഷ്ണുത, അക്രമം, ഉശിരൻ ഷൂട്ടിങ്, റീലിൽ, ഭ്രാന്തൻ,
മാനസികവളർച്ചയെത്താത്തവരുടെ നരഭോജി psychopath ഇഷ്ടപ്പെട്ടു രാക്ഷസനായ
Swayam കർസേവകർ അതിന്റെ എല്ലാ avathars ബിജെപി (Bahuth Jiyadha
മനോരോഗികളോ), വി.എച്ച്.പി (അക്രമണപരം ഹിന്ദുത്വ മനോരോഗികളോ), എബിവിപി
(എന്ന chitpawan ബ്രാഹ്മണര് ചെയ്തിട്ടില്ല
കാരണം
99% Sarvajan സമാജ് അവരുടെ പക എല്ലാ ബ്രാഹ്മണര് ജന്തു മനോരോഗികളോ) ഭജൻ
ദൾ മുതലായവ, വഞ്ചന വോട്ടിംഗ് യന്ത്രത്തിൽ കൃത്രിമം അവളെ പരാജയപ്പെടുത്തി.
പക്ഷേ അവൾ അവളുടെ ബിഎസ്പി യുപി പഞ്ചായത്ത് തെരഞ്ഞെടുപ്പിൽ സീറ്റ് ഭൂരിപക്ഷം നേടിയത് അവൾ തെളിയിച്ചു.

ഏക
പരിഹാരം പേപ്പർ ബാലറ്റുകൾ ഒരു സിംഗിൾ ഫേസ് എല്ലാ വോട്ടിംഗ് യന്ത്രത്തിൽ
മാറ്റി പകരം ഈ തട്ടിപ്പ് വോട്ടിംഗ് യന്ത്രത്തിൽ തെരഞ്ഞെടുത്ത സർക്കാരുകൾ
നിരസിക്കാൻ തുടർന്ന് പുതിയ തിരഞ്ഞെടുപ്പ് നടത്താനുള്ള ആണ്.

5)    Classical Bengali

5) ক্লাসিক্যাল বাংলা

1844 শনি এপ্রিল 23 2016
পাঠ

থেকে

অন্তর্দৃষ্টি-নেট-অনলাইন ক 1 (এক জাগরিত) ত্রিপিটক রিসার্চ অ্যান্ড প্র্যাকটিস বিশ্ববিদ্যালয়
ভিসুয়াল বিন্যাস (FOA1TRPUVF)
http://sarvajan.ambedkar.org মাধ্যমে
aonesolarpower@gmail.com

ক্লাসিক্যাল বৌদ্ধধর্ম (সচেতনতা সঙ্গে জাগরিত এক আইন-কানুন) দুনিয়ার আর সবাই একচেটিয়া অধিকার আছে: জে.সি.

এই গুগল অনুবাদ এবং প্রসারণ করতে এক এর মাতৃভাষায় এই বিশ্ববিদ্যালয়ের
একটি পাঠ হিসাবে সঠিক অনুবাদ রেন্ডারিং একটি স্ট্রিম প্রবেশক (Sottapanna)
পরিণত এবং একটি চূড়ান্ত লক্ষ্য হিসেবে শাশ্বত সুখ অর্জন করা অপেক্ষা.

সচেতনতা সঙ্গে প্রবুদ্ধ ওয়ান শিক্ষাগুলো প্রচারের ওয়েবসাইটের তালিকা অর্থাত, বুদ্ধ ত্রিপিটক মধ্যে ভিসুয়াল বিন্যাস

http://sarvajan.ambedkar.org/?m=200907
http://wapedia.mobi/en/Buddhahood#1.
HTTP: // সংবাদ. xinhuanet. com যুক্ত করুন / ইংরেজি / 2009-07 / 27 / content_11780918 .htm
www.chinaview. সিএন
www.buddhismandbusi ness.webs. com যুক্ত করুন
http://www.grameenfoundation.org/welcome/google_psa/
www.grameenfoundation.org

http://plato.stanford.edu/entries/abhidharma/
http://www.taosinstitute.net/Websites/taos/images/PublicationsWorldShare/BuddhaAsTherapistMeditations_2015.pdf

http://www.audiodharma.org/series/1/talk/1839/

http://scroll.in/article/806815/in-sounding-the-bugle-for-2017-polls-in-uttar-pradesh-mayawati-did-not-spare-anyone
উত্তরপ্রদেশের 2017 নির্বাচনের জন্য শিঙ্গা বাদন মধ্যে মায়াবতী কাউকে রেহাই দেন নি

https://in.news.yahoo.com/robot-monk-blends-science-buddhism-chinese-temple-022046666.html
রোবট সন্ন্যাসী চীনা মন্দিরে বিজ্ঞান ও বৌদ্ধধর্মের blends
http://www.hindustantimes.com/india/jodhpur-dalits-against-liquor-shop-say-they-ve-converted-to-buddhism/story-66WtTi1jP436dwxVFIRO1N.html
যোধপুর: এসসি / ভাঁটিখানা বিরুদ্ধে এসটিএস তারা বৌদ্ধ ধর্মে ধর্মান্তরিত করে থাকেন বলে
https://in.news.yahoo.com/scheduled-caste-commission-report-scs-010500542.html
তফসিলি কমিশন রিপোর্ট: ‘অনুসূচিত জাতি এসসি তহবিল পাবেন না’

https://in.news.yahoo.com/robot-monk-blends-science-buddhism-chinese-temple-022046666.html
রোবট সন্ন্যাসী চীনা মন্দিরে বিজ্ঞান ও বৌদ্ধধর্মের blends
জোসেফ ক্যাম্পবেলের
রয়টার্স
23 এপ্রিল 2016

https://www.rt.com/viral/340638-buddha-robot-longquan-beijing/
বুদ্ধ-বট: চীনা মন্দির enlists শিক্ষাকে জোরদার করতে মিনি সন্ন্যাসী রোবট (ভিডিও)
ভিডিও দেখুন:
https://www.rt.com/viral/340638-buddha-robot-longquan-beijing/

Xian’er মন্দির নিজস্ব কার্টুন নামক সিরিজ ট্রাবল থেকে একটি জনপ্রিয় চরিত্রের উপর ভিত্তি করে, আপনি নিজের জন্য চেষ্টা করো. Xianfan CNTV অনুযায়ী হাইলাইট এবং নতুন মিডিয়ার মাধ্যমে সমসাময়িক সংস্কৃতির সাথে বৌদ্ধধর্মের সংযোগ বিকাশ সিরিজের উন্নত.

Xian’er রোবট একটি কারিগরি কোম্পানীর কাছ থেকে সমর্থন এবং চীনা
বিশ্ববিদ্যালয় থেকে এআই বিশেষজ্ঞদের সঙ্গে উন্নত ছিল, এবং মন্দির বর্তমানে
ফাংশন একটি ব্যাপকতর পরিসীমা সঙ্গে একটি নতুন মডেল উন্নয়নশীল হয়.

মাস্টার Xianfan রোবট সন্ন্যাসী Xian’er দিকে তাকিয়ে বেইজিং, এপ্রিল 20,
2016 ডেস্ক / কিম Kyung-Hoon উপকণ্ঠে Longquan বৌদ্ধ মন্দিরের মধ্যে একটি
ছবির সুযোগ সময় রোবট এর কথোপকথন ফাংশন প্রমান

জোসেফ ক্যাম্পবেলের

বেইজিং (রয়টার্স) - বেইজিং এর উপকণ্ঠে একটি বৌদ্ধ মন্দির অনুগামীদের আকৃষ্ট করতে প্রযুক্তি ব্যবহার করার সিদ্ধান্ত নিয়েছে.

Longquan মন্দির এটি একটি রোবট সন্ন্যাসী যে বৌদ্ধ Suttas ভজন, ভয়েস
কমান্ড মাধ্যমে স্থানান্তর করতে পারেন, এবং একটি সহজ কথোপকথন রাখা বিকশিত
করেছেন.

নামযুক্ত Xian’er, 2-পা লম্বা রোবট একটি মুণ্ডিত মাথা হলুদ আলখাল্লায়
একটি কার্টুন মত ব্রতী সন্ন্যাসী বর্ণনার অনুরূপ, তার বুকের ওপর একটা
স্পর্শ পর্দা অধিষ্ঠিত.

Xian’er তার তালিকাসহ পর্দায় বৌদ্ধধর্ম এবং দৈনন্দিন জীবন সম্পর্কে
প্রায় 20 সহজ প্রশ্ন, উত্তর দিয়ে একটি কথোপকথন রাখা, এবং তার চাকার উপর
গতি সাত ধরনের সম্পাদন করতে পারবেন.

মাস্টার Xianfan, Xian’er এর নির্মাতা, বলেছেন রোবট সন্ন্যাসী বিজ্ঞান ও
বৌদ্ধধর্মের লয় মাধ্যমে, চীন বৌদ্ধধর্মের জ্ঞান ছড়িয়ে নিখুঁত পাত্র ছিল.

“বিজ্ঞান ও বৌদ্ধধর্মের বিরোধীতা করছে না কিংবা contradicting, এবং মিলিত হতে পারে এবং পারস্পরিক সামঞ্জস্যপূর্ণ,” Xianfan বলেন.

বৌদ্ধধর্ম ধীরে ধীরে থেকে সংস্কারের কয়েক দশক আগে যাচ্ছে পেয়েছিলাম দৈনন্দিন জীবনে ফিরে crept হয়েছে.

Xianfan বৌদ্ধধর্ম একটি দ্রুত পরিবর্তন, স্মার্ট-ফোন শাসিত সমাজে মানুষের জন্য একটি ফাঁক ভরে বলেন.

“বৌদ্ধ কিছু যে ভেতরের হৃদয় অনেক গুরুত্ব দিয়ে থাকে, এবং ব্যক্তির আধ্যাত্মিক বিশ্বের মনোযোগ বহন করেনা,” বলেন তিনি.

“এটা এলিভেটেড সংস্কৃতির এক ধরনের. এই দৃষ্টিকোণ, আমি মনে করি এটা অনেক মানুষের চাহিদা সন্তুষ্ট করতে পারেন থেকে ভাষী.”

সামান্য রোবট সন্ন্যাসী একটি প্রযুক্তি কোম্পানির এবং চীন শীর্ষ
বিশ্ববিদ্যালয় এর কিছু থেকে কৃত্রিম বুদ্ধিমত্তা বিশেষজ্ঞদের মধ্যে একটি
যৌথ প্রকল্প হিসেবে উন্নত ছিল.

অক্টোবরে জনসাধারণের জন্য উন্মোচন করা হয়.

কিন্তু Xian’er অগত্যা সামাজিক প্রজাপতি অনেক তাকে হতে বিশ্বাস নয়.

তিনি বিভিন্ন রোবোটিক্স এবং চীন জুড়ে নতুনত্ব মেলা ভ্রমণ করেনি, কিন্তু খুব কমই Longquan মন্দিরে জনসাধারণের সামনে উপস্থিতি তোলে.

Xian’er, তার দিন একটি অফিসে একটি বালুচর উপর “ধ্যান” অধিকাংশ ব্যয় যদিও তার সম্পর্কে কৌতূহল সোশ্যাল মিডিয়ায় বিস্ফোরিত হয়েছে.

Xian’er একই নামের Xianfan এর 2013 কার্টুন সৃষ্টি দ্বারা অনুপ্রাণিত হয়. মন্দির কার্টুন অ্যানিমেশন, প্রকাশিত কমিক সংকলন, এবং এমনকি কার্টুন সন্ন্যাসী সমন্বিত পণ্যদ্রব্য উত্পাদিত হয়েছে.

মিশেল ইয়ু, একজন পর্যটক এবং বৌদ্ধ অনুশীলনকারী, বলেন তিনি প্রথম সোশ্যাল মিডিয়ায় Xian’er সমঝোতার প্রচেষ্টা.

“তিনি সত্যিই চতুর এবং আরাধ্য দেখায়. তারপর থেকেই তিনি তারা তিনি খুব
আকর্ষণীয় মনে হবে, আরও অনেক বেশি মানুষের কাছে বৌদ্ধধর্ম ছড়িয়ে করব, এবং
তাদের সত্যিই বৌদ্ধধর্ম বুঝতে চান করতে হবে,” তিনি বলেন.

মন্দির Xian’er একটি নতুন মডেল, যা এটা বলছেন ফাংশন আরো বিভিন্ন পরিসীমা থাকবে উন্নয়নশীল হয়.

(জোসেফ ক্যাম্পবেলের প্রতিবেদন; সম্পাদনা রবার্ট Birsel দ্বারা)

http://www.hindustantimes.com/india/jodhpur-dalits-against-liquor-shop-say-they-ve-converted-to-buddhism/story-66WtTi1jP436dwxVFIRO1N.html
যোধপুর: এসসি / ভাঁটিখানা বিরুদ্ধে এসটিএস তারা বৌদ্ধ ধর্মে ধর্মান্তরিত করে থাকেন বলে

এসসি / Sts যারা তাদের এলাকায় একটি মদের দোকান খোলার বিরুদ্ধে প্রতিবাদ
করা হয়েছে একদল দাবি তারা বৌদ্ধ ধর্মে দীক্ষিত হয়েছে যেমন রাষ্ট্র
প্রশাসন তাদের দাবি উপেক্ষা করেছে.

যোধপুর Bhadasia শহরতলী মধ্যে Sant Ravidas কলোনির অধিবাসীদের ভাঁটিখানা বিরুদ্ধে তিন সপ্তাহের জন্য প্রতিবাদ করা হয়েছে.

প্রতিবাদ অধিবাসীদের কিছু ফেরার নিজেদের নেড়া আছে.

অশোক Balotia প্রতিবাদকারী যারা মাথা কামিয়েছেন এক, বলেন যে তারা
ভাঁটিখানা বিরুদ্ধে তাদের আন্দোলন চালিয়ে যেতে হবে “যা কিছুই ঘটুক না
কেন”.

“আমরা হিন্দুধর্ম থেকে রূপান্তর সতর্ক করেছিলেন এবং যেহেতু আমরা ভীমরাও অনুসারী, আমরা তার মতো বৌদ্ধধর্ম গ্রহণ করেছে,” বলেন তিনি.

একই এলাকায় থেকে Bhagwanti বলেন যে তারা যে কোন উপায়ে যেতে ভাঁটিখানা
খোলার বন্ধ করার জন্য প্রস্তুত ছিল এবং দোকান লাইসেন্স বাতিলের চেয়ে কম
কিছু জন্য বসতি স্থাপন করা হবে.

মদের দোকান বিরুদ্ধে আন্দোলন চালিয়ে যাওয়ার

শ্রেষ্ঠ সমাধান বৌদ্ধধর্ম রূপান্তর করতে হয়

টেকনো-রাজনৈতিক-সামাজিক ট্রান্সফরমেসন অর্থনৈতিক মুক্তির আন্দোলন
Babasaheb ড ভীমরাও দ্বারা প্রবর্তিত, Manyawar Kanshram এবং মায়াবতীর এবং
তাদের অনুসারীরা কোটি দ্বারা অনুসৃত মাধ্যমে.

আজকের নেতারা তাদের মাথার কেশকর্তন এবং একটি উদাহরণ স্থাপন করতে সচেতনতা সঙ্গে জাগরিত এক মত তাদের জীবন যাপন করতে হবে. পুরো জাতি মাদকদ্রব্যের সর্ব্বজনের গ্রাসকারী এড়ানো সহ সব ভাল নিয়ম-কানুন অনুসরণ করা হবে.

সব বৃত্তাকার নেতাদের যারা আক্ষরিক ঘূর্ণায়মান পাথর মত পাকানো পরিবর্তে
তাদের নিজস্ব বর্ণ মিডিয়া এবং টিভি চ্যানেলের মধ্যে এরকম এর, নগ্নপদে
হেঁটে মানুষ জিজ্ঞাসা গ্রাসকারী পচাই এবং ধূমপান cigarrets এবং বিড়ি সহ
মাদকদ্রব্য বন্ধ করতে হবে শুধুমাত্র তাদের নিজের পরিবারের সদস্যদের জন্য
অভিপ্রেত.

তারা পরিবারের নারীদেরকে বলুন এবং যখন তারা মত্ত হয় তাদের সন্তানদের তাদের ঘরের ভিতর তাদের লোকদের লোক অনুমতি না. তারা তাদেরকে তাদের বাড়ি থেকে উচ্ছেদ নিক্ষেপ জন্য জিজ্ঞাসা করা উচিত.

বিকাশ পদ্ধতিতে মদের দোকান বন্ধের টকিং বিকাশ পদ্ধতিতে পরিবর্তে একটি একক শট একটি কুকুর লেজ কাটা ভালো হয়. একইভাবে সব জালিয়াতি ইভিএম এক কাগজের ব্যালট ও প্রাক্তন CJI Sadasivam
আদেশ হিসাবে সাবেক সিইসি Sampath দ্বারা প্রস্তাবিত একটি বিকাশ পদ্ধতিতে না
বারেই প্রতিস্থাপন করা হবে.

তফসিলি কমিশন রিপোর্ট: ‘অনুসূচিত জাতি এসসি তহবিল পাবেন না’

বিভিন্ন রাজনৈতিক দলের তার 125th জন্মবার্ষিকী ড বি আর আম্বেদকর
উত্তরাধিকার দাবি পত্র সঙ্গে, তফসিলি কমিশনের সর্বশেষ বার্ষিক প্রতিবেদনে
দেখা গেছে যে প্রায় সব রাজ্যের এসসি সম্প্রদায় দিকে তাদের বাজেট অঙ্গীকার
সম্মান দিতে ব্যর্থ হয়েছে.

খোঁজ
নিয়ে জানা গেছে যে তার প্রথম ধরনের নিরীক্ষা মধ্যে, কমিশন 26 রাজ্যের
2012-13 বাজেট পরীক্ষা করে দেখতে পান যে, “এসসি নির্দিষ্ট” প্রকল্প ব্যয়
তহবিল শুধুমাত্র মোট এসসি বিশেষ পরিকল্পনা (SCSP) অধীনে বরাদ্দকৃত একটি
ক্ষুদ্র ভগ্নাংশ ছিল.
রিপোর্ট এখনো সংসদে উত্থাপন করা হয়. “এসসি নির্দিষ্ট স্কিমে ব্যয় মাত্র সারাদেশে SCSP মোট বরাদ্দের একটি ছোট ভগ্নাংশ.

সেন্টারের
নির্দেশাবলী, বাজেট, রাষ্ট্র উল্লেখিত বিভিন্ন মন্ত্রণালয় ও বিভাগের SCSP
অধীনে ফান্ড শূকর, কমপক্ষে রাজ্যে সম্প্রদায়ের জনসংখ্যা অনুপাতে আছে.
জনগণনা 2011 অনুযায়ী, এসসি সম্প্রদায় দেশটির জনসংখ্যার 16.6 শতাংশ গঠন করে.

80.310 কোটি 26 রাজ্যের 2012-13 SCSP স্কিম বরাদ্দকৃত, যখন ইউপিএ সরকার কেন্দ্রে ক্ষমতায় ছিল, কোটি 61.480 টাকা ব্যয় করা হয়. যাইহোক, এই পরিমাণ মাত্র 9.920 কোটি টাকা, বা শুধু 12 মোট বরাদ্দের
শতকরা, এসসি নির্দিষ্ট স্কিম ব্যয় হয় এবং বাকি অন্যান্য স্কিম diverted
হয়, কমিশন পাওয়া.

 “শুধুমাত্র ঐ স্কিম SCSP যা ব্যক্তি বা পরিবারের অনুসূচিত জাতি একাত্মতার সরাসরি সুবিধা নিশ্চিত অধীনে অন্তর্ভুক্ত করা উচিত”. “SCSP তহবিল শুধুমাত্র অনুসূচিত জাতি জন্য বোঝানো হয়, কিন্তু অন্য এলাকায় diverted হয়,”.

কমিশন অডিট বরাদ্দ ও ব্যয়, এবং দুই মধ্যে ফাঁক উপর প্রধানত দৃষ্টি নিবদ্ধ করা. এই বিবেচনা করুন:

* 26 এর 19 রাজ্যের দ্বারা SCSP জন্য বরাদ্দ তহবিলের ছিল, অনুপাত, সেখানে এসসি সম্প্রদায়ের জনসংখ্যা কম.

*
ব্যয় উপর, কমিশন যে খুঁজে পাওয়া যায় 26 রাজ্যের কেউ “এসসি নির্দিষ্ট
স্কিম” উপর SCSP অ্যাকাউন্টের অধীনে অর্ধেকও তহবিল কাটিয়েছি.
শুধু 14 টি রাজ্যের “এসসি নির্দিষ্ট স্কিম” উপর SCSP অধীনে মোট ব্যয় তহবিল শতাংশের অধিক 10 কাটিয়েছি. ছয়জন, গুজরাট, ইউপি ও বিহারের সহ, এসসি নির্দিষ্ট স্কিমে কম 20 শতাংশ তহবিল কাটিয়েছি. ছত্তিশগড়, পশ্চিমবঙ্গ ও উড়িষ্যায় খারাপ অভিনয় মধ্যে ছিল.

* সেখানে বরাদ্দ তহবিল ও অর্থ এসসি স্কিমে অতিবাহিত মধ্যে ব্যাপক ব্যবধান রয়েছে. উদাহরণস্বরূপ, পাঞ্জাব বাঁধা 28,85 রাষ্ট্র বাজেটের শতকরা SCSP অধীনে কিন্তু মাত্র 4.81 যে বরাদ্দ শতকরা এসসি নির্দিষ্ট স্কিম ব্যয়.

“সাধারণ স্কিম আছে এবং সেখানে এসসি নির্দিষ্ট প্রকল্প রয়েছে. এসসি কমিশন সঠিকভাবে তহবিল এসসি নির্দিষ্ট স্কিম জন্য বোঝানো হয় না সংজ্ঞায়িত করেছে. আমাদের তহবিল অনুসূচিত জাতি উপনীত হয় এবং সম্প্রদায় benefitting, “এন
কে Aswal, অতিরিক্ত প্রধান সম্পাদক, এসসি ও এসটি ডেভেলপমেন্ট, ছত্তীসগঢ়
বলেন.

কে ডি কাপাডিয়া, পরিচালক, গুজরাট এসসি কল্যাণ বিভাগের বলেন, “আমাদের রাজ্যে, এসসি জনসংখ্যা বিক্ষিপ্ত হয়. অনেক গ্রাম এসসি সেগমেন্টের মধ্যে অধিক 250 সদস্য আছে. এই গ্রামের পার্শ্ববর্তী এলাকায় বাস্তবায়িত প্রকল্প SCSP অধীন বিবেচনা করা উচিত. শহরাঞ্চলে অনেক ওয়ার্ড অনুসূচিত জাতি একটি উল্লেখযোগ্য জনসংখ্যা আছে. আরবান
স্থানীয় সংস্থা অনেক সুবিধা যেমন, রাস্তার আলো, ওভারহেড পানির ট্যাঙ্ক,
সড়ক, ফুটপাত, পানীয় জল, নিকাশি, স্কুল, কমিউনিটি টয়লেট, ডিসপেনসারি,
ইত্যাদি, যেমন ওয়ার্ডে প্রদান.
এই SCSP জন্য ব্যয় অন্তর্ভুক্ত করা উচিত. “

কে
এস সরোজ, সচিব, পাঞ্জাব (অনুসূচিত জাতি ও বিসিএস কল্যাণ) বলেন: “আমরা
পাঞ্জাব এসসি জনসংখ্যার অনুপাতে অনুসূচিত জাতি জন্য তহবিল বরাদ্দ.
এসসি স্কিমে খাতে একই ভাবে গ্রহণ করা হয়. আমরা জানি না কিভাবে কমিশন বরাদ্দ ও ব্যয়ের মধ্যে যেমন অসঙ্গতি পাওয়া গেছে. “

যেমন
আমাদের সংবিধানে সন্নিবেশিত গণতন্ত্র, স্বাধীনতা, সাম্য ও ভ্রাতৃত্বের
সংরক্ষণ পর্যন্ত মুখ্যমন্ত্রী হিসেবে মায়াবতীর আনুপাতিক Sarvajan Hithaye
Sarvajan Sukhaye অর্থাত্ জন্য সমাজের সব স্তরের মধ্যে রাষ্ট্রের সম্পদ
বিতরণ করা, কল্যাণ, সুখ এবং সব সমাজে শান্তির জন্য
. তার শ্রেষ্ঠ শাসন কারণ তিনি এই দেশের প্রধানমন্ত্রী হওয়ার যোগ্য হয়ে ওঠে. এই
1% অসহ, হিংসাত্মক, জঙ্গি দ্বারা পছন্দ হয় নি, শুটিং, lynching, পাগল,
মানসিক প্রতিবন্ধী মানুষখেকো মানসিক chitpawan রাক্ষস Swayam Sevaks এবং
তার সব avathars বিজেপি (Bahuth Jiyadha সাইকোপ্যাথ), ভিএইচপি (উগ্র
হিন্দুত্ববাদী সাইকোপ্যাথ), ABVP ব্রাহ্মণ (
সকল
ব্রাহ্মণ বিষধর সাইকোপ্যাথ) ভজন ডাল ইত্যাদি, 99% Sarvajan সমাজ প্রতি
তাদের ঘৃণা কারণ জালিয়াতি ইভিএম গরমিল দ্বারা তার পরাজিত.
কিন্তু সে প্রমাণ তিনি ও তাঁর বিএসপি ইউপি পঞ্চায়েত নির্বাচনে আসন সংখ্যাগরিষ্ঠতা লাভ.

একমাত্র
সমাধান কাগজ ব্যালট সঙ্গে একটি একক ফেজ মধ্যে সব ইভিএম প্রতিস্থাপন এবং সব
এই জালিয়াতি ইভিএম দ্বারা নির্বাচিত সরকার বরখাস্ত এবং তারপর তাজা
নির্বাচন সম্পন্ন হয়.

15) Classical Hindi
15) शास्त्रीय हिन्दी

1844 शनि अप्रै, 23 2016 और अधिक पढ़ें
सबक

से

INSIGHT-नेट-ऑनलाइन A1 (एक जागृत) Tipitaka अनुसंधान और अभ्यास विश्वविद्यालय
दृश्य प्रारूप में (FOA1TRPUVF)
http://sarvajan.ambedkar.org के माध्यम से
aonesolarpower@gmail.com

शास्त्रीय बौद्ध धर्म (जागरूकता के साथ जागा वन की शिक्षाओं) दुनिया के हैं, और हर कोई विशेष अधिकार है: जे.सी.

इस गूगल अनुवाद और प्रचार करने के लिए एक मातृभाषा में इस विश्वविद्यालय
के लिए एक सबक के रूप में सटीक अनुवाद प्रतिपादन एक स्ट्रीम दर्ज करने वाले
(Sottapanna) बनने के लिए और एक अंतिम लक्ष्य के रूप में अनन्त परमानंद की
प्राप्ति के लिए मिलती है।

जागरूकता के साथ जागृत एक की शिक्षाओं का प्रचार वेबसाइटों की सूची अर्थात, बुद्ध त्रिपिटक में दृश्य प्रारूप

http://sarvajan.ambedkar.org/?m=200907
http://wapedia.mobi/en/Buddhahood#1।
http: // खबर है। Xinhuanet। कॉम / अंग्रेजी / 2009-07 / 27 / content_11780918 .htm
www.chinaview। सीएन
www.buddhismandbusi ness.webs। कॉम
http://www.grameenfoundation.org/welcome/google_psa/
www.grameenfoundation.org

http://plato.stanford.edu/entries/abhidharma/
http://www.taosinstitute.net/Websites/taos/images/PublicationsWorldShare/BuddhaAsTherapistMeditations_2015.pdf

http://www.audiodharma.org/series/1/talk/1839/

http://scroll.in/article/806815/in-sounding-the-bugle-for-2017-polls-in-uttar-pradesh-mayawati-did-not-spare-anyone
उत्तर प्रदेश में 2017 के चुनाव के लिए बिगुल बजने में मायावती किसी को भी नहीं छोड़ा

https://in.news.yahoo.com/robot-monk-blends-science-buddhism-chinese-temple-022046666.html
रोबोट भिक्षु चीनी मंदिर में विज्ञान और बौद्ध धर्म मिश्रणों
http://www.hindustantimes.com/india/jodhpur-dalits-against-liquor-shop-say-they-ve-converted-to-buddhism/story-66WtTi1jP436dwxVFIRO1N.html
जोधपुर: अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति शराब की दुकान के खिलाफ वे बौद्ध धर्म में परिवर्तित कर दिया है कहना
https://in.news.yahoo.com/scheduled-caste-commission-report-scs-010500542.html
अनुसूचित जाति आयोग की रिपोर्ट: ‘अनुसूचित जाति अनुसूचित जाति के लिए धन नहीं मिलता’

https://in.news.yahoo.com/robot-monk-blends-science-buddhism-chinese-temple-022046666.html
रोबोट भिक्षु चीनी मंदिर में विज्ञान और बौद्ध धर्म मिश्रणों
यूसुफ कैम्पबेल द्वारा
रायटर
23 अप्रैल 2016 और अधिक पढ़ें

https://www.rt.com/viral/340638-buddha-robot-longquan-beijing/
बुद्ध बीओटी: चीनी मंदिर enlists शिक्षाओं को बढ़ावा देने के लिए मिनी भिक्षु रोबोट (वीडियो)
वीडियो देखने के लिए कृपया:
https://www.rt.com/viral/340638-buddha-robot-longquan-beijing/

Xian’er मंदिर के स्वयं के कार्टून श्रृंखला बुलाया, मुसीबत से एक लोकप्रिय चरित्र पर आधारित है, आप खुद के लिए चाहते हैं। Xianfan CNTV के अनुसार प्रकाश डाला और नए मीडिया के माध्यम से समकालीन
संस्कृति के साथ बौद्ध धर्म के संबंध विकसित करने के लिए श्रृंखला विकसित
की है,।

Xian’er रोबोट एक तकनीक कंपनी से समर्थन और चीनी विश्वविद्यालयों से एअर
इंडिया के विशेषज्ञों के साथ विकसित किया गया था, और वर्तमान में मंदिर के
कार्यों का एक व्यापक रेंज के साथ एक नया मॉडल विकसित कर रहा है।

मास्टर Xianfan रोबोट भिक्षु Xian’er पर लग रहा है के रूप में वह बीजिंग,
20 अप्रैल 2016 रॉयटर्स / किम क्यूंग-हून के बाहरी इलाके में Longquan
बौद्ध मंदिर में एक तस्वीर अवसर के दौरान रोबोट की बातचीत समारोह को
दर्शाता है

यूसुफ कैम्पबेल द्वारा

बीजिंग (रायटर) - बीजिंग के बाहरी इलाके में एक बौद्ध मंदिर अनुयायियों को आकर्षित करने के लिए प्रौद्योगिकी का उपयोग फैसला किया है।

Longquan मंदिर यह एक रोबोट भिक्षु कि बौद्ध Suttas मंत्र, आवाज कमान के
माध्यम से स्थानांतरित कर सकते हैं, और एक साधारण बातचीत पकड़ विकसित किया
गया है कहते हैं।

नाम पर Xian’er, 2 फुट लंबा रोबोट एक मुंडा सिर के साथ पीले रंग के
परिधान में एक कार्टून की तरह नौसिखिया साधु जैसा दिखता है, उसकी छाती पर
एक टच स्क्रीन पकड़े।

Xian’er उसकी स्क्रीन पर सूचीबद्ध बौद्ध धर्म और दैनिक जीवन के बारे में
के बारे में 20 आसान सवालों, जवाब देने से एक बातचीत पकड़ है, और उसके
पहियों पर गतियों के सात प्रकार के प्रदर्शन कर सकते हैं।

मास्टर Xianfan, Xian’er के निर्माता, ने कहा कि रोबोट भिक्षु विज्ञान और
बौद्ध धर्म के विलय के माध्यम से, चीन में बौद्ध धर्म के ज्ञान के प्रसार
के लिए एकदम सही पोत था।

“विज्ञान और बौद्ध धर्म का विरोध नहीं कर रहे हैं और न ही खंडन, और जोड़ा जा सकता है और पारस्परिक रूप से संगत,” Xianfan कहा।

बौद्ध धर्म को धीरे-धीरे जब से सुधारों कई दशक पहले जा रहा है दैनिक जीवन में वापस crept है।

Xianfan बौद्ध धर्म एक तेजी से बदल रहा है, स्मार्ट फोन प्रधान समाज में लोगों के लिए एक अंतर भर कहा।

“बौद्ध धर्म के कुछ है कि आंतरिक दिल को बहुत महत्व देता है, और व्यक्ति की आध्यात्मिक दुनिया पर ध्यान देता है,” उन्होंने कहा।

“यह ऊंचा संस्कृति का एक प्रकार है। इस परिप्रेक्ष्य में, मुझे लगता है
कि यह कई लोगों की जरूरतों को पूरा कर सकते हैं से बात हो रही है।”

छोटे रोबोट भिक्षु एक प्रौद्योगिकी कंपनी और चीन के शीर्ष
विश्वविद्यालयों में से कुछ से कृत्रिम खुफिया विशेषज्ञों के बीच एक
संयुक्त परियोजना के रूप में विकसित किया गया था।

यह अक्टूबर में जनता के लिए अनावरण किया गया था।

लेकिन Xian’er जरूरी सामाजिक तितली कई उसे होने का विश्वास नहीं है।

उन्होंने कई रोबोटिक्स और चीन में नवीनता मेलों का दौरा किया गया है,
लेकिन शायद ही कभी Longquan मंदिर में सार्वजनिक रूप से सामने आता है।

Xian’er, उसके दिनों एक कार्यालय में एक शेल्फ पर “ध्यान” की सबसे अधिक
खर्च करता है, भले ही उसे के बारे में जिज्ञासा सोशल मीडिया पर विस्फोट
किया है।

Xian’er एक ही नाम के Xianfan के 2013 कार्टून सृजन से प्रेरित था। मंदिर कार्टून एनिमेशन, प्रकाशित हास्य संकलन, और यहां तक ​​कि कार्टून साधु की विशेषता माल का उत्पादन किया गया।

मिशेल यू, एक पर्यटक और बौद्ध अभ्यास, ने कहा कि वह पहले सोशल मीडिया पर Xian’er देखा।

“वह वास्तव में सुंदर और मनमोहक लग रहा है। उन्होंने कहा कि जब से वे वह
बहुत दिलचस्प है सोचना होगा, और अधिक लोगों के लिए बौद्ध धर्म का प्रसार
करेंगे, और उन्हें वास्तव में बौद्ध धर्म को समझना चाहता हूँ कर देगा,”
उसने कहा।

मंदिर Xian’er का एक नया मॉडल है, जो यह कहते हैं कि कार्यों की एक अधिक विविध रेंज होगा विकसित कर रहा है।

(यूसुफ कैम्पबेल द्वारा रिपोर्टिंग, संपादन रॉबर्ट Birsel द्वारा)

http://www.hindustantimes.com/india/jodhpur-dalits-against-liquor-shop-say-they-ve-converted-to-buddhism/story-66WtTi1jP436dwxVFIRO1N.html
जोधपुर: अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति शराब की दुकान के खिलाफ वे बौद्ध धर्म में परिवर्तित कर दिया है कहना

अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति, जो अपने इलाके में एक शराब की दुकान के
उद्घाटन के खिलाफ नारेबाजी की गई है के एक समूह ने दावा किया कि वे बौद्ध
धर्म में परिवर्तित कर दिया है के रूप में राज्य प्रशासन उनकी मांग को
नजरअंदाज कर दिया गया है।

जोधपुर के Bhadasia उपनगर में संत रविदास कालोनी के निवासियों शराब की दुकान के खिलाफ तीन सप्ताह के लिए विरोध कर दिया है।

नारेबाजी के निवासियों में से कुछ भी कर ली खुद को मुंडाना है।

अशोक Balotia, प्रदर्शनकारियों जो उसके सिर के बाल काटे में से एक ने कहा
है कि वे शराब की दुकान के खिलाफ उनके आंदोलन जारी रहेगा “चाहे जो हो
जाए”।

“हम हिंदू धर्म से रूपांतरण की चेतावनी दी थी और तब से हम बीआर अंबेडकर
के अनुयायी हैं, हम उसके जैसे बौद्ध धर्म को अपनाया है,” उन्होंने कहा।

इसी इलाके से Bhagwanti ने कहा कि वे किसी भी हद तक जाने के लिए शराब की
दुकान के उद्घाटन को रोकने के लिए तैयार थे और दुकान का लाइसेंस रद्द करने
से कम कुछ भी तय नहीं होता।

शराब की दुकानों के खिलाफ आंदोलन जारी रखने के लिए

सबसे अच्छा समाधान बौद्ध धर्म में बदलने के लिए है

टेक्नो-राजनीतिक-सामाजिक परिवर्तन आर्थिक मुक्ति आंदोलन बाबा साहेब डॉ बी
आर अम्बेडकर द्वारा शुरू की, डा Kanshram और सुश्री मायावती और उनके
अनुयायियों के करोड़ों के द्वारा पीछा के माध्यम से।

आज के नेताओं उनके सिर मुंडन और एक उदाहरण स्थापित करने के लिए जागरूकता के साथ जागृत एक तरह से उनके जीवन का नेतृत्व करना चाहिए। पूरे राष्ट्र के मादक पदार्थों के सभी प्रकार की खपत से बचने सहित सभी अच्छे उपदेशों का पालन करेंगे।

सभी दौर नेता हैं जो सचमुच रोलिंग स्टोन्स जैसे रोल के बजाय अपने खुद के
जाति मीडिया और टीवी चैनलों में बड़बड़ा की, नंगे पांव चलने के लिए और
लोगों को पूछने लेने वाली अरक और धूम्रपान cigarrets और बीड़ी सहित मादक
द्रव्यों को रोकने के लिए चाहिए केवल अपने परिवार के सदस्यों के लिए बने।

वे
घर की महिलाओं को बताना चाहिए और जब वे नशे में धुत्त कर रहे हैं उनके
बच्चों को उनके घरों के अंदर उनके पुरुषों लोक अनुमति देने के लिए नहीं।
वे उन्हें उनके घरों से बाहर फेंक करने के लिए पूछना चाहिए।

चरणबद्ध
तरीके से शराब की दुकानों के बंद होने की बात कर रहे चरणबद्ध तरीके के
बजाय एक ही शॉट में एक कुत्ते की पूंछ काटने की तरह है।
इसी तरह सभी धोखाधड़ी ईवीएम से एक कागज मतपत्र के साथ और पूर्व मुख्य
न्यायाधीश Sadasivam आदेश दिया के रूप में पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त संपत
ने सुझाव दिया है के रूप में चरणबद्ध तरीके से नहीं जाने में बदला जाना है।

अनुसूचित जाति आयोग की रिपोर्ट: ‘अनुसूचित जाति अनुसूचित जाति के लिए धन नहीं मिलता’

विभिन्न राजनीतिक दलों ने अपनी 125 वीं जयंती पर डॉ बी आर अंबेडकर की
विरासत पर अपना दावा जताया साथ, अनुसूचित जाति आयोग द्वारा नवीनतम वार्षिक
रिपोर्ट में पाया गया है कि लगभग सभी राज्यों में अनुसूचित जाति समुदाय की
ओर अपने बजटीय प्रतिबद्धताओं का सम्मान करने में नाकाम रहे हैं।

यह
पता चला है कि इसके पहले इस तरह के ऑडिट में, आयोग 26 राज्यों के वित्त
वर्ष 2012-13 के बजट की जांच की और पाया कि “अनुसूचित जाति-विशेष” योजना पर
खर्च धन का केवल कुल अनुसूचित जाति विशेष योजना (एससीएसपी) के तहत आवंटित
के एक छोटे अंश था।
रिपोर्ट अभी तक संसद में पेश किया जा रहा है। “अनुसूचित जाति-विशेष योजनाओं पर व्यय सिर्फ देश भर में एससीएसपी के लिए कुल आवंटन का एक छोटा सा अंश है।

केंद्र
सरकार के दिशा-निर्देशों, बजट, राज्य में विनिर्दिष्ट विभिन्न मंत्रालयों
और विभागों एससीएसपी के तहत धनराशि निर्धारित करने के लिए, कम से कम
अमेरिका में समुदाय की जनसंख्या के अनुपात में है।
2011 की जनगणना के अनुसार, अनुसूचित जाति समुदाय देश की आबादी का 16.6 प्रतिशत का गठन किया।

80,310
करोड़ रुपये के 26 राज्यों 2012-13 में एससीएसपी योजनाओं के लिए आवंटित
है, जब यूपीए सरकार ने केंद्र में सत्ता में थी, 61480 करोड़ रुपये खर्च
किया गया था।
हालांकि, इस राशि केवल 9920 करोड़ रुपये या सिर्फ 12 कुल आवंटन का
प्रतिशत की, अनुसूचित जाति-विशेष योजनाओं पर खर्च किया गया था और बाकी अन्य
योजनाओं के लिए भेज दिया गया था, आयोग ने पाया।

 “केवल
उन योजनाओं एससीएसपी जो व्यक्तियों या परिवारों अनुसूचित जाति से संबंधित
करने के लिए प्रत्यक्ष लाभ सुनिश्चित तहत शामिल किया जाना चाहिए”।
“एससीएसपी फंड केवल अनुसूचित जाति के लिए हैं, लेकिन अन्य क्षेत्रों के लिए भेज दिया जाता है,”।

आयोग की लेखा परीक्षा आवंटन और व्यय, और दोनों के बीच की खाई पर मुख्य रूप से ध्यान केंद्रित किया। इन पर विचार करें:

* 26 से 19 राज्यों से एससीएसपी के लिए आवंटित धन थे, अनुपात, वहाँ अनुसूचित जाति समुदाय की आबादी से भी कम समय में।

*
व्यय पर, आयोग ने पाया कि 26 राज्यों में से कोई भी “अनुसूचित जाति-विशेष
योजनाओं” पर एससीएसपी खाते के अंतर्गत भी आधे से धन खर्च।
बस 14 राज्यों “अनुसूचित जाति-विशेष योजनाओं” पर एससीएसपी के तहत कुल खर्च के लिए धन का प्रतिशत 10 से अधिक खर्च किए। छह अन्य लोगों, गुजरात, उत्तर प्रदेश और बिहार सहित, अनुसूचित जाति-विशेष योजनाओं पर कम से कम 20 प्रतिशत धन खर्च। छत्तीसगढ़, पश्चिम बंगाल और ओडिशा सबसे खराब प्रदर्शन के बीच में थे।

* वहाँ आवंटित धन और पैसे अनुसूचित जाति योजनाओं पर खर्च के बीच एक व्यापक अंतर है। उदाहरण के लिए, पंजाब टैग किए गए राज्य के बजट 28.85 प्रतिशत एससीएसपी के
तहत लेकिन सिर्फ 4.81 कि आवंटन प्रतिशत अनुसूचित जाति-विशेष योजनाओं पर
खर्च किया।

“सामान्य योजनाएं हैं और वहाँ अनुसूचित जाति-विशेष योजनाएं हैं। अनुसूचित जाति आयोग के धन को सही तरीके से अनुसूचित जाति-विशेष योजनाओं के लिए नहीं परिभाषित किया गया है। हमारे धन अनुसूचित जाति तक पहुंच रहे हैं और समुदाय को लाभ, “एन कश्मीर
असवाल, अपर मुख्य सचिव, अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति विकास, छत्तीसगढ़
कहा।

कश्मीर डी कपाड़िया, निदेशक, गुजरात अनुसूचित जाति कल्याण विभाग ने कहा, ‘हमारे राज्य में अनुसूचित जाति की आबादी बिखरे हुए है। कई गांवों में अनुसूचित जाति क्षेत्र में 250 से अधिक सदस्य हैं। इन गांवों के आसपास के क्षेत्रों में लागू योजनाओं एससीएसपी के तहत विचार किया जाना चाहिए। शहरी क्षेत्रों में, कई वार्डो में अनुसूचित जाति की एक महत्वपूर्ण आबादी है। शहरी
स्थानीय निकाय और सुविधाओं का लाभ अर्थात, स्ट्रीट लाइट, ओवरहेड पानी के
टैंक, सड़कों, फुटपाथों, पीने के पानी, जल निकासी, स्कूलों, सामुदायिक
शौचालय, औषधालय, आदि, इस तरह के वार्ड में प्रदान करते हैं।
ये एससीएसपी के लिए परिव्यय में शामिल किया जाना चाहिए। “

कश्मीर
एस सरोज, सचिव, पंजाब, (एससी और बीसी के कल्याण) ने कहा, ‘हम पंजाब में
अनुसूचित जाति की जनसंख्या के अनुपात में अनुसूचित जातियों के लिए धन का
आवंटन।
अनुसूचित जाति योजनाओं पर व्यय भी उसी तरह से किया जाता है। हम नहीं जानते कि कैसे कमीशन आवंटन और व्यय के बीच इस तरह की विसंगतियों को मिल गया है। “

के
रूप में हमारे संविधान में प्रतिष्ठापित लोकतंत्र, स्वतंत्रता, समानता और
भाईचारे को बचाने के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में सुश्री
मायावती अनुपात में Sarvajan Hithaye Sarvajan Sukhaye IE के लिए समाज के
सभी वर्गों के बीच राज्य के धन वितरित की, कल्याण, सुख और सभी समाजों की
शांति के लिए
उसका सबसे अच्छा शासन की वजह से वह इस देश के प्रधानमंत्री बनने के लिए पात्र बन गया। यह
1% असहिष्णु, हिंसक उग्रवादी द्वारा पसंद नहीं कर रहा था, शूटिंग, हत्या,
पागल, मानसिक रूप से मंद नरभक्षी मनोरोगी chitpawan Rakshasa स्वयं सेवकों
और उसके सभी avathars भाजपा (Bahuth Jiyadha Psychopaths), विश्व हिंदू
परिषद (हिंसक हिंदुत्व psychopaths), अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के
ब्राह्मण (
सभी
ब्राह्मणों विषैला Psychopaths) भजन दल आदि, 99% Sarvajan समाज के प्रति
अपनी घृणा की वजह से धोखाधड़ी ईवीएम छेड़छाड़ द्वारा उसे पराजित कर दिया।
लेकिन वह साबित कर दिया जब वह और उसके बसपा उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव में सीटों का बहुमत जीता।

एकमात्र
समाधान कागज मतपत्र के साथ एक ही चरण में सभी ईवीएम मशीनों की जगह है और
इन सभी धोखाधड़ी ईवीएम द्वारा चयनित सरकारों को बर्खास्त और फिर नए सिरे से
चुनाव कराने के लिए है।

16) Classical Kannada

16) ಶಾಸ್ತ್ರೀಯ ಕನ್ನಡ

1844 ಶನಿ ಏಪ್ರಿ 23 2016
ಪಾಠಗಳು

ರಿಂದ

ಇನ್ಸೈಟ್-ನೆಟ್ ಆನ್ಲೈನ್-ಎ 1 (ಒಂದು ಅವೇಕನ್ಡ್) Tipiṭaka ರಿಸರ್ಚ್ ಮತ್ತು ಪ್ರಾಕ್ಟೀಸ್ ವಿಶ್ವವಿದ್ಯಾಲಯ
ದೃಶ್ಯ ರೂಪದಲ್ಲಿ (FOA1TRPUVF)
http://sarvajan.ambedkar.org ಮೂಲಕ
aonesolarpower@gmail.com

ಶಾಸ್ತ್ರೀಯ ಬೌದ್ಧಮತದ (ಅರಿವು ಅವೇಕನ್ಡ್ ಒಂದು ಬೋಧನೆಗಳು) ವಿಶ್ವದ ಸೇರಿರುವ, ಮತ್ತು ಎಲ್ಲರಿಗೂ ವಿಶೇಷ ಹಕ್ಕುಗಳನ್ನು ಹೊಂದಿವೆ ಜೆಸಿ

ಈ Google ಅನುವಾದ ಮತ್ತು ಪ್ರಸರಣ ಒಬ್ಬರ ಮಾತೃಭಾಷೆಯಲ್ಲಿ ಈ ವಿಶ್ವವಿದ್ಯಾಲಯದ ಪಾಠ
ನಿಖರವಾದ ಅನುವಾದ ಸಲ್ಲಿಕೆ ಒಂದು ಸ್ಟ್ರೀಮ್ Enterer (Sottapanna) ಆಗಲು ಮತ್ತು
ಫೈನಲ್ ಗೋಲು ಶಾಶ್ವತ ಪರಮಾನಂದದ ಸಾಧಿಸುವುದು ಅರ್ಹತೆ.

ಅರಿವು ಅವೇಕನ್ಡ್ ಒನ್ ಬೋಧನೆಗಳಿಗೆ ಪ್ರಚಾರ ವೆಬ್ಸೈಟ್ಗಳ ಪಟ್ಟಿಯನ್ನು ಅದೆಂದರೆ ಬುದ್ಧ ತ್ರಿಪ್ರಿಠಿಕಾದ ವಿಷುಯಲ್ ರೂಪದಲ್ಲಿ

http://sarvajan.ambedkar.org/?m=200907
http://wapedia.mobi/en/Buddhahood#1.
HTTP: // ಸುದ್ದಿ. xinhuanet. ಕಾಂ / ಇಂಗ್ಲೀಷ್ / 2009-07 / 27 / content_11780918 .htm
www.chinaview. ಸಿಎನ್
www.buddhismandbusi ness.webs. ಕಾಂ
http://www.grameenfoundation.org/welcome/google_psa/
www.grameenfoundation.org

http://plato.stanford.edu/entries/abhidharma/
http://www.taosinstitute.net/Websites/taos/images/PublicationsWorldShare/BuddhaAsTherapistMeditations_2015.pdf

http://www.audiodharma.org/series/1/talk/1839/

http://scroll.in/article/806815/in-sounding-the-bugle-for-2017-polls-in-uttar-pradesh-mayawati-did-not-spare-anyone
ಉತ್ತರ ಪ್ರದೇಶದ 2017 ಚುನಾವಣೆಯಲ್ಲಿ ತುತ್ತೂರಿ ಧ್ವನಿಯ ರಲ್ಲಿ ಮಾಯಾವತಿ ಯಾರಾದರೂ ಉಳಿದಿರುವಾಗಲೇ ಇಲ್ಲ

https://in.news.yahoo.com/robot-monk-blends-science-buddhism-chinese-temple-022046666.html
ರೋಬೋಟ್ ಸನ್ಯಾಸಿ ಚೀನೀ ದೇವಸ್ಥಾನದಲ್ಲಿ ವಿಜ್ಞಾನ ಮತ್ತು ಬೌದ್ಧ ಸಂಯೋಜಿಸುವ
http://www.hindustantimes.com/india/jodhpur-dalits-against-liquor-shop-say-they-ve-converted-to-buddhism/story-66WtTi1jP436dwxVFIRO1N.html
ಜೋದಪುರ: ಎಸ್ಸಿ / ಮದ್ಯ ಅಂಗಡಿ ವಿರುದ್ಧ ಪರಿಶಿಷ್ಟ ಅವರು ಬೌದ್ಧಮತಕ್ಕೆ ಮತಾಂತರಗೊಂಡ ನೀವು ಹೇಳುತ್ತಾರೆ
https://in.news.yahoo.com/scheduled-caste-commission-report-scs-010500542.html
ಪರಿಶಿಷ್ಟ ಜಾತಿ ಆಯೋಗದ ವರದಿ: ‘ಪರಿಶಿಷ್ಟ ಜಾತಿ ಎಸ್ಸಿ ಹಣ ಇರುವುದಿಲ್ಲ’

https://in.news.yahoo.com/robot-monk-blends-science-buddhism-chinese-temple-022046666.html
ರೋಬೋಟ್ ಸನ್ಯಾಸಿ ಚೀನೀ ದೇವಸ್ಥಾನದಲ್ಲಿ ವಿಜ್ಞಾನ ಮತ್ತು ಬೌದ್ಧ ಸಂಯೋಜಿಸುವ
ಜೋಸೆಫ್ ಕ್ಯಾಂಪ್ಬೆಲ್
ರಾಯಿಟರ್ಸ್
23 ಏಪ್ರಿಲ್ 2016

https://www.rt.com/viral/340638-buddha-robot-longquan-beijing/
ಬುದ್ಧ-ಬೋಟ್: ಚೀನೀ ದೇವಾಲಯದ ಬೋಧನೆಗಳು ಹೆಚ್ಚಿಸಲು ಮಿನಿ ಸನ್ಯಾಸಿ ರೋಬೋಟ್ (ವೀಡಿಯೊ) ಸೇರಿಕೊಂಡನು
ವೀಡಿಯೊ ವೀಕ್ಷಿಸಲು:
https://www.rt.com/viral/340638-buddha-robot-longquan-beijing/

Xian’er ಕರೆಯುವ ದೇವಸ್ಥಾನದಲ್ಲಿ ತಂದೆಯ ಆದ ಕಾರ್ಟೂನ್ ಸರಣಿ, ತೊಂದರೆಗಳು ಒಂದು ಜನಪ್ರಿಯ ಪಾತ್ರ ಆಧರಿಸಿದೆ, ನೀವು ನಿಮಗಾಗಿ ಹುಡುಕುವುದು. Xianfan CNTV ಪ್ರಕಾರ, ಹೈಲೈಟ್ ಮತ್ತು ಹೊಸ ಮಾಧ್ಯಮಗಳ ಮೂಲಕ ಸಮಕಾಲೀನ ಸಂಸ್ಕೃತಿಯೊಂದಿಗೆ ಬೌದ್ಧ ಸಂಪರ್ಕ ಅಭಿವೃದ್ಧಿಪಡಿಸಲು ಸರಣಿ ಅಭಿವೃದ್ಧಿ.

Xian’er ರೋಬೋಟ್ ಒಂದು ಟೆಕ್ ಕಂಪನಿ ಬೆಂಬಲ ಮತ್ತು ಚೀನೀ ವಿಶ್ವವಿದ್ಯಾಲಯಗಳು
ಎಐ ತಜ್ಞರು ಅಭಿವೃದ್ಧಿಪಡಿಸಿದರು, ಮತ್ತು ದೇವಾಲಯದ ಪ್ರಸ್ತುತ ಕಾರ್ಯಗಳನ್ನು ಒಂದು
ವ್ಯಾಪಕ ಶ್ರೇಣಿಯ ಒಂದು ಹೊಸ ಮಾದರಿ ಅಭಿವೃದ್ಧಿಪಡಿಸುತ್ತಿದೆ.

ಅವರು ಬೀಜಿಂಗ್, ಏಪ್ರಿಲ್ 20, 2016 ರಾಯಿಟರ್ಸ್ / ಕಿಮ್ Kyung-ಹೂ
ಹೊರವಲಯದಲ್ಲಿರುವ Longquan ಬೌದ್ಧ ದೇವಾಲಯ ಒಂದು ಫೋಟೋ ಅವಕಾಶ ಸಮಯದಲ್ಲಿ
ರೋಬೋಟ್ ಸಂವಾದ ಕಾರ್ಯ ತೋರಿಸುತ್ತದೆ ಎಂದು ಮಾಸ್ಟರ್ Xianfan ರೋಬೋಟ್
ಸನ್ಯಾಸಿ Xian’er ನೋಡುತ್ತದೆ

ಜೋಸೆಫ್ ಕ್ಯಾಂಪ್ಬೆಲ್

ಬೀಜಿಂಗ್ (ರಾಯಿಟರ್ಸ್) - ಬೀಜಿಂಗ್ ಹೊರವಲಯದಲ್ಲಿ ಒಂದು ಬೌದ್ಧ ದೇವಾಲಯ ಅನುಯಾಯಿಗಳು ಆಕರ್ಷಿಸಲು ಬಳಕೆ ತಂತ್ರಜ್ಞಾನ ನಿರ್ಧರಿಸಿದೆ.

Longquan ದೇವಾಲಯದ ಇದನ್ನು ಬೌದ್ಧಧರ್ಮದ ಸೂತ್ರಗಳ ಪಠಣ ಎಂದು ಧ್ವನಿ ಆಜ್ಞೆಯನ್ನು
ಮೂಲಕ ಚಲಿಸುತ್ತವೆ, ಮತ್ತು ಸರಳ ಮಾತುಕತೆ ನಡೆಸಲು ರೋಬಾಟ್ ಸನ್ಯಾಸಿ
ಅಭಿವೃದ್ಧಿಪಡಿಸಿದೆ ಹೇಳುತ್ತಾರೆ.

Xian’er ಎಂಬ, 2 ಅಡಿ ಎತ್ತರದ ರೋಬೋಟ್ ಹಳದಿ ನಿಲುವಂಗಿಗಳನ್ನು ಒಂದು ಕಾರ್ಟೂನ್
ತರಹದ ಅನನುಭವಿ ಸನ್ಯಾಸಿ ಒಂದು ಬೋಳಿಸಿದ ತಲೆ, ತನ್ನ ಎದೆಯ ಮೇಲೆ ಟಚ್ ಸ್ಕ್ರೀನ್
ಹಿಡುವಳಿ ಹೋಲುತ್ತದೆ.

Xian’er ತನ್ನ ತೆರೆಯಲ್ಲಿ ಪಟ್ಟಿ ಬೌದ್ಧಧರ್ಮ ಮತ್ತು ದೈನಂದಿನ ಜೀವನದ ಬಗ್ಗೆ 20
ಸರಳ ಪ್ರಶ್ನೆಗಳಿಗೆ ಉತ್ತರಿಸುವ ಮೂಲಕ ಮಾತುಕತೆ ನಡೆಸಲು, ಮತ್ತು ತನ್ನ ಚಕ್ರಗಳಲ್ಲಿ
ಚಲನೆ ಏಳು ರೀತಿಯ ಮಾಡಬಹುದು.

ಮಾಸ್ಟರ್ Xianfan, Xian’er ನಿರ್ಮಾತೃ ರೋಬೋಟ್ ಸನ್ಯಾಸಿ ವಿಜ್ಞಾನ ಮತ್ತು
ಬೌದ್ಧಧರ್ಮದ ಸಮ್ಮಿಳನ ಮೂಲಕ, ಚೀನಾ ಬೌದ್ಧ ಬುದ್ಧಿವಂತಿಕೆಯ ಹರಡುವ ಪರಿಪೂರ್ಣ ಹಡಗಿನ
ಹೇಳಿದರು.

“ವಿಜ್ಞಾನ ಮತ್ತು ಬೌದ್ಧ ಎದುರಾಳಿ ಅಲ್ಲ ಅಥವಾ ವಿರುದ್ಧವಾಗಿ, ಮತ್ತು ಸಂಯೋಜಿಸಲ್ಪಟ್ಟ ಮತ್ತು ಪರಸ್ಪರ ಹೊಂದಾಣಿಕೆಯ ಮಾಡಬಹುದು,” Xianfan ಹೇಳಿದರು.

ಬೌದ್ಧ ನಿಧಾನವಾಗಿ ದೈನಂದಿನ ಜೀವನದಲ್ಲಿ ಮತ್ತೆ ಸಾಗಿದರು ಸುಧಾರಣೆಗಳು ಹಲವಾರು ದಶಕಗಳ ಹಿಂದೆ ಹೋಗಿ ಸಿಕ್ಕಿ ರಿಂದ.

Xianfan ಬೌದ್ಧ ಒಂದು ವೇಗವಾಗಿ ಬದಲಾಗುವ, ಸ್ಮಾರ್ಟ್ ಫೋನ್ ಪ್ರಧಾನ ಸಮಾಜದಲ್ಲಿ ಜನರಿಗೆ ಅಂತರ ತುಂಬಿದೆ ಹೇಳಿದರು.

“ಬೌದ್ಧ ಒಳ ಹೃದಯ ಹೆಚ್ಚು ಪ್ರಾಮುಖ್ಯತೆ ಅಂಟಿಕೊಳ್ಳುತ್ತದೆ ವಿಷಯ, ಮತ್ತು ವ್ಯಕ್ತಿಯ ಆಧ್ಯಾತ್ಮಿಕ ಜಗತ್ತಿನ ಗಮನ ಕೊಡುತ್ತಾರೆ,” ಅವರು ಹೇಳಿದರು.

“ಈ ದೃಷ್ಟಿಕೋನದಿಂದ, ನಾನು ಅನೇಕ ಜನರ ಅಗತ್ಯಗಳನ್ನು ಪೂರೈಸಲು ಭಾವಿಸುತ್ತೇನೆ ಮಾತನಾಡುತ್ತಾ ಎತ್ತರಿಸಿದ ಸಂಸ್ಕೃತಿಯ ಒಂದು ರೀತಿಯ..”

ಸ್ವಲ್ಪ ರೋಬೋಟ್ ಸನ್ಯಾಸಿ ಒಂದು ತಂತ್ರಜ್ಞಾನ ಕಂಪನಿ ಮತ್ತು ಚೀನಾ ಅಗ್ರ
ವಿಶ್ವವಿದ್ಯಾನಿಲಯಗಳಿಂದ ಕೃತಕ ಬುದ್ಧಿಮತ್ತೆ ತಜ್ಞರು ಜಂಟಿ ಯೋಜನೆಯ
ಅಭಿವೃದ್ಧಿಪಡಿಸಲಾಯಿತು.

ಅಕ್ಟೋಬರ್ನಲ್ಲಿ ಸಾರ್ವಜನಿಕರಿಗಾಗಿ ಅನಾವರಣಗೊಳಿಸಲಾಯಿತು.

ಆದರೆ Xian’er ಅಗತ್ಯವಾಗಿ ಸಾಮಾಜಿಕ ಚಿಟ್ಟೆ ಅನೇಕ ಅವನನ್ನು ನಂಬಿಕೆ.

ಅವರು ಹಲವಾರು ರೊಬೊಟಿಕ್ಸ್ ಮತ್ತು ಚೀನಾ ಅಡ್ಡಲಾಗಿ ನಾವೀನ್ಯತೆ ಮೇಳಗಳು
ಪ್ರವಾಸ ಆದರೆ ಅಪರೂಪವಾಗಿ Longquan ದೇವಸ್ಥಾನದಲ್ಲಿ ಸಾರ್ವಜನಿಕ ಪ್ರದರ್ಶನಗಳನ್ನು
ಮಾಡುತ್ತದೆ.

Xian’er ಅವನ ಬಗ್ಗೆ ಕುತೂಹಲ ಸಾಮಾಜಿಕ ಮಾಧ್ಯಮದಲ್ಲಿ ಗಳಿಸಿದೆ ಸಹ, ಅವನ ದಿನಗಳು ಕಚೇರಿಯಲ್ಲಿ ಶೆಲ್ಫ್ “ಧ್ಯಾನ” ಕಳೆಯುತ್ತದೆ.

Xian’er ಅದೇ ಹೆಸರಿನ Xianfan 2013 ಕಾರ್ಟೂನ್ ಸೃಷ್ಟಿ ಸ್ಫೂರ್ತಿ. ದೇವಾಲಯದ ಕಾರ್ಟೂನ್ ಅನಿಮೇಷನ್ ಪ್ರಕಟಿಸಿದನು ಕಾಮಿಕ್ ಸಂಕಲನಗಳು, ಮತ್ತು ಕಾರ್ಟೂನ್ ಸನ್ಯಾಸಿ ಒಳಗೊಂಡ ಸಹ ವಾಣಿಜ್ಯ ನಿರ್ಮಿಸಿದೆ.

ಮಿಚೆಲ್ ಯು, ಪ್ರವಾಸಿ ಮತ್ತು ಬೌದ್ಧ ಅಭ್ಯಾಸ, ಅವರು ಮೊದಲ ಸಾಮಾಜಿಕ ಮಾಧ್ಯಮದಲ್ಲಿ Xian’er ಗುರುತಿಸಿ ಹೇಳಿದರು.

“ಅವರು ನಿಜವಾಗಿಯೂ ಮುದ್ದಾದ ಮತ್ತು ಉತ್ತಮ ಕಾಣುತ್ತದೆ. ಅವರು ಹೆಚ್ಚು ಜನರು ಬೌದ್ಧ
ಧರ್ಮ ಪ್ರಸಾರಕ್ಕೆ ಮಾಡುತ್ತೇವೆ ಅವರು ತುಂಬಾ ಆಸಕ್ತಿಕರವಾಗಿದೆ ಚಿಂತಿಸುತ್ತಾರೆ
ರಿಂದ, ಮತ್ತು ಅವುಗಳನ್ನು ನಿಜವಾಗಿಯೂ ಬೌದ್ಧ ತಿಳಿಯಲು ಬಯಸುವ ಮಾಡುತ್ತದೆ,” ಅವರು
ಹೇಳಿದರು.

ದೇವಾಲಯದ ಇದು ಹೇಳುತ್ತದೆ ಕಾರ್ಯಗಳನ್ನು ಇನ್ನಷ್ಟು ವಿಭಿನ್ನ ಹೊಂದಿರುತ್ತದೆ Xian’er ಒಂದು ಹೊಸ ಮಾದರಿಯನ್ನು, ಅಭಿವೃದ್ಧಿಶೀಲ ಇದೆ.

(; ರಾಬರ್ಟ್ Birsel ಸಂಕಲನ ಜೋಸೆಫ್ ಕ್ಯಾಂಪ್ಬೆಲ್ ವರದಿ)

http://www.hindustantimes.com/india/jodhpur-dalits-against-liquor-shop-say-they-ve-converted-to-buddhism/story-66WtTi1jP436dwxVFIRO1N.html
ಜೋದಪುರ: ಎಸ್ಸಿ / ಮದ್ಯ ಅಂಗಡಿ ವಿರುದ್ಧ ಪರಿಶಿಷ್ಟ ಅವರು ಬೌದ್ಧಮತಕ್ಕೆ ಮತಾಂತರಗೊಂಡ ನೀವು ಹೇಳುತ್ತಾರೆ

ತಮ್ಮ ಪ್ರದೇಶದಲ್ಲಿ ಮದ್ಯ ಅಂಗಡಿ ಆರಂಭಿಕ ವಿರುದ್ಧ ಮಾಡಿದ ಎಸ್ಸಿ / ಪರಿಶಿಷ್ಟ
ಒಂದು ಗುಂಪು ರಾಜ್ಯದ ಆಡಳಿತ ತಮ್ಮ ಬೇಡಿಕೆ ಕಡೆಗಣಿಸಲಾಗುತ್ತದೆ ಎಂದು ಅವರು
ಬೌದ್ಧಮತಕ್ಕೆ ಮತಾಂತರಗೊಂಡ ಎಂದು ಹೇಳಿದರು.

ಸಂತ ರವಿದಾಸ್ ಕಾಲೊನೀ ನಿವಾಸಿಗಳು ಜೋದಪುರ ಆಫ್ Bhadasia ಉಪನಗರ ಮದ್ಯ ಅಂಗಡಿ ವಿರುದ್ಧ ಮೂರು ವಾರಗಳ ಪ್ರತಿಭಟನೆ ಮಾಡಲಾಗಿದೆ.

ಪ್ರತಿಭಟನೆ ನಿವಾಸಿಗಳು ಕೆಲವು ತಮ್ಮನ್ನು tonsured ಪಡೆಯಿತು.

ಅಶೋಕ್ Balotia, ತನ್ನ ತಲೆಯನ್ನು ಬೋಳಿಸಿಕೊಂಡ ಪ್ರತಿಭಟನಾಕಾರರು ಒಂದು, “ಏನು
ಮಾಡಬಹುದು ಬಂದು” ಅವರು ಮದ್ಯ ಅಂಗಡಿ ವಿರುದ್ಧ ತಮ್ಮ ಚಲನೆಯನ್ನು ಮುಂದುವರೆಸಲು
ಹೇಳಿದರು.

“ನಾವು ಹಿಂದೂ ಧರ್ಮ ಪರಿವರ್ತನೆಯನ್ನು ಎಚ್ಚರಿಕೆ ಮತ್ತು ನಾವು ಬಿ.ಆರ್.ಅಂಬೇಡ್ಕರ್
ಅನುಯಾಯಿಗಳು ರಿಂದ, ನಾವು ಅವನಂತೆ ಬೌದ್ಧಧರ್ಮವನ್ನು ಸ್ವೀಕರಿಸಿದರು,” ಅವರು
ಹೇಳಿದರು.

ಇದೇ ಪ್ರದೇಶದಲ್ಲಿಯೇ ರಿಂದ Bhagwanti ಅವರು ಮದ್ಯ ಅಂಗಡಿ ಆರಂಭಿಕ ನಿಲ್ಲಿಸಲು
ಯಾವುದೇ ಮಟ್ಟಿಗೆ ಹೋಗಿ ಸಿದ್ಧವಿದೆ ಮತ್ತು ಅಂಗಡಿ ಪರವಾನಗಿ ರದ್ದು ಕಡಿಮೆ ಏನು
ನೆಲೆಗೊಳ್ಳಲು ಎಂದು ಹೇಳಿದರು.

ಮದ್ಯ ಅಂಗಡಿಗಳು ವಿರುದ್ಧ ಚಲನೆಯನ್ನು ಮುಂದುವರೆಸಲು

ಅತ್ಯುತ್ತಮ ಪರಿಹಾರಗಳನ್ನು ಬೌದ್ಧಮತಕ್ಕೆ ಪರಿವರ್ತಿಸಲು ಆಗಿದೆ

ಟೆಕ್ನೋ-ರಾಜಕೀಯ-ಸಾಮಾಜಿಕ ಟ್ರಾನ್ಸ್ಫರ್ಮೇಷನ್ ಆರ್ಥಿಕ ಸ್ವಾತಂತ್ರ್ಯಕ್ಕೆ
ಚಳವಳಿ ಬಾಬಾಸಾಹೇಬ್ ಅಂಬೇಡ್ಕರ್ ಆರಂಭಿಸಿತು, Manyawar Kanshram ಮತ್ತು MS
ಮಾಯಾವತಿ ಮತ್ತು ಅವರ ಅನುಯಾಯಿಗಳ ಕೋಟಿ ನಂತರ ಮೂಲಕ.

ಇಂದಿನ
ನಾಯಕರು ತಮ್ಮ ತಲೆ ಬೋಳಿಸಿಕೊಳ್ಳಬೇಕಾಗಿತ್ತು ಮತ್ತು ಉದಾಹರಣೆಗೆ ಹೊಂದಿಸಲು
ಅರಿವು ಅವೇಕನ್ಡ್ ಒಂದು ರೀತಿಯ ತಮ್ಮ ಜೀವನದ ದಾರಿ ಮಾಡಬೇಕು.
ಇಡೀ ರಾಷ್ಟ್ರದ ಅಮಲೇರಿಸುವ ಪದಾರ್ಥಗಳಿಂದ ಎಲ್ಲಾ ರೀತಿಯ ಸೇವಿಸುವ ತಪ್ಪಿಸುವ ಸೇರಿದಂತೆ ಎಲ್ಲಾ ಉತ್ತಮ ಆಚಾರ ಅನುಸರಿಸುತ್ತದೆ.

ಅಕ್ಷರಶಃ ರೋಲಿಂಗ್ ಕಲ್ಲುಗಳು ರೀತಿಯ ರೋಲ್ ಬದಲಿಗೆ ತಮ್ಮ ಜಾತಿ ಮಾಧ್ಯಮ ಮತ್ತು
ಟಿವಿ ವಾಹಿನಿಗಳು blabbering ಆಫ್, ಬರಿಗಾಲಿನ ನಡೆಯಲು ಸೇವಿಸುವ ಸಾರಾಯಿ ಮತ್ತು
ಧೂಮಪಾನದ cigarrets ಮತ್ತು ಬೀಡಿಗಳ ಸೇರಿದಂತೆ ಅಮಲೇರಿಸುವ ಪದಾರ್ಥಗಳಿಂದ
ನಿಲ್ಲಿಸಲು ಜನರು ಕೇಳಲು ಮಾಡಬೇಕು ಎಲ್ಲಾ ಸುತ್ತಿನ ನಾಯಕರು ಕೇವಲ ತಮ್ಮ ಕುಟುಂಬ
ಸದಸ್ಯರಿಗೆ ಅರ್ಥ.

ಅವರು ಮನೆಯ ಮಹಿಳೆಯರು ತಿಳಿಸಬೇಕು ಮತ್ತು ಅವರು ಮೈಮರೆತ ಆಗ ಅವರ ಪುರುಷರು ಜಾನಪದ ತಮ್ಮ ಮನೆಗಳ ಒಳಗೆ ಅವಕಾಶ ತಮ್ಮ ಮಕ್ಕಳು. ಅವರು ತಮ್ಮ ಮನೆಗಳ ಔಟ್ ಎಸೆಯಲು ಹೇಳಿ ಮಾಡಬೇಕು.

ಹಂತ ಹಂತವಾಗಿ ಸಾರಾಯಿ ಅಂಗಡಿಗಳ ಮುಕ್ತಾಯದ ಟಾಕಿಂಗ್ ಹಂತ ಹಂತವಾಗಿ ಬದಲಿಗೆ ಒಂದೇ ಶಾಟ್ ಒಂದು ನಾಯಿ ಬಾಲ ಕತ್ತರಿಸುವ ಹಾಗೆ. ಹಾಗೆಯೇ ಎಲ್ಲಾ ವಂಚನೆ ಗಳನ್ನು ಮತ್ತು ಮಾಜಿ ಮಾಜಿ ಸಿಇಸಿ ಸಂಪತ್ ಸೂಚಿಸಿದಂತೆ
ಸಿಜೆಐ ಸದಾಶಿವಂ ಆದೇಶ ಎಂದು ಹಂತ ಹಂತವಾಗಿ ಕಾಗದದ ಮತಪತ್ರಗಳನ್ನು ಜೊತೆ ಒಂದೇ ಅಲ್ಲ
ಬದಲಿಗೆ ಮಾಡಬೇಕು.

ಪರಿಶಿಷ್ಟ ಜಾತಿ ಆಯೋಗದ ವರದಿ: ‘ಪರಿಶಿಷ್ಟ ಜಾತಿ ಎಸ್ಸಿ ಹಣ ಇರುವುದಿಲ್ಲ’

ವಿವಿಧ ಪಕ್ಷಗಳನ್ನು ಡಾ ಬಿ ಆರ್ ಅಂಬೇಡ್ಕರ್ ಪರಂಪರೆಯ ತನ್ನ 125 ನೇ ಜನ್ಮ
ವಾರ್ಷಿಕೋತ್ಸವದ ಹಕ್ಕು ನೇತುಹಾಕಿದಾಗ ರಕ್ತವು ಹೊರಗೆ ಜೊತಿ, ಪರಿಶಿಷ್ಟ ಜಾತಿ
ಆಯೋಗದ ಇತ್ತೀಚಿನ ವಾರ್ಷಿಕ ವರದಿ ಬಹುತೇಕ ಎಲ್ಲಾ ರಾಜ್ಯಗಳು ಎಸ್ಸಿ ಸಮುದಾಯ ಕಡೆಗೆ
ತಮ್ಮ ಬಜೆಟ್ ಬದ್ಧತೆಗಳನ್ನು ಗೌರವಿಸಲು ವಿಫಲವಾಗಿದೆ ಎಂದು ಕಂಡುಹಿಡಿದಿದೆ.

ಇದರ
ಮೊದಲ ಆಡಿಟ್, ಆಯೋಗದ 26 ರಾಜ್ಯಗಳ 2012-13 ಬಜೆಟ್ ಪರೀಕ್ಷಿಸಿ “ಎಸ್ಸಿ
ನಿರ್ದಿಷ್ಟ” ಯೋಜನೆ ಖರ್ಚು ಹಣ ಒಟ್ಟು ದಲಿತ ವಿಶೇಷ ಯೋಜನೆ (SCSP) ಅಡಿಯಲ್ಲಿ
ಮಂಜೂರುಮಾಡಲಾಗಿದ್ದ ಮಾತ್ರ ಅತ್ಯಲ್ಪ ಎಂದು ಕಂಡುಬರುವ ಕಲಿತ.
ವರದಿ ಇನ್ನೂ ಸಂಸತ್ತಿನಲ್ಲಿ ಮಂಡಿಸಲಾಗುವುದು ಎಂದು ಆಗಿದೆ. “ಎಸ್ಸಿ ನಿರ್ದಿಷ್ಟ ಯೋಜನೆಗಳ ಮೇಲೆ ವೆಚ್ಚ ದೇಶಾದ್ಯಂತ SCSP ಒಟ್ಟು ಹಂಚಿಕೆ ಕೇವಲ ಒಂದು ಸಣ್ಣ ಅಂಶವಾಗಿರುತ್ತದೆ.

ಕೇಂದ್ರ
ಸೂಚನೆಗಳಿಗೆ, ಬಜೆಟ್, ರಾಜ್ಯದ ನಿರ್ದಿಷ್ಟಪಡಿಸಿದ ವಿವಿಧ ಸಚಿವಾಲಯಗಳು ಮತ್ತು
ಇಲಾಖೆಗಳು ರಾಜ್ಯಗಳಲ್ಲಿ ಸಮುದಾಯದ ಜನಸಂಖ್ಯೆ ಅನುಗುಣವಾಗಿ ಕನಿಷ್ಠ SCSP ಅಡಿಯಲ್ಲಿ ಹಣ
ಮೀಸಲಿರಿಸಿ ಎಂದು.
ಜನಗಣತಿ 2011 ಪ್ರಕಾರ, ಎಸ್ಸಿ ಸಮುದಾಯ ರೂಪಿಸುತ್ತದೆ 16.6 ರಷ್ಟು ದೇಶದ ಜನಸಂಖ್ಯೆಯ.

80.310
ಕೋಟಿ 26 ರಾಜ್ಯಗಳನ್ನು SCSP ಯೋಜನೆಗಳು 2012-13ರಲ್ಲಿ ಯುಪಿಎ ಸರಕಾರ
ಕೇಂದ್ರದಲ್ಲಿ ಅಧಿಕಾರದಲ್ಲಿದ್ದಾಗ, ನೀಡಲ್ಪಟ್ಟ 61.480 ಕೋಟಿ ಖರ್ಚು ಮಾಡಲಾಯಿತು.
ಆದಾಗ್ಯೂ, ಈ ಪ್ರಮಾಣದ ಕೇವಲ ರೂ 9.920 ಕೋಟಿ, ಅಥವಾ 12 ಒಟ್ಟು ಹಂಚಿಕೆಯ ಶೇ,
ಎಸ್ಸಿ ನಿರ್ದಿಷ್ಟ ಯೋಜನೆಗಳು ಖರ್ಚು ಮಾಡಲಾಯಿತು ಮತ್ತು ಉಳಿದ ಇತರ ಯೋಜನೆಗಳು
ಹರಿಯಿತು, ಆಯೋಗದ ಕಂಡುಬಂದಿಲ್ಲ.

 “ಮಾತ್ರ
ಯೋಜನೆಗಳು ವ್ಯಕ್ತಿಗಳು ಅಥವಾ ಕುಟುಂಬಗಳು ಪರಿಶಿಷ್ಟ ಜಾತಿ ಸೇರಿದ ನೇರ
ಪ್ರಯೋಜನಗಳನ್ನು ಖಚಿತಪಡಿಸಿಕೊಳ್ಳಲು ಇದು SCSP ಅಡಿಯಲ್ಲಿ ಸೇರಿಸಬೇಕು”.
“SCSP ನಿಧಿಗಳು, ಮಾತ್ರ ಪರಿಶಿಷ್ಟ ಜಾತಿ ಮೀಸಲಾದ, ಆದರೆ ಇತರ ಪ್ರದೇಶಗಳಿಗೆ ಹೋಯಿತು”.

ಆಯೋಗದ ಆಡಿಟ್ ಮುಖ್ಯವಾಗಿ ಹಂಚಿಕೆ ಮತ್ತು ಖರ್ಚು ಮಾಡಿದ್ದಕ್ಕಾಗಿ ಮತ್ತು ಎರಡು ನಡುವಿನ ಅಂತರವನ್ನು ಕೇಂದ್ರೀಕರಿಸಿದೆ. ಈ ಪರಿಗಣಿಸಿ:

26 19 ರಾಜ್ಯಗಳು SCSP ಮಂಜೂರು * ಫಂಡ್ಸ್ ಪ್ರಮಾಣ, ಅಲ್ಲಿ ಎಸ್ಸಿ ಸಮುದಾಯದ ಜನಸಂಖ್ಯೆ ಕಡಿಮೆ, ಎಂದು.

* ವೆಚ್ಚ ರಂದು ಆಯೋಗದ 26 ರಾಜ್ಯಗಳ ಯಾವುದೂ “ಎಸ್ಸಿ ನಿರ್ದಿಷ್ಟ ಯೋಜನೆಗಳು” ಮೇಲೆ SCSP ಖಾತೆಯ ಅಡಿಯಲ್ಲಿ ಅರ್ಧ ಹಣವನ್ನು ಖರ್ಚು ಕಂಡುಕೊಂಡರು. ಕೇವಲ 14 ರಾಜ್ಯಗಳು “ಎಸ್ಸಿ ನಿರ್ದಿಷ್ಟ ಯೋಜನೆಗಳು” 10 ಹೆಚ್ಚು ಕಾಲ SCSP ಅಡಿಯಲ್ಲಿ ಒಟ್ಟು ಖರ್ಚು ನಿಧಿಗಳ ಶೇಕಡ. ಆರು ಮಂದಿ, ಯುಪಿ ಗುಜರಾತ್, ಬಿಹಾರ ಸೇರಿದಂತೆ ಎಸ್ಸಿ ನಿರ್ದಿಷ್ಟ ಯೋಜನೆಗಳ ಮೇಲೆ ಕಡಿಮೆ 20 ರಷ್ಟು ಹಣ ಕಳೆದರು. ಛತ್ತೀಸ್ಗಢ, ಪಶ್ಚಿಮ ಬಂಗಾಳ ಹಾಗೂ ಒಡಿಶಾ ಕೆಟ್ಟ ಪ್ರದರ್ಶನ ಒಂದಾಗಿವೆ.

* ಮಂಜೂರು ಹಣ ಮತ್ತು ಹಣ ಎಸ್ಸಿ ಯೋಜನೆಗಳು ಖರ್ಚು ನಡುವೆ ವ್ಯಾಪಕ ಅಂತರವನ್ನು ಇಲ್ಲ. ಉದಾಹರಣೆಗೆ, ಪಂಜಾಬ್ SCSP ಅಡಿಯಲ್ಲಿ ಟ್ಯಾಗ್ 28,85 ರಾಜ್ಯ ಬಜೆಟ್ ಶೇ ಆದರೆ ಎಸ್ಸಿ ನಿರ್ದಿಷ್ಟ ಯೋಜನೆಗಳ ಮೇಲೆ ಕೇವಲ 4.81 ಹಂಚಿಕೆ ಶೇ ಕಳೆದರು.

“ಸಾಮಾನ್ಯ ಯೋಜನೆಗಳಿವೆ ಮತ್ತು ಎಸ್ಸಿ ನಿರ್ದಿಷ್ಟ ಯೋಜನೆಗಳಿವೆ. ಎಸ್ಸಿ ಆಯೋಗದ ಸರಿಯಾಗಿ ಎಸ್ಸಿ ನಿರ್ದಿಷ್ಟ ಯೋಜನೆಗಳು ಮೀಸಲಾದ ಹಣ ವ್ಯಾಖ್ಯಾನಿಸಲಾಗಿದೆ ಇಲ್ಲ. ನಮ್ಮ ಹಣ ಪರಿಶಿಷ್ಟ ಜಾತಿ ತಲುಪುವ ಮತ್ತು ಸಮುದಾಯ ಲಾಭಪಡೆದ ಮಾಡಲಾಗುತ್ತದೆ, “ಎನ್
ಕೆ Aswal, ಹೆಚ್ಚುವರಿ ಮುಖ್ಯ ಕಾರ್ಯದರ್ಶಿ ಎಸ್ಸಿ & ಎಸ್ಟಿ ಅಭಿವೃದ್ಧಿ,
ಛತ್ತೀಸ್ಗಢ ಹೇಳಿದರು.

ಕೆ ಡಿ ಕಪಾಡಿಯಾ, ನಿರ್ದೇಶಕ, ಗುಜರಾತ್ ಎಸ್ಸಿ ಕಲ್ಯಾಣ ಇಲಾಖೆ, ಹೇಳಿದರು: “ನಮ್ಮ ರಾಜ್ಯದಲ್ಲಿ, ದಲಿತ ಜನಸಂಖ್ಯೆಯ ಅಲ್ಲಲ್ಲಿ ಇದೆ. ಅನೇಕ ಗ್ರಾಮಗಳನ್ನು ಎಸ್ಸಿ ವಿಭಾಗದಲ್ಲಿ ಹೆಚ್ಚು 250 ಸದಸ್ಯರಿರುತ್ತಾರೆ. ಈ ಹಳ್ಳಿಗಳ ಸುತ್ತಮುತ್ತಲಿನ ಪ್ರದೇಶಗಳಲ್ಲಿ ಜಾರಿಗೆ ಯೋಜನೆಗಳು SCSP ಅಡಿಯಲ್ಲಿ ಪರಿಗಣಿಸಬೇಕು. ನಗರ ಪ್ರದೇಶಗಳಲ್ಲಿ, ಅನೇಕ ವಾರ್ಡ್ ಪರಿಶಿಷ್ಟ ಜಾತಿ ಗಮನಾರ್ಹ ಜನಸಂಖ್ಯೆಯನ್ನು ಹೊಂದಿವೆ. ನಗರ
ಸ್ಥಳೀಯ ಸಂಸ್ಥೆಗಳಿವೆ ಇಂತಹ ವಾರ್ಡ್ ಅಂದರೆ ಅನೇಕ ಸೌಲಭ್ಯಗಳನ್ನು, ರಸ್ತೆ
ದೀಪಗಳು, ಓವರ್ಹೆಡ್ ನೀರಿನ ಟ್ಯಾಂಕ್, ರಸ್ತೆಗಳು, ಕಾಲುದಾರಿಗಳು, ಕುಡಿಯುವ ನೀರು,
ಒಳಚರಂಡಿ, ಶಾಲೆಗಳು, ಸಮುದಾಯ ಶೌಚಾಲಯಗಳು, ಔಷಧಾಲಯಗಳು, ಇತ್ಯಾದಿ ಒದಗಿಸುವುದು.
ಈ SCSP ಹಣಹೂಡು ಸೇರಿಸಬೇಕು. “

ಕೆ
ಎಸ್ ಸರೋಜ್, ಕಾರ್ಯದರ್ಶಿ, ಪಂಜಾಬ್, (ಪರಿಶಿಷ್ಟ ಜಾತಿ ಮತ್ತು BC ಗಳಲ್ಲಿ ಕಲ್ಯಾಣ)
ಹೇಳಿದರು: “ನಾವು ಪಂಜಾಬ್ನಲ್ಲಿ ದಲಿತ ಜನಸಂಖ್ಯೆಯ ಅನುಪಾತದಲ್ಲಿ SC ಗಳಿಗೆ ಹಣವನ್ನು
ನಿಯೋಜಿಸಿ.
ಎಸ್ಸಿ ಯೋಜನೆಗಳು ವೆಚ್ಚ ಅದೇ ರೀತಿಯಲ್ಲಿ ತೆಗೆದುಕೊಳ್ಳಲ್ಪಡುತ್ತದೆ. ನಾವು ಆಯೋಗದ ಹಂಚಿಕೆ ಮತ್ತು ವೆಚ್ಚದ ನಡುವೆ ಇಂತಹ ಅಂತರವನ್ನು ಕಂಡುಹಿಡಿದಿದೆ ಹೇಗೆ ಗೊತ್ತಿಲ್ಲ. “

ಪ್ರಜಾಪ್ರಭುತ್ವ,
ಸ್ವಾತಂತ್ರ್ಯ, ಸಮಾನತೆ ಮತ್ತು ಭ್ರಾತೃತ್ವ ಉಳಿಸಲು ನಮ್ಮ ಸಂವಿಧಾನದಲ್ಲಿ ಎಂದು ಉತ್ತರ
ಪ್ರದೇಶದ ಮುಖ್ಯಮಂತ್ರಿಯಾಗಿ ಶ್ರೀಮತಿ ಮಾಯಾವತಿ ರಾಜ್ಯದ ಸಂಪತ್ತು ಸೂಕ್ತ
ಪ್ರಮಾಣದಲ್ಲಿ Sarvajan Hithaye Sarvajan Sukhaye ಅಂದರೆ ಸಮಾಜದ ಎಲ್ಲ ವರ್ಗಗಳ
ನಡುವೆ, ಕಲ್ಯಾಣ, ಸಂತೋಷ ಮತ್ತು ಎಲ್ಲಾ ಸಮಾಜಗಳ ಶಾಂತಿಗಾಗಿ ವಿತರಣೆ
. ಏಕೆಂದರೆ ತನ್ನ ಅತ್ಯುತ್ತಮ ಆಡಳಿತದ ಅವರು ಈ ದೇಶದ ಪ್ರಧಾನಿ ಆಗಲು ಅರ್ಹರಾಗಿರುತ್ತಾರೆ ಆಯಿತು.
ಶೂಟಿಂಗ್ ಗಲ್ಲಿಗೇರಿಸುತ್ತಿರುವುದಕ್ಕೆ, 1% ಅಸಹಿಷ್ಣುತೆ ಹಿಂಸಾತ್ಮಕ ಉಗ್ರಗಾಮಿ
ಇಷ್ಟಪಟ್ಟಿದ್ದಾರೆ ಇಲ್ಲ, ಅತಿರೇಕ, ಮಾನಸಿಕ ಮರೆವಿನ ನರಭಕ್ಷಕ ಮನೋವಿಕೃತ
chitpawan ರಾಕ್ಷಸ ಸ್ವಯಂ Sevaks ಮತ್ತು ಎಲ್ಲಾ ಅದರ avathars ಬಿಜೆಪಿ (Bahuth
Jiyadha Psychopaths), ವಿಎಚ್ಪಿ (ಹಿಂಸಾತ್ಮಕ ಹಿಂದುತ್ವ psychopaths), ಎಬಿವಿಪಿ
ಬ್ರಾಹ್ಮಣ (
ಎಲ್ಲಾ
ಬ್ರಾಹ್ಮಣರು ವಿಷಪೂರಿತ Psychopaths) ಭಜನ್ ದಳ ಮುಂತಾದುವುಗಳನ್ನು 99% Sarvajan
ಸಮಾಜ ಕಡೆಗೆ ತಮ್ಮ ದ್ವೇಷ ವಂಚನೆ ಗಳನ್ನು ಅಕ್ರಮವಾಗಿ ತನ್ನ ಸೋಲಿಸಿದರು.
ಅವಳು ಮತ್ತು ಅವಳ ಬಿಎಸ್ಪಿ ಯುಪಿ ಪಂಚಾಯತ್ ಚುನಾವಣೆಯಲ್ಲಿ ಸ್ಥಾನಗಳನ್ನು ಬಹುತೇಕ ಸಾಧಿಸಿದೆ ಆದರೆ ಅವರು ಸಾಬೀತಾಯಿತು.

ಮಾತ್ರ
ಪರಿಹಾರ ಕಾಗದದ ಮತಪತ್ರಗಳನ್ನು ಒಂದೇ ಹಂತದಲ್ಲಿ ಎಲ್ಲಾ ಗಳನ್ನು ಬದಲಾಯಿಸಲು ಮತ್ತು ಈ
ವಂಚನೆ ಗಳನ್ನು ಆಯ್ಕೆ ಎಲ್ಲಾ ಸರ್ಕಾರಗಳು ವಜಾಮಾಡಲು ಮತ್ತು ನಂತರ ತಾಜಾ ಚುನಾವಣೆ
ನಡೆಸಲು ಆಗಿದೆ.

18) Classical Marathi

18) शास्त्रीय मराठी

1844 शनि 23 एप्रिल 2016
धडे

पासून

अंतर्ज्ञान-नेट ऑनलाईन A1 (जागृत एक) Tipiṭaka संशोधन आणि सराव विद्यापीठ
व्हिज्युअल स्वरूपात (FOA1TRPUVF)
http://sarvajan.ambedkar.org माध्यमातून
aonesolarpower@gmail.com

शास्त्रीय बौद्ध (जागृती सह जागृत एक शिकवण) जगाचे, आणि प्रत्येकजण विशेष हक्क आहेत: सी

करण्यासाठी हे Google भाषांतर व तत्वज्ञान एक मातृभाषेत हे विद्यापीठ धडा
म्हणून तंतोतंत भाषांतर प्रस्तुत करत आहे प्रवाह Enterer (Sottapanna)
होतात आणि अंतिम ध्येय म्हणून सनातन धन्यता गाठण्यासाठी तमळतो.

जागृती सह जागृत एक शिकवण सुरु वेबसाइट यादी म्हणजे, बुद्ध Tripitaka मध्ये व्हिज्युअल स्वरूपात

http://sarvajan.ambedkar.org/?m=200907
http://wapedia.mobi/en/Buddhahood#1.
http: // बातम्या. xinhuanet. com / इंग्रजी / 2009-07 / 27 / content_11780918 .htm
www.chinaview. CN
www.buddhismandbusi ness.webs. कॉम
http://www.grameenfoundation.org/welcome/google_psa/
www.grameenfoundation.org

http://plato.stanford.edu/entries/abhidharma/
http://www.taosinstitute.net/Websites/taos/images/PublicationsWorldShare/BuddhaAsTherapistMeditations_2015.pdf

http://www.audiodharma.org/series/1/talk/1839/

http://scroll.in/article/806815/in-sounding-the-bugle-for-2017-polls-in-uttar-pradesh-mayawati-did-not-spare-anyone
उत्तर प्रदेश 2017 निवडणुकीत तुतारी वाजवत मध्ये, मायावती कोणालाही राखून ठेवले नाही

https://in.news.yahoo.com/robot-monk-blends-science-buddhism-chinese-temple-022046666.html
रोबोट साधू चीनी मंदिर विज्ञान आणि बौद्ध सुती मिश्रित
http://www.hindustantimes.com/india/jodhpur-dalits-against-liquor-shop-say-they-ve-converted-to-buddhism/story-66WtTi1jP436dwxVFIRO1N.html
जोधपूर: अनुसूचित जाती / दारू दुकान विरुद्ध अनुसूचित ते बौद्ध रुपांतर केले असे तुम्ही म्हणू
https://in.news.yahoo.com/scheduled-caste-commission-report-scs-010500542.html
अनुसूचित जाती आयोगाचे अहवाल: ‘अनुसूचित जाती-अनुसूचित जाती निधी मिळत नाही’

https://in.news.yahoo.com/robot-monk-blends-science-buddhism-chinese-temple-022046666.html
रोबोट साधू चीनी मंदिर विज्ञान आणि बौद्ध सुती मिश्रित
योसेफ कॅंबेल करून
रॉयटर्स
23 एप्रिल 2016 पर्यंत

https://www.rt.com/viral/340638-buddha-robot-longquan-beijing/
बुध्द सांगकाम्या: चीनी मंदिर शिकवणी चालना देण्यासाठी मिनी साधू रोबो (व्हिडिओ) enlists
व्हिडिओ पाहण्यासाठी करा:
https://www.rt.com/viral/340638-buddha-robot-longquan-beijing/

Xian’er म्हणतात मंदिर स्वत: च्या कार्टून मालिका, समस्या एक लोकप्रिय वर्ण आधारित आहे, आपण स्वत: साठी शोधा. Xianfan, प्रकाशित करा आणि नवीन माध्यमातून समकालीन संस्कृती बौद्ध कनेक्शन विकसित करण्यासाठी मालिका विकसित CNTV करण्यात आली आहे.

Xian’er रोबो आणि एक टेक कंपनीने पाठिंबा चीनी विद्यापीठांच्या AI तज्ञ
विकसित केले, आणि मंदिर सध्या कार्ये एक विस्तीर्ण श्रेणी एक नवीन मॉडेल
विकसित आहे.

तो बीजिंग, 20 एप्रिल, 2016 रॉयटर्स / किम बहिणीला हून सीमा वर Longquan
बौद्ध मंदिर एक फोटो संधी दरम्यान रोबो संभाषणाचा कार्य प्रात्यक्षिक
म्हणून मास्टर Xianfan रोबो साधू Xian’er पाहतो

योसेफ कॅंबेल करून

बीजिंग (वृत्तसंस्था) - बीजिंग सीमा वर एक बौद्ध मंदिर अनुयायी आकर्षित करण्यासाठी तंत्रज्ञान वापर निर्णय घेतला आहे.

Longquan मंदिर ते बौद्ध Suttas जप करू शकता, आवाज आदेश द्वारे हलवा, आणि एक साधी संभाषण ठेवण्यासाठी एक रोबो साधू विकसित केली आहे.

नाव Xian’er, 2 पाऊल उंच रोबो पिवळा झगे घालून एक व्यंगचित्र सारखी
अननुभवी साधू एक मुंडण डोके, त्याच्या छातीत वर टच स्क्रीन धारण सारखी.

Xian’er पडदा वर सूचीबद्ध बौद्ध आणि दररोज जीवनात सुमारे 20 साध्या
प्रश्नांची उत्तर संभाषण धारण करू शकता, आणि त्याच्या विदर्भ वर हालचाली
सात प्रकारचे सुरू.

मास्टर Xianfan, Xian’er निर्माता, रोबो साधू विज्ञान आणि बौद्ध च्या
फ्यूजन माध्यमातून, चीन बौद्ध ज्ञान प्रसार करण्यासाठी योग्य भांडे यांनी
म्हटले आहे.

“विज्ञान आणि बौद्ध विरोध नाही किंवा contradicting, एकत्रित आणि परस्पर सुसंगत जाऊ शकतो,” Xianfan आहे.

सुधारणा अनेक दशकांपूर्वी जात झाल्यापासून बौद्ध हळूहळू परत दैनंदिन जीवनात मध्ये सुरु झाल्याचे चित्र सर्वत्र आहे.

Xianfan बौद्ध जलद बदलणारे, स्मार्ट-फोन राखले समाजात लोक एक अंतर भरुन आहे.

“बौद्ध आतील हृदय जास्त महत्त्व संलग्न की काहीतरी आहे, आणि व्यक्तीचा आध्यात्मिक जगात लक्ष देते,” तो म्हणाला.

“तो भारदस्त संस्कृती एक प्रकारचा आहे. या दृष्टीकोनातून, मी अनेक लोक गरजा पूर्ण करू शकता विचार पासून ते बोलत होते.”

थोडे रोबो साधू एक तंत्रज्ञान कंपनी आणि चीनच्या विद्यापीठे काही कृत्रिम
बुद्धिमत्ता तज्ञ यांच्या संयुक्त प्रकल्प म्हणून विकसित केले होते.

ते ऑक्टोबर मध्ये सार्वजनिक अनावरण करण्यात आले.

पण Xian’er अपरिहार्यपणे सामाजिक फुलपाखरू अनेक त्याला वाटत नाही.

अनेक रोबोटिक्सच्या आणि चीन ओलांडून नावीन्यपूर्ण उत्सव साजरे केले जातात
दौरा आहे पण क्वचितच Longquan मंदिरात सार्वजनिक सामने करते.

Xian’er त्याला कुतूहल सोशल मीडियावर वाढ झाली आहे, तरी कार्यालयात एक शेल्फ वर “ध्यान” त्याच्या काळात सर्वात घालवतात.

Xian’er त्याच नाव Xianfan 2013 व्यंगचित्र निर्मिती प्रेरणा होती. मंदिर व्यंगचित्र अॅनिमेशन, प्रकाशित कॉमिक anthologies आणि व्यंगचित्र साधू असलेले अगदी व्यापारी उत्पादन आहे.

मिशेल यू म्हणाले, पर्यटन आणि बौद्ध सराव करणे, ती प्रथम सोशल मीडियावर Xian’er कलंकित आहे.

“तो खरोखर सुंदर आणि मोहक दिसते. तो अधिक लोकांना बौद्ध पसरली करू
त्यांनी फार मनोरंजक आहे विचार करेल पासून करा, आणि त्यांना खरोखर बौद्ध
समजून घ्यायचे,” ती म्हणाली.

मंदिर तो म्हणतो की, जे कार्ये अधिक वैविध्यपूर्ण श्रेणी आहे Xian’er एक नवीन मॉडेल विकसित आहे.

(; रॉबर्ट Birsel संपादन योसेफ कॅंबेल करून अहवाल)

http://www.hindustantimes.com/india/jodhpur-dalits-against-liquor-shop-say-they-ve-converted-to-buddhism/story-66WtTi1jP436dwxVFIRO1N.html
जोधपूर: अनुसूचित जाती / दारू दुकान विरुद्ध अनुसूचित ते बौद्ध रुपांतर केले असे तुम्ही म्हणू

अनुसूचित जाती / अनुसूचित जमाती त्यांच्या भागात दारूच्या दुकान
उघडण्याच्या विरोध करण्यात आली आहे समूह त्यांना राज्य प्रशासन मागणी
दुर्लक्ष झाले आहे म्हणून बौद्ध रूपांतरित आहेत दावा.

जोधपुर Bhadasia उपनगर संत Ravidas कॉलनी रहिवासी दारू दुकान विरुद्ध तीन आठवडे देत आहे.

आंदोलन रहिवासी काही स्वत: tonsured झाले आहे.

अशोक Balotia, आपल्या डोक्याचे मुंडण केले कोण निदर्शक एक आहेत, दारू
दुकान विरुद्ध त्यांच्या चळवळ सुरू होईल, असे म्हणाला, “काय करू”.

“आम्ही हिंदू पासून रूपांतर ताकीद दिली होती आणि आम्ही बाबासाहेब आंबेडकर
अनुयायी असल्याने, आम्ही त्याला जसे बौद्ध वापर केला गेला आहे,” तो
म्हणाला.

त्याच परिसर पासून Bhagwanti ते दारू दुकान उघडण्याच्या थांबवू कोणत्याही
प्रमाणात जाण्यासाठी तयार होते आणि दुकान परवाना रद्द पेक्षा कमी काहीही
ठरविणे नाही, असे ते म्हणाले.

दारू दुकाने विरुद्ध चळवळ सुरू ठेवा

सर्वोत्तम उपाय बौद्ध रूपांतर आहे

टेक्नो-Politico-सामाजिक परिवर्तन आर्थिक सुटका बाबासाहेब डॉ बाबासाहेब
आंबेडकर यांनी सुरू चळवळ, Manyawar Kanshram आणि मायावती आणि त्यांचे
अनुयायी कोटी त्यानंतर माध्यमातून.

आज नेते त्यांच्या डोक्यावर केशवपन आणि एक ऊदाहरण जागरूकता जागृत एक सारखे त्यांचे जीवन जगू आवश्यक आहे. संपूर्ण राष्ट्र intoxicants सर्व प्रकारच्या उपभोक्ता टाळून सर्व चांगले आज्ञा साधेल.

शब्दशः रोलिंग स्टोन्स सारखे रोल कोण त्याऐवजी त्यांच्या स्वत: च्या जात
मीडिया आणि टीव्ही चॅनेल मध्ये blabbering च्या, अनवाणी चालतो आणि ताडी,
माडी, शिंदीची दारू आणि स्मोकिंग cigarrets आणि bidis समावेश intoxicants
उपभोक्ता थांबविण्यासाठी लोक विचारला पाहिजे, सर्वांगीण नेते फक्त
त्यांच्या स्वत: च्या कुटुंबातील सदस्य बोलत.

ते
घरगुती महिला सांगणे आवश्यक आहे आणि ते मदोन्मत्त आहेत तेव्हा त्यांच्या
मुलांना त्यांच्या घरे आत त्यांच्या पुरुष लोक परवानगी नाही.
ते त्यांच्या घरामध्ये त्यांची टाकून त्यांना विचारू आवश्यक आहे.

रद्दबातल रीतीने दारू दुकाने बंद बोलत रद्दबातल रीतीने एकाऐवजी शॉट मध्ये एक कुत्रा शेपूट कापून आहे. तसेच सर्व फसवणूक इलेक्ट्रॉनिक मतदान यंत्रांद्वारे मतदान आणि माजी CJI
Sadasivam माजी मुख्य निवडणूक आयुक्त संपत यांनी सुचवलेले म्हणून आदेश दिले
म्हणून एक रद्दबातल रीतीने कागद मतदान जाता नाही बदलले पाहिजेत.

अनुसूचित जाती आयोगाचे अहवाल: ‘अनुसूचित जाती-अनुसूचित जाती निधी मिळत नाही’

विविध राजकीय पक्षांच्या त्याच्या 125 व्या जयंती डॉ ब आर आंबेडकर वारसा
हक्क staking लोकांबरोबर, अनुसूचित जाती आयोगाने नवीन वार्षिक अहवाल
बहुतांश राज्यांत अनुसूचित जाती toward त्यांची अर्थसंकल्पीय जबाबदार्या
मान करण्यात अयशस्वी आढळले आहे.

पहिल्यांदा
जसे ऑडिट मध्ये, आयोगाच्या 26 राज्यांमध्ये सन 2012-13 च्या अर्थसंकल्पात
तपासणी आणि “अनुसूचित जाती-विशिष्ट” योजना खर्च निधी अंतर्गत अनुसूचित जाती
विशेष योजना (SCSP) वाटप एकूण फक्त एक लहान अपूर्णांक होते असे आढळले की
शिकलो आहे.
अहवाल अद्याप संसदेत सादर आहे. “अनुसूचित जाती-विशिष्ट योजना खर्च देशभरातील SCSP एकूण वाटप फक्त एक लहान अपूर्णांक आहे.

केंद्र
सरकारने मार्गदर्शक तत्त्वे बजेट, राज्य निर्दिष्ट, विविध मंत्रालये आणि
विभाग किमान राज्यातील समुदाय लोकसंख्या प्रमाणात, SCSP अंतर्गत निधी राखीव
आहे की.
2011 च्या जनगणनेनुसार, अनुसूचित जाती स्थापना देशाच्या लोकसंख्येच्या 16.6 टक्के.

80.310
कोटी रुपये 26 राज्यांमध्ये संयुक्त पुरोगामी आघाडी सरकार सत्तेवर असताना
SCSP योजनांची 2012-13 या आर्थिक वर्षात देण्यात कोटी 61.480 रुपये खर्च
झाले आहेत.
तथापि, ही रक्कम फक्त 9.920 कोटी रुपये, किंवा फक्त एकूण 12 वाटप टक्के,
अनुसूचित जाती-विशिष्ट योजना खर्च करण्यात आले आणि उर्वरित योजना वळवण्यात
आले आहे, कमिशन आढळले.

 “फक्त त्या योजना अनुसूचित जाती राहण्याचे व्यक्ती किंवा कुटुंबांना थेट लाभ खात्री जे SCSP अंतर्गत समाविष्ट केले पाहिजे”. “SCSP निधी केवळ अनुसूचित जाती असतात, पण इतर भागात वळविण्यात आहेत,”.

आयोगाच्या ऑडिट वाटप आणि खर्च आणि दोन दरी प्रामुख्याने लक्ष केंद्रित केले. या विचार करा:

19 26 राज्यांतील SCSP वाटप * निधी प्रमाण तेथे अनुसूचित जाती लोकसंख्या कमी होते.

* खर्च रोजी कमिशन आढळले 26 राज्यांमध्ये काहीच नाही “अनुसूचित जाती-विशिष्ट योजना” वर SCSP खाते अंतर्गत अगदी अर्धा निधी खर्च. फक्त 14 राज्ये “अनुसूचित जाती-विशिष्ट योजना” वर SCSP अंतर्गत एकूण खर्च टक्के शासनाचा निधी जास्त 10 खर्च. सहा इतर, उत्तर प्रदेश, गुजरात, आणि बिहार समावेश, अनुसूचित जाती-विशिष्ट योजना कमी 20 टक्के निधी खर्च. छत्तीसगड, पश्चिम बंगाल आणि ओडिशा कामगिरी सर्वात होते.

* दिला जातो आणि अनुसूचित जाती योजना खर्च निधी पैसा दरम्यान विस्तृत अंतर आहे. उदाहरणार्थ, पंजाब SCSP अंतर्गत 28,85 टॅग राज्याचा अर्थसंकल्प टक्के पण अनुसूचित जाती-विशिष्ट योजना फक्त 4.81 ते वाटप टक्के खर्च.

“सर्वसाधारण योजना आहेत आणि अनुसूचित जाती-विशिष्ट योजना आहेत. अनुसूचित जाती आयोग योग्य अनुसूचित जाती-विशिष्ट योजना बोलत निधी व्याख्या नाही. आमच्या निधी अनुसूचित जाती पोहोचत आणि समुदाय फायदा आहेत, “एन के Aswal,
अतिरिक्त मुख्य सचिव, अनुसूचित जाती व जमातीच्या विकास, छत्तीसगड आहे.

के डी कापडिया, संचालक, गुजरात अनुसूचित जाती कल्याण विभाग, म्हणाला: “आमच्या राज्यात, SC लोकसंख्या विखुरली जाते. अनेक गावांमध्ये अनुसूचित जाती विभागामध्ये 250 हून अधिक सदस्य आहेत. या गावांमध्ये आसपासच्या भागात राबविण्यात योजना SCSP अंतर्गत मानले पाहिजे. शहरी भागात अनेक वॉर्डांमध्ये अनुसूचित जाती लक्षणीय लोकसंख्या आहे. नागरी
स्थानिक स्वराज्य संस्थांकडे अनेक सोयी सुविधा म्हणजे, रस्त्यावर दिवे,
ओव्हरहेड पाण्याची टाकी, रस्ते, पादचारी मार्ग, पिण्याचे पाणी, गटारे,
शाळा, समाज, शौचालय, दवाखाने, इ िवभागातील प्रदान.
या साठी SCSP खर्च मध्ये समाविष्ट केले पाहिजे. “

के
एस सरोज, सचिव, पंजाब, (अनुसूचित जाती आणि ल BC कल्याण) म्हणाला: “आम्ही
पंजाबमध्ये SC लोकसंख्या प्रमाणात अनुसूचित जाती-निधी वाटप करा.
अनुसूचित जाती योजना खर्च देखील तशाच प्रकारे घेतला जातो. आम्हांला आयोगाची वाटप आणि खर्च यांच्यात अशा सदोष आढळले आहे कसे माहीत नाही. “

उत्तरप्रदेशातील
मुख्यमंत्री मायावती प्रमाणातील Sarvajan Hithaye Sarvajan Sukhaye
म्हणजेच समाजातील सर्व विभागांतील, कल्याण, आनंद आणि सर्व संस्था शांती
साठी लोकशाही, स्वातंत्र्य, समता व बंधुता या जतन करण्यासाठी आपल्या
घटनेच्या मध्ये नमूद केल्याप्रमाणे राज्यातील संपत्ती वाटप
. कारण तिच्या सर्वोत्तम शासन तो या देशात पंतप्रधान होण्यासाठी पात्र झाले. या
1% असहिष्णु, हिंसक, दहशतवादी आवडले नाही, शूटिंग, lynching, मानसिक
मतिमंद मनुष्यभक्षक मानसिक समतोलत्व बिघडलेली chitpawan राक्षस
स्वयंसहाय्यता आचरण केले आणि त्याच्या सर्व avathars भाजप (Bahuth Jiyadha
Psychopaths), विश्व हिंदू परिषद (हिंसक हिंदुत्व psychopaths), अभाविपच्या
च्या ब्राह्मण (
ब्राम्हण
विषारी Psychopaths) भजन दल, इत्यादी, कारण 99% Sarvajan समाज दिशेने
द्वेष घोटाळा इलेक्ट्रॉनिक मतदान यंत्रांद्वारे मतदान फेरफार करून तिच्या
पराभव केला.
ती आणि तिच्या बहुजन समाज पक्षाचे प्रदेश ग्रामपंचायत निवडणूक जागा बहुमत मिळाले तेव्हा पण ती सिद्ध केले.

फक्त
समाधान कागद मतपत्रिका सह एकाच टप्प्यात सर्व इलेक्ट्रॉनिक मतदान
यंत्रांद्वारे मतदान पुनर्स्थित आणि सर्व सरकारांना या फसवणूक इलेक्ट्रॉनिक
मतदान यंत्रांद्वारे मतदान निवडले घालविणे आणि नंतर ताजे निवडणूका
घेण्याकरिता आहे.

14) Classical Gujarati

14) આ Classical ગુજરાતી

1844 શનિ એપ્રિલ 23 2016
પાઠ

થી

એકબીજાને-NET-ઓનલાઇન A1 (એક એવકન) Tipiṭaka સંશોધન અને પ્રેક્ટિસ યુનિવર્સિટી
દ્રશ્ય બંધારણમાં માં (FOA1TRPUVF)
http://sarvajan.ambedkar.org દ્વારા
aonesolarpower@gmail.com

ક્લાસિકલ બોદ્ધ ધર્મ (જાગૃતિ સાથે જાગૃત એક ઉપદેશ) દુનિયા સાથે સંબંધ છે, અને દરેક વિશિષ્ટ અધિકારો છે: જેસી

આ Google અનુવાદ અને પ્રચાર માટે એક માતૃભાષા આ યુનિવર્સિટી એક પાઠ તરીકે
ચોક્કસ અનુવાદ રેન્ડરીંગ પ્રવાહ Enterer (Sottapanna) બની અને એક અંતિમ
ધ્યેય તરીકે શાશ્વત આનંદ પ્રાપ્ત કરવા માટે હકદાર.

જાગૃતિ સાથે જાગૃત એક ના ઉપદેશો પ્રચાર વેબસાઇટ્સ યાદી એટલે કે, બુદ્ધ Tripitaka વિઝ્યુઅલ બંધારણમાં

http://sarvajan.ambedkar.org/?m=200907
http://wapedia.mobi/en/Buddhahood#1.
http: // સમાચાર. ઝિન્હુઆનેટ. કોમ / / ઇંગલિશ 2009-07 / 27 / content_11780918 .htm
www.chinaview. CN
www.buddhismandbusi ness.webs. કોમ
http://www.grameenfoundation.org/welcome/google_psa/
www.grameenfoundation.org

http://plato.stanford.edu/entries/abhidharma/
http://www.taosinstitute.net/Websites/taos/images/PublicationsWorldShare/BuddhaAsTherapistMeditations_2015.pdf

http://www.audiodharma.org/series/1/talk/1839/

http://scroll.in/article/806815/in-sounding-the-bugle-for-2017-polls-in-uttar-pradesh-mayawati-did-not-spare-anyone
ઉત્તર પ્રદેશમાં 2017 ચૂંટણી માટે રણશિંગું વાગવું ઊંડાણ માં, માયાવતી કોઈને ઓછું ન હતી

https://in.news.yahoo.com/robot-monk-blends-science-buddhism-chinese-temple-022046666.html
રોબોટ સાધુ ચિની મંદિર ખાતે વિજ્ઞાન અને બોદ્ધ ધર્મ સંયોજીત
http://www.hindustantimes.com/india/jodhpur-dalits-against-liquor-shop-say-they-ve-converted-to-buddhism/story-66WtTi1jP436dwxVFIRO1N.html
જોધપુર: એસસી / દારૂ દુકાન સામે એસટી તેઓ બોદ્ધ ધર્મ રૂપાંતરિત કર્યું કહે
https://in.news.yahoo.com/scheduled-caste-commission-report-scs-010500542.html
અનુસૂચિત જાતિ પંચના અહેવાલ: ‘એસસી એસસી ભંડોળ મળી નથી’

https://in.news.yahoo.com/robot-monk-blends-science-buddhism-chinese-temple-022046666.html
રોબોટ સાધુ ચિની મંદિર ખાતે વિજ્ઞાન અને બોદ્ધ ધર્મ સંયોજીત
જોસેફ કેમ્પબેલ દ્વારા
રોઇટર્સ
23 એપ્રિલ 2016

https://www.rt.com/viral/340638-buddha-robot-longquan-beijing/
બુદ્ધ-બોટ: ચિની મંદિર યાદીબદ્ધ ઉપદેશો વધારવા માટે મીની સાધુ રોબોટ (વિડિઓ)
વિડિઓ જોવા કૃપા કરીને:
https://www.rt.com/viral/340638-buddha-robot-longquan-beijing/

Xian’er મંદિર પોતાના કાર્ટૂન કહેવાય શ્રેણી, મુશ્કેલી એક લોકપ્રિય પાત્ર પર આધારિત છે, તમે તમારી જાતને માટે શોધો. Xianfan CNTV અનુસાર પ્રકાશિત કરો અને નવી મીડિયા મારફતે સમકાલીન સંસ્કૃતિ સાથે બોદ્ધ ધર્મ જોડાણ વિકાસ માટે શ્રેણી વિકસાવી.

Xian’er રોબોટ એક ટેક કંપની પાસેથી આધાર અને ચિની યુનિવર્સિટીઓ માંથી
કૃત્રિમ નિષ્ણાતો સાથે વિકસાવવામાં આવી હતી, અને મંદિર હાલમાં કાર્યો એક
વિશાળ શ્રેણી સાથે એક નવું મોડેલ વિકાસશીલ છે.

માસ્ટર Xianfan રોબોટ સાધુ Xian’er જુએ છે કારણ કે તે બેઇજિંગ, 20
એપ્રિલ, 2016 REUTERS / કિમ Kyung-હૂ ની હદ પર લોન્ગક્યુઆન બૌદ્ધ મંદિર એક
ફોટો તક દરમિયાન રોબોટ વાતચીત કાર્ય દર્શાવે

જોસેફ કેમ્પબેલ દ્વારા

બેઇજિંગ (રોઇટર્સ) - બેઇજિંગના બાહરી પર બૌદ્ધ મંદિર અનુયાયીઓને આકર્ષે માટે ટેકનોલોજીનો ઉપયોગ કરવાનો નિર્ણય લીધો છે.

લોન્ગક્યુઆન મંદિર રોબોટ સાધુ બૌદ્ધ Suttas ગીત, અવાજ આદેશ મારફતે ખસેડી શકો છો, અને એક સરળ વાતચીત પકડી વિકસાવી છે કહે છે.

નેમ્ડ Xian’er, 2 ફૂટ ઊંચા રોબોટ એક છોલાય વડા સાથે પીળા ઝભ્ભો એક
કાર્ટૂન જેવા શિખાઉ સાધુ જેવું લાગે છે, તેમની છાતી પર એક ટચ સ્ક્રીન
હોલ્ડિંગ.

Xian’er તેમના સ્ક્રીન પર યાદી થયેલ બોદ્ધ ધર્મ અને દૈનિક જીવન વિશે 20
સરળ પ્રશ્નોના જવાબ દ્વારા વાતચીત પકડી, અને તેના વ્હીલ્સ પર ગતિ સાત
પ્રકારના કરી શકો છો.

માસ્ટર Xianfan, Xian’er સર્જક જણાવ્યું હતું કે રોબોટ સાધુ વિજ્ઞાન અને
બોદ્ધ ધર્મ સંયોજન મારફતે, ચાઇના માં બોદ્ધ ધર્મ ની શાણપણ ફેલાવવા માટે
પરફેક્ટ જહાજ હતું.

“વિજ્ઞાન અને બોદ્ધ ધર્મ વિરોધ કરવામાં આવે છે ન વિરોધાભાસી છે, અને ભેગા થઈ શકે છે અને પરસ્પર સુસંગત,” Xianfan જણાવ્યું હતું.

બોદ્ધ ધર્મ ધીમે ધીમે થી સુધારા કેટલાક દાયકાઓ પહેલા જઈને મળી દૈનિક જીવન પાછું crept છે.

Xianfan બોદ્ધ ધર્મ ઝડપી બદલાતી, સ્માર્ટ ફોન પ્રભુત્વ સમાજમાં લોકો માટે એક ગેપ ભરવામાં જણાવ્યું હતું.

“બોદ્ધ ધર્મ કંઈક કે જે આંતરિક હૃદય ખૂબ મહત્વ આપે છે, અને વ્યક્તિગત આધ્યાત્મિક વિશ્વ માટે ધ્યાન ચૂકવે છે,” તેમણે જણાવ્યું હતું.

“તે એલિવેટેડ સંસ્કૃતિ એક પ્રકારની છે. આ પરિપ્રેક્ષ્યમાં, મને લાગે છે કે તે ઘણા લોકો જરૂરિયાતો સંતોષવા કરી શકો છો બોલતા.”

થોડું રોબોટ સાધુ ટેક્નોલોજી કંપની અને ચાઇના ટોચની યુનિવર્સિટીઓ કેટલાક
કૃત્રિમ બુદ્ધિ નિષ્ણાતના વચ્ચે એક સંયુક્ત પ્રોજેક્ટ તરીકે વિકસાવવામાં
આવી હતી.

તે ઓક્ટોબર જાહેર જનતા માટે રજૂ કરવામાં આવી હતી.

પરંતુ Xian’er જરૂરી સામાજિક બટરફ્લાય ઘણા તેને માનતા નથી.

તેમણે કેટલાક રોબોટિક્સ અને ચાઇના સમગ્ર નવીનતા મેળા પ્રવાસ કર્યો છે પરંતુ ભાગ્યે જ લોન્ગક્યુઆન મંદિરમાં જાહેરમાં દેખાય છે.

Xian’er, તેમના ટ્રેડીંગ ઓફિસ એક છાજલી પર “મનન” સૌથી વિતાવે છતાં પણ તેમને વિશે જિજ્ઞાસા સામાજિક મીડિયા પર ફેલાય છે.

Xian’er એ એજ નામ ની Xianfan 2013 કાર્ટૂન રચના દ્વારા પ્રેરણા આપી હતી. મંદિર કાર્ટૂન એનિમેશન, પ્રકાશિત કૉમિક કાવ્યસંગ્રહો, અને તે પણ કાર્ટૂન સાધુ દર્શાવતા મર્ચેન્ડાઇઝ નિર્માણ કર્યું છે.

મિશેલ યુ, એક પ્રવાસી અને બૌદ્ધ પ્રેક્ટિસ, જણાવ્યું હતું કે તે પ્રથમ સામાજિક મીડિયા પર Xian’er દેખાયો.

“તેઓ ખરેખર સુંદર અને આનંદપ્રદ લાગે છે. તેમણે કારણ કે તેઓ તે ખૂબ જ
રસપ્રદ લાગે છે, વધુ લોકોને બોદ્ધ ધર્મ ફેલાવવા પડશે, અને તેમને ખરેખર
બોદ્ધ ધર્મ સમજવા માંગો છો કરશે,” તેમણે જણાવ્યું હતું.

મંદિર Xian’er એક નવું મોડેલ, જે તેને કહે કાર્યો વિવિધ શ્રેણી પર વધુ હોય છે વિકાસશીલ છે.

(જોસેફ કેમ્પબેલ દ્વારા અહેવાલ; સંપાદન રોબર્ટ Birsel દ્વારા)

http://www.hindustantimes.com/india/jodhpur-dalits-against-liquor-shop-say-they-ve-converted-to-buddhism/story-66WtTi1jP436dwxVFIRO1N.html
જોધપુર: એસસી / દારૂ દુકાન સામે એસટી તેઓ બોદ્ધ ધર્મ રૂપાંતરિત કર્યું કહે

એસસી / એસટી જેઓ તેમના વિસ્તારમાં દારૂની દુકાન ના ઉદઘાટન સામે વિરોધ
કરવામાં આવી છે એક જૂથ દાવો કર્યો હતો કે તેઓ બોદ્ધ ધર્મ રૂપાંતરિત છે કારણ
કે રાજ્ય વહીવટ તેમના માંગ અવગણવામાં આવી છે.

જોધપુરના Bhadasia ઉપનગર સંત રવિદાસ કોલોની ના રહેવાસીઓ દારૂ દુકાન સામે ત્રણ અઠવાડિયા માટે વિરોધ કરવામાં આવી છે.

વિરોધ નિવાસીઓ કેટલાક પણ મળ્યો પોતાને tonsured છે.

અશોક Balotia, વિરોધીઓ જે તેના માથા પરથી વાળ ઉતારતાં એક જણાવ્યું હતું
કે, તેઓ દારૂ દુકાન સામે તેમની ચળવળ ચાલુ રહેશે “શું આવે શકે છે.”

“અમે હિન્દુ માંથી રૂપાંતરણ માટે ચેતવણી આપી હતી અને ત્યારથી અમે બી.આર.
આંબેડકર અનુયાયીઓ છે, અમે તેને જેમ બોદ્ધ ધર્મ અપનાવ્યા છે,” તેમણે
જણાવ્યું હતું.

એ જ વિસ્તારમાં માંથી Bhagwanti જણાવ્યું હતું કે તેઓ કોઈપણ હદ સુધી જવા
માટે દારૂ દુકાન ના ઉદઘાટન રોકવા માટે તૈયાર હતા અને દુકાન લાયસન્સ રદ
કરતાં કંઇ ઓછા માટે સ્થાયી ન હોત.

દારૂ દુકાનો સામે આંદોલન ચાલુ રાખવા માટે

શ્રેષ્ઠ ઉકેલો બોદ્ધ ધર્મ રૂપાંતરિત છે

ટેકનો-પોલિટિકો-સામાજિક ટ્રાન્સફોર્મેશન આર્થિક મુક્તિ ચળવળ બાબાસાહેબ ડૉ
બીઆર આંબેડકર દ્વારા શરૂ, Manyawar Kanshram અને એમએસ માયાવતી અને તેમના
અનુયાયીઓ કરોડ દ્વારા અનુસરવામાં દ્વારા.

આજે નેતાઓ તેમના માથા મુંડન અને એક ઉદાહરણ સુયોજિત કરવા માટે જાગૃતિ સાથે જાગૃત એક જેવા તેમના જીવન જીવી જ જોઈએ. સમગ્ર રાષ્ટ્ર માદક તમામ પ્રકારના ખાવા ટાળવા સહિત તમામ સારી વિભાવનાના પાલન કરશે.

તમામ રાઉન્ડમાં જે નેતાઓ શાબ્દિક રોલિંગ સ્ટોન્સ જેવા રોલ તેને બદલે
પોતાની જાતિ મીડિયા અને ટીવી ચેનલોમાં blabbering ના, ઉઘાડપગું ચાલવા અને
લોકો પૂછે વપરાશ અરેક અને ધૂમ્રપાન cigarrets અને પરની એક્સાઈઝ ડ્યૂટીમાં
સહિત માદક રોકવા માટે જ જોઈએ માત્ર તેમના પોતાના કુટુંબના સભ્યો માટે અર્થ
થાય છે.

તેઓ ઘરની સ્ત્રીઓ કહેવું જ પડશે અને જ્યારે તેઓ ઉન્મત્ત છે તેમના બાળકો તેમના ઘરો અંદર તેમના માણસો લોક પરવાનગી આપવા માટે નથી. તેઓ તેમને તેમના ઘરો બહાર ફેંકવું પૂછી જ જોઈએ.

તબક્કાવાર રીતે દારૂ દુકાનો બંધ વાત તબક્કાવાર રીતે તેના બદલે એક એક શોટ એક કૂતરો પૂંછડી કાપવા જેવું છે. એ જ રીતે બધા છેતરપિંડી અનિચ્છનીય એક કાગળ મતદાન સાથે અને ભૂતપૂર્વ
સીજેઆઇ Sadasivam આદેશ આપ્યો તરીકે ભૂતપૂર્વ સીઇસી સંપત દ્વારા સૂચવવામાં
તરીકે તબક્કાવાર રીતે ન જઇ માં બદલી શકાય છે.

અનુસૂચિત જાતિ પંચના અહેવાલ: ‘એસસી એસસી ભંડોળ મળી નથી’

વિવિધ રાજકીય પક્ષો તેમના 125 મી જયંતી પર ડૉ બી આર આંબેડકર વારસો દાવો
ખૂંટા મારવા સાથે, અનુસૂચિત જાતિ પંચ દ્વારા તાજેતરની વાર્ષિક અહેવાલમાં
જાણવા મળ્યું છે કે લગભગ તમામ રાજ્યોમાં એસસી સમુદાય તરફ તેમના અંદાજપત્રીય
જવાબદારીઓ સન્માન નિષ્ફળ થયેલ છે.

તે
શીખી છે કે તેના પ્રથમ જેમ કે ઓડિટ, કમિશન, 26 રાજ્યો 2012-13ના બજેટમાં
તપાસ અને જાણવા મળ્યું કે “એસસી-ચોક્કસ” યોજના પર ખર્ચવામાં ભંડોળ માત્ર
કુલ એસસી ખાસ પ્લાન યોજના (SCSP) હેઠળ ફાળવવામાં એક નાના અપૂર્ણાંક હતી.
અહેવાલ હજુ સુધી સંસદમાં રજૂ કરવામાં આવે છે. “એસસી ચોક્કસ યોજનાઓ પર ખર્ચ માત્ર સમગ્ર દેશમાં SCSP કુલ ફાળવણી એક નાના અપૂર્ણાંક છે.

કેન્દ્રના
માર્ગદર્શિકા, બજેટ, રાજ્ય સ્પષ્ટ કરેલ વિવિધ મંત્રાલયો અને વિભાગો SCSP
હેઠળ ભંડોળ અલગ, ઓછામાં ઓછા રાજ્યોમાં સમુદાય વસ્તી પ્રમાણમાં હોય છે.
2011 ની વસતી ગણતરી અનુસાર, એસસી સમુદાય દેશની વસ્તી 16.6 ટકા હિસ્સો ધરાવે છે.

80.310
કરોડ 26 રાજ્યો 2012-13માં SCSP યોજનાઓ માટે ફાળવવામાં, જ્યારે યુપીએ
સરકાર કેન્દ્રમાં સત્તા હતી, કરોડ 61.480 રૂપિયા ખર્ચવામાં આવ્યા હતા.
જો કે, આ રકમ માત્ર 9.920 કરોડ રૂપિયા, અથવા માત્ર 12 કુલ ફાળવણી ટકા,
એસસી-ચોક્કસ યોજનાઓ ખર્ચવામાં આવી હતી અને બાકીના અન્ય યોજનાઓ વાળવામાં આવી
હતી, કમિશન મળે છે.

 “માત્ર તે યોજનાઓ SCSP જે વ્યક્તિઓ અથવા કુટુંબોની અનુસૂચિત જાતિના સુધીની ડાઇરેક્ટ લાભ ખાતરી હેઠળ સમાવેશ કરવો જોઇએ”. “SCSP ભંડોળ માત્ર એસસી માટે થાય છે, પરંતુ અન્ય વિસ્તારોમાં તરફ વાળવામાં આવે છે,”.

કમિશન ઓડિટ ફાળવણી અને ખર્ચ, અને બે વચ્ચે તફાવત પર મુખ્યત્વે ધ્યાન કેન્દ્રિત કર્યું. આ ધ્યાનમાં:

* 26 19 રાજ્યો દ્વારા SCSP માટે ફાળવવામાં ફંડ હતા, પ્રમાણ, ત્યાં એસસી સમુદાય વસ્તી કરતાં ઓછી છે.

* ખર્ચ પર, કમિશન મળ્યું છે કે 26 રાજ્યો કંઈ “એસસી ચોક્કસ યોજનાઓ” પર SCSP એકાઉન્ટ હેઠળ પણ અડધા ભંડોળ ગાળ્યા હતા. માત્ર 14 રાજ્યો “SC-ચોક્કસ યોજનાઓ” પર SCSP હેઠળ કુલ ખર્ચવામાં ભંડોળના ટકા કરતાં વધુ 10 ગાળ્યા હતા. અન્ય છ, ગુજરાત, ઉત્તરપ્રદેશ અને બિહાર સહિત SC-ચોક્કસ યોજનાઓ પર ઓછા કરતાં 20 ટકા ભંડોળ ગાળ્યા હતા. છત્તીસગઢ, પશ્ચિમ બંગાળ અને ઓરિસ્સામાં સૌથી ખરાબ પ્રદર્શન હતા.

* ત્યાં ફાળવવામાં ભંડોળ અને નાણાં એસસી યોજનાઓ ખર્ચવામાં વચ્ચે વિશાળ તફાવત છે. દાખલા તરીકે, પંજાબ ટેગ કર્યાં 28.85 રાજ્ય બજેટ ટકા SCSP હેઠળ પરંતુ માત્ર 4.81 તે ફાળવણી ટકા SC-ચોક્કસ યોજનાઓ ખર્ચવામાં.

“સામાન્ય યોજનાઓ છે અને ત્યાં એસસી ચોક્કસ યોજનાઓ છે. એસસી કમિશન યોગ્ય રીતે ભંડોળ SC-ચોક્કસ યોજનાઓ માટે અર્થ નથી વ્યાખ્યાયિત છે. અમારા ભંડોળના એસસી સુધી પહોંચે છે અને સમુદાય લાભ, “n k Aswal, અધિક મુખ્ય સચિવ, SC & ST વિકાસ, છત્તીસગઢ જણાવ્યું હતું.

કે ડી કાપડિયા, ડિરેક્ટર, ગુજરાત એસસી કલ્યાણ વિભાગ જણાવ્યું હતું કે: “અમારી રાજ્ય, એસસી વસ્તી વેરવિખેર છે. ઘણા ગામોમાં એસસી સેગમેન્ટમાં 250 થી વધુ સભ્યો છે. આ ગામો આસપાસના વિસ્તારોમાં અમલ યોજનાઓ SCSP હેઠળ વિચારણા કરવી જોઇએ. શહેરી વિસ્તારોમાં, ઘણા વાલી એસસી નોંધપાત્ર વસતી છે. શહેરી
સ્થાનિક સંસ્થાઓ ઘણા સુવિધાઓ જેમકે, શેરી પ્રકાશના, ઓવરહેડ પાણીની ટાંકી,
રોડ, ફુટપાથ, પીવાનું પાણી, ગટર, શાળાઓ, જાહેર શૌચાલય, દવાખાના, વગેરે, જેમ
કે વોર્ડમાં પૂરી પાડે છે.
આ SCSP માટે મૂડીરોકાણ સમાવેશ કરવો જોઇએ. “

કે એસ સરોજ, સચિવ, પંજાબ, (એસસી અને BCS કલ્યાણ) જણાવ્યું હતું કે: “અમે પંજાબમાં અ.જા. વસ્તી પ્રમાણમાં એસસી માટે ભંડોળ ફાળવવા. એસસી યોજનાઓ પર ખર્ચ પણ એ જ રીતે હાથ ધરવામાં આવે છે. અમે કેવી રીતે ખબર નથી કમિશન ફાળવણી અને ખર્ચ વચ્ચે જેમ અંતર જોવા મળે છે. “

કારણ
કે અમારા બંધારણમાં સ્થાપિત થઇ ગયો લોકશાહી, લિબર્ટી, સમાનતા અને બંધુત્વ
સેવ સુધી મુખ્યમંત્રી તરીકે Ms માયાવતી પ્રમાણસર Sarvajan Hithaye Sarvajan
Sukhaye IE માટે સમાજના તમામ વિભાગો વચ્ચે રાજ્ય સંપત્તિ વિતરણ, કલ્યાણ,
સુખ અને તમામ સમાજો શાંતિ માટે
. તેના શ્રેષ્ઠ શાસન કારણ કે તે આ દેશના પીએમ બનવા લાયક બની હતી.
1% અસહિષ્ણુ, હિંસક, આતંકવાદી દ્વારા ગમ્યું ન હતું, શૂટિંગ, ફાંસી, પાગલ,
માનસિક રોગીઓને આદમખોર મનોરોગી chitpawan rakshasa સ્વયંસિઘ્ધા Sevaks અને
તેના તમામ avathars ભાજપ (Bahuth Jiyadha Psychopaths), વીએચપી (હિંસક
હિન્દુત્વ મગજવાળા), ABVP ના બ્રાહ્મણો (
બધા
બ્રાહ્મણો ઝેરી Psychopaths) ભજન દળ વગેરે, 99% Sarvajan સમાજ તરફ તેમના
તિરસ્કાર કારણ કે છેતરપિંડી અનિચ્છનીય ચેડા દ્વારા તેના હરાવ્યો હતો.
પરંતુ તે સાબિત જ્યારે તે અને તેના બીએસપી યુપી પંચાયત ચૂંટણી માં બેઠકો બહુમતી જીત્યો હતો.

માત્ર
ઉકેલ કાગળ મતદાન સાથે એક તબક્કો તમામ અનિચ્છનીય બદલો અને આ બધા છેતરપિંડી
અનિચ્છનીય રીતે પસંદ સરકારોની હકાલપટ્ટી અને પછી તાજા ચૂંટણી યોજે છે.

19) Classical Punjabi

19) ਕਲਾਸੀਕਲ ਦਾ ਪੰਜਾਬੀ

1844 ਸਤਿ 23 ਅਪਰੈਲ 2016
ਸਬਕ

ਤੱਕ

ਸਮਝ-net-ਆਨਲਾਈਨ A1 (ਇਕ ਜਾਗ) ਭਗਵਤ ਰਿਸਰਚ ਅਤੇ ਪ੍ਰੈਕਟਿਸ ਯੂਨੀਵਰਸਿਟੀ
ਵਿਜ਼ੂਅਲ ਫਾਰਮੈਟ ਵਿੱਚ (FOA1TRPUVF)
http://sarvajan.ambedkar.org ਦੁਆਰਾ
aonesolarpower@gmail.com

ਕਲਾਸੀਕਲ ਬੁੱਧ (ਜਾਗਰੂਕਤਾ ਦੇ ਨਾਲ ਜਗਾਇਆ ਦੇ ਉਪਦੇਸ਼) ਸੰਸਾਰ ਨੂੰ ਨਾਲ ਸੰਬੰਧਿਤ ਹੈ, ਅਤੇ ਹਰ ਕੋਈ ਵਿਸ਼ੇਸ਼ ਅਧਿਕਾਰ ਹਨ: JC

ਇਸ Google ਅਨੁਵਾਦ ਅਤੇ ਪ੍ਰਸਾਰ ਕਰਨ ਲਈ ਇੱਕ ਦੇ ਮਾਤਾ-ਬੋਲੀ ਵਿਚ ਇਸ ਯੂਨੀਵਰਸਿਟੀ
ਦੇ ਇਕ ਸਬਕ ਦੇ ਤੌਰ ਤੇ ਸਹੀ ਅਨੁਵਾਦ ਪੇਸ਼ਕਾਰੀ ਇੱਕ ਧਾਰਾ ਨੂੰ Enterer
(Sottapanna) ਬਣਨ ਲਈ ਅਤੇ ਇੱਕ ਫਾਈਨਲ ਟੀਚਾ ਦੇ ਤੌਰ ਤੇ ਅਨਾਦਿ Bliss ਨੂੰ ਪ੍ਰਾਪਤ
ਕਰਨ ਲਈ ਹੱਕਦਾਰ.

ਜਾਗਰੂਕਤਾ ਨਾਲ ਜਗਾਇਆ ਇਕ ਦੀ ਸਿੱਖਿਆ ਦਾ ਪ੍ਰਚਾਰ ਵੈੱਬਸਾਈਟ ਦੀ ਸੂਚੀ ਭਾਵ, ਬੁੱਧ Tripitaka ਵਿਚ ਵਿਜ਼ੁਅਲ ਫਾਰਮੈਟ ਨੂੰ

http://sarvajan.ambedkar.org/?m=200907
http://wapedia.mobi/en/Buddhahood#1.
http: // ਨਿਊਜ਼. xinhuanet. com / ਅੰਗਰੇਜ਼ੀ / 2009-07 / 27 / content_11780918 .htm
www.chinaview. ਚੀਨ
www.buddhismandbusi ness.webs. com
http://www.grameenfoundation.org/welcome/google_psa/
www.grameenfoundation.org

http://plato.stanford.edu/entries/abhidharma/
http://www.taosinstitute.net/Websites/taos/images/PublicationsWorldShare/BuddhaAsTherapistMeditations_2015.pdf

http://www.audiodharma.org/series/1/talk/1839/

http://scroll.in/article/806815/in-sounding-the-bugle-for-2017-polls-in-uttar-pradesh-mayawati-did-not-spare-anyone
ਉੱਤਰ ਪ੍ਰਦੇਸ਼ ‘ਚ 2017′ ਚ ਲਈ ਬਿਗਲ ਗੂੰਜਣ ਵਿੱਚ, ਮਾਇਆਵਤੀ ਕਿਸੇ ਵੀ ਵਿਅਕਤੀ ਨੂੰ ਬਖਸ਼ਿਆ ਨਾ ਕੀਤਾ

https://in.news.yahoo.com/robot-monk-blends-science-buddhism-chinese-temple-022046666.html
ਰੋਬੋਟ ਭਿਕਸ਼ੂ ਚੀਨੀ ਮੰਦਰ ‘ਸਾਇੰਸ ਅਤੇ ਬੁੱਧ ਅਭੇਦ
http://www.hindustantimes.com/india/jodhpur-dalits-against-liquor-shop-say-they-ve-converted-to-buddhism/story-66WtTi1jP436dwxVFIRO1N.html
ਜੋਧਪੁਰ: ਸੁਪਰੀਮ / ਸ਼ਰਾਬ ਦੀ ਦੁਕਾਨ ਦੇ ਖਿਲਾਫ ਪਿਛੜੀ ਉਹ ਬੁੱਧ ਧਰਮ ਨੂੰ ਤਬਦੀਲ ਕੀਤਾ ਹੈ ਕਹਿਣਾ
https://in.news.yahoo.com/scheduled-caste-commission-report-scs-010500542.html
ਅਨੁਸੂਚਿਤ ਜਾਤੀ ਕਮਿਸ਼ਨ ਦੀ ਰਿਪੋਰਟ: ‘ਅਨੁਸੂਚਿਤ ਸੁਪਰੀਮ ਫੰਡ ਪ੍ਰਾਪਤ ਨਹੀ ਕਰਦੇ’

https://in.news.yahoo.com/robot-monk-blends-science-buddhism-chinese-temple-022046666.html
ਰੋਬੋਟ ਭਿਕਸ਼ੂ ਚੀਨੀ ਮੰਦਰ ‘ਸਾਇੰਸ ਅਤੇ ਬੁੱਧ ਅਭੇਦ
ਯੂਸੁਫ਼ ਨੇ Campbell ਕੇ
ਬਿਊਰੋ
23 ਅਪ੍ਰੈਲ 2016

https://www.rt.com/viral/340638-buddha-robot-longquan-beijing/
ਬੁੱਧ-ਬੋਟ: ਚੀਨੀ ਮੰਦਰ ਦੇ enlists ਸਿੱਖਿਆ ਨੂੰ ਉਤਸ਼ਾਹਤ ਕਰਨ ਲਈ ਮਿੰਨੀ ਭਿਕਸ਼ੂ ਰੋਬੋਟ (ਵੀਡੀਓ)
ਵੀਡੀਓ ਨੂੰ ਦੇਖਣ ਕਰੋ:
https://www.rt.com/viral/340638-buddha-robot-longquan-beijing/

Xian’er ਮੰਦਰ ਨੂੰ ਦੇ ਆਪਣੇ ਕਾਰਟੂਨ ਕਹਿੰਦੇ ਲੜੀ ‘, ਸਮੱਸਿਆ ਦਾ ਇੱਕ ਪ੍ਰਸਿੱਧ ਅੱਖਰ’ ਤੇ ਆਧਾਰਿਤ ਹੈ, ਤੂੰ ਆਪ ਲਈ ਭਾਲੋ. Xianfan CNTV ਅਨੁਸਾਰ ਉਭਾਰੋ ਅਤੇ ਨਵ ਮੀਡੀਆ ਦੁਆਰਾ ਸਮਕਾਲੀ ਸਭਿਆਚਾਰ ਨਾਲ ਬੁੱਧ ਧਰਮ ਦੇ ਕੁਨੈਕਸ਼ਨ ਨੂੰ ਵਿਕਸਤ ਕਰਨ ਦੀ ਲੜੀ ਵਿਕਸਤ,.

Xian’er ਰੋਬੋਟ ਨੂੰ ਇੱਕ ਤਕਨੀਕੀ ਕੰਪਨੀ ਸਹਿਯੋਗ ਅਤੇ ਚੀਨੀ ਯੂਨੀਵਰਸਿਟੀ ਤੱਕ AI
ਮਾਹਰ ਦੇ ਨਾਲ ਤਿਆਰ ਕੀਤਾ ਗਿਆ ਸੀ, ਅਤੇ ਮੰਦਰ ਵੇਲੇ ਫੰਕਸ਼ਨ ਦੀ ਇੱਕ ਵਿਆਪਕ ਸੀਮਾ ਹੈ,
ਦੇ ਨਾਲ ਇੱਕ ਨਵ ਮਾਡਲ ਦਾ ਵਿਕਾਸ ਹੁੰਦਾ ਹੈ.

ਮਾਸਟਰ Xianfan ਰੋਬੋਟ ਭਿਕਸ਼ੂ Xian’er ‘ਤੇ ਵੇਖਦਾ ਹੈ ਕਿ ਉਹ ਬੀਜਿੰਗ, 20
ਅਪ੍ਰੈਲ, 2016 REUTERS / ਕਿਮ Kyung-ਹੂੰ ਦੇ ਬਾਹਰਵਾਰ Longquan ਬੋਧੀ ਮੰਦਰ ਵਿੱਚ
ਇੱਕ ਫੋਟੋ ਮੌਕਾ ਦੌਰਾਨ ਰੋਬੋਟ ਦੀ ਗੱਲਬਾਤ ਫੰਕਸ਼ਨ ਜ਼ਾਹਰ

ਯੂਸੁਫ਼ ਨੇ Campbell ਕੇ

ਬੀਜਿੰਗ (ਬਿਊਰੋ) - ਬੀਜਿੰਗ ਦੇ ਬਾਹਰਵਾਰ ਇਕ ਬੋਧੀ ਮੰਦਰ ਦੇ ਚੇਲੇ ਨੂੰ ਆਕਰਸ਼ਿਤ ਕਰਨ ਲਈ ਤਕਨਾਲੋਜੀ ਵਰਤਣ ਦਾ ਫੈਸਲਾ ਕੀਤਾ ਹੈ.

Longquan ਮੰਦਰ ਨੂੰ ਇਸ ਨੂੰ ਇੱਕ ਰੋਬੋਟ ਭਿਕਸ਼ੂ ਹੈ, ਜੋ ਕਿ ਬੋਧੀ Suttas ਉਚਾਰਨ
ਕਰ, ਅਵਾਜ਼ ਹੁਕਮ ਦੁਆਰਾ ਪ੍ਰੇਰਿਤ ਕਰ ਸਕਦਾ ਹੈ, ਅਤੇ ਇੱਕ ਸਧਾਰਨ ਗੱਲਬਾਤ ਨੂੰ ਰੱਖਣ
ਨੂੰ ਤਿਆਰ ਕੀਤਾ ਹੈ ਕਹਿੰਦਾ ਹੈ.

ਨਾਮ Xian’er, 2-ਪੈਰ ਲੰਬਾ ਰੋਬੋਟ ਨੂੰ ਇੱਕ ਮੁਨਾਉਣਾ ਦੇ ਸਿਰ ਦੇ ਨਾਲ ਪੀਲੇ ਬਸਤਰ
ਵਿਚ ਇਕ ਕਾਰਟੂਨ-ਵਰਗੇ ਨਿਹਚਾਵਾਨ ਭਿਕਸ਼ੂ ਨਾਲ ਰਲਦਾ ਹੈ, ਉਸ ਦੀ ਛਾਤੀ ‘ਤੇ ਇੱਕ ਟੱਚ
ਸਕਰੀਨ ਰੱਖਣ.

Xian’er ਆਪਣੀ ਸਕਰੀਨ ‘ਤੇ ਸੂਚੀਬੱਧ ਬੁੱਧ ਅਤੇ ਰੋਜ਼ਾਨਾ ਦੀ ਜ਼ਿੰਦਗੀ ਦੇ ਬਾਰੇ ਦੇ
ਬਾਰੇ 20 ਸਵਾਲ, ਜਵਾਬ ਦੇ ਕੇ ਇੱਕ ਗੱਲਬਾਤ ਨੂੰ ਰੱਖਣ, ਅਤੇ ਉਸ ਦੇ ਪਹੀਏ’ ਤੇ ਮੋਸ਼ਨ
ਦੇ ਸੱਤ ਕਿਸਮ ਕਰ ਸਕਦੇ ਹੋ.

ਮਾਸਟਰ Xianfan, Xian’er ਦੇ ਸਿਰਜਣਹਾਰ, ਨੇ ਕਿਹਾ ਕਿ ਰੋਬੋਟ ਭਿਕਸ਼ੂ ਵਿਗਿਆਨ ਅਤੇ
ਬੁੱਧ ਧਰਮ ਦੇ fusion ਦੁਆਰਾ, ਚੀਨ ਵਿੱਚ ਬੁੱਧ ਧਰਮ ਦਾ ਗਿਆਨ ਫੈਲਾਉਣ ਲਈ ਸੰਪੂਰਣ
ਕੰਮਾ ਸੀ.

“ਵਿਗਿਆਨ ਅਤੇ ਬੁੱਧ ਧਰਮ ਦਾ ਵਿਰੋਧ ਕਰ ਰਹੇ ਹਨ, ਨਾ ਅਤੇ ਨਾ ਹੀ ਉਲਟ ਹੈ, ਅਤੇ ਜੋੜਿਆ ਜਾ ਸਕਦਾ ਹੈ ਅਤੇ ਆਪਸੀ ਅਨੁਕੂਲ,” Xianfan ਨੇ ਕਿਹਾ.

ਬੁੱਧ ਧਰਮ ਹੌਲੀ-ਹੌਲੀ ਹੈ, ਕਿਉਕਿ ਸੁਧਾਰ ਕਈ ਦਹਾਕੇ ago ਜਾ ਰਿਹਾ ਮਿਲੀ ਰੋਜ਼ਾਨਾ ਜੀਵਨ ਵਿੱਚ ਵਧ ਗਈ ਹੈ.

Xianfan ਬੁੱਧ ਇੱਕ ਤੇਜ਼-ਬਦਲ ਰਹੇ, ਸਮਾਰਟ-ਫੋਨ ‘ਪ੍ਰਧਾਨ ਸਮਾਜ ਵਿਚ ਲੋਕ ਲਈ ਇੱਕ ਪਾੜਾ ਭਰ ਨੇ ਕਿਹਾ ਹੈ.

“ਬੁੱਧ ਜੋ ਕਿ ਕੁਝ ਅੰਦਰੂਨੀ ਦਿਲ ਨੂੰ ਬਹੁਤ ਮਹੱਤਵ ਜੋੜਦਾ ਹੈ, ਅਤੇ ਿਵਅਕਤੀ ਦੀ ਰੂਹਾਨੀ ਸੰਸਾਰ ਵੱਲ ਧਿਆਨ ਹੀ ਅਦਾਇਗੀ ਕਰਦਾ ਹੈ,” ਉਸ ਨੇ ਕਿਹਾ.

“ਇਹ ਉੱਚੇ ਸਭਿਆਚਾਰ ਦੀ ਇੱਕ ਕਿਸਮ ਦੀ ਹੈ. ਇਸ ਸੰਦਰਭ, ਮੈਨੂੰ ਲੱਗਦਾ ਹੈ ਕਿ ਇਹ ਬਹੁਤ ਸਾਰੇ ਲੋਕ ਦੀ ਲੋੜ ਨੂੰ ਪੂਰੀ ਕਰ ਸਕਦਾ ਹੈ ਤੱਕ ਬੋਲਣਾ.”

ਥੋੜ੍ਹਾ ਰੋਬੋਟ ਭਿਕਸ਼ੂ ਇੱਕ ਤਕਨੀਕੀ ਕੰਪਨੀ ਅਤੇ ਚੀਨ ਦੇ ਚੋਟੀ ਦੇ ਯੂਨੀਵਰਸਿਟੀ ਦੇ
ਕੁਝ ਤੱਕ ਨਕਲੀ ਖੁਫੀਆ ਮਾਹਰ ਵਿਚਕਾਰ ਇੱਕ ਜੁਆਇੰਟ ਪ੍ਰਾਜੈਕਟ ਦੇ ਤੌਰ ‘ਤਿਆਰ ਕੀਤਾ ਗਿਆ
ਸੀ.

ਇਹ ਅਕਤੂਬਰ ‘ਚ ਜਨਤਾ ਨੂੰ ਨਸ਼ਰ ਕੀਤਾ ਗਿਆ ਸੀ.

ਪਰ Xian’er ਜ਼ਰੂਰੀ ਸਮਾਜਿਕ ਤਿਤਲੀ ਬਹੁਤ ਸਾਰੇ ਉਸ ਨੂੰ ਹੋਣ ਦਾ ਵਿਸ਼ਵਾਸ ਨਾ ਹੈ.

ਉਸ ਨੇ ਕਈ ਰੋਬਟ ਅਤੇ ਚੀਨ ਦੇ ਪਾਰ ਨਵੀਨਤਾ ਮੇਲੇ ਦਾ ਦੌਰਾ ਕੀਤਾ ਹੈ, ਪਰ ਘੱਟ ਹੀ Longquan ਮੰਦਰ ‘ਜਨਤਕ ਰੂਪ ਬਣਾ ਦਿੰਦਾ ਹੈ.

Xian’er, ਉਸ ਦਿਨ ਇੱਕ ਦੇ ਦਫ਼ਤਰ ਵਿੱਚ ਇੱਕ ਸ਼ੈਲਫ ‘ਤੇ “ਦਾ ਸਿਮਰਨ” ਦੇ ਸਭ ਬਤੀਤ ਪਰ ਫਿਰ ਵੀ ਉਸ ਬਾਰੇ ਉਤਸੁਕਤਾ ਸੋਸ਼ਲ ਮੀਡੀਆ’ ਤੇ ਧਮਾਕਾ ਕੀਤਾ ਹੈ.

Xian’er ਇਸੇ ਨਾਮ ਦੇ Xianfan ਦੇ 2013 ਕਾਰਟੂਨ ਸ੍ਰਿਸ਼ਟੀ ਦੁਆਰਾ ਪ੍ਰੇਰਿਤ ਕੀਤਾ ਗਿਆ ਸੀ. ਮੰਦਰ ਦੇ ਕਾਰਟੂਨ ਐਨੀਮੇਸ਼ਨ, ਪ੍ਰਕਾਸ਼ਿਤ ਕਾਮਿਕ ਲੁਕ ‘, ਅਤੇ ਇਹ ਵੀ ਕਾਰਟੂਨ ਭਿਕਸ਼ੂ ਦੀ ਵਿਸ਼ੇਸ਼ਤਾ ਨੂੰ ਮੰਡੀ ਪੈਦਾ ਕੀਤਾ ਹੈ.

ਮਿਸ਼ੇਲ ਯੂ, ਇਕ ਸੈਲਾਨੀ ਅਤੇ ਬੋਧੀ ਅਭਿਆਸ, ਨੇ ਕਿਹਾ ਕਿ ਉਹ ਪਹਿਲੀ ਸੋਸ਼ਲ ਮੀਡੀਆ ‘ਤੇ Xian’er ਦੇਖਿਆ.

“ਉਹ ਅਸਲ ਵਿੱਚ cute ਅਤੇ ਸਤਿਕਾਰਯੋਗ ਦਿਸਦਾ ਹੈ. ਉਸ ਨੇ ਬਾਅਦ ਉਹ ਉਸ ਨੂੰ ਬਹੁਤ ਹੀ
ਦਿਲਚਸਪ ਹੈ ਸੋਚਦਾ ਹੈ, ਹੋਰ ਲੋਕ ਨੂੰ ਬੁੱਧ ਫੈਲ ਹੋਵੋਗੇ, ਅਤੇ ਅਸਲ ਵਿੱਚ ਬੁੱਧ ਧਰਮ
ਨੂੰ ਸਮਝਣ ਲਈ ਚਾਹੁੰਦੇ ਕਰ ਦੇਵੇਗਾ,” ਉਸ ਨੇ ਕਿਹਾ.

ਮੰਦਰ ਦੇ Xian’er ਦੀ ਇੱਕ ਨਵ ਮਾਡਲ ਹੈ, ਜੋ ਕਿ ਇਸ ਨੂੰ ਕਹਿੰਦਾ ਹੈ ਫੰਕਸ਼ਨ ਦੀ ਇੱਕ ਹੋਰ ਵੰਨ ਸੀਮਾ ਹੋਵੇਗੀ ਵਿਕਾਸ ਹੁੰਦਾ ਹੈ.

(ਯੂਸੁਫ਼ Campbell ਕੇ ਰਿਪੋਰਟਿੰਗ; ਸੋਧ ਰਾਬਰਟ Birsel ਕੇ)

http://www.hindustantimes.com/india/jodhpur-dalits-against-liquor-shop-say-they-ve-converted-to-buddhism/story-66WtTi1jP436dwxVFIRO1N.html
ਜੋਧਪੁਰ: ਸੁਪਰੀਮ / ਸ਼ਰਾਬ ਦੀ ਦੁਕਾਨ ਦੇ ਖਿਲਾਫ ਪਿਛੜੀ ਉਹ ਬੁੱਧ ਧਰਮ ਨੂੰ ਤਬਦੀਲ ਕੀਤਾ ਹੈ ਕਹਿਣਾ

ਸੁਪਰੀਮ / ਪਿਛੜੀ ਜੋ ਆਪਣੇ ਇਲਾਕੇ ਵਿਚ ਇਕ ਸ਼ਰਾਬ ਦੀ ਦੁਕਾਨ ਦੇ ਪਹਿਲੇ ਦੇ ਖਿਲਾਫ
ਵਿਰੋਧ ਕੀਤਾ ਗਿਆ ਹੈ, ਦੇ ਇਕ ਸਮੂਹ ਨੇ ਦਾਅਵਾ ਕੀਤਾ ਕਿ ਉਹ ਬੁੱਧ ਧਰਮ ਨੂੰ ਤਬਦੀਲ
ਕੀਤਾ ਹੈ ਦੇ ਰੂਪ ਵਿੱਚ ਸੂਬੇ ਦੇ ਪ੍ਰਸ਼ਾਸਨ ਦੀ ਮੰਗ ਨੂੰ ਰੱਦ ਕਰ ਦਿੱਤਾ ਗਿਆ ਹੈ.

ਜੋਧਪੁਰ ਦੇ Bhadasia ਉਪਨਗਰ ਵਿਚ ਸੰਤ ਰਵਿਦਾਸ ਕਲੋਨੀ ਦੇ ਵਸਨੀਕ ਸ਼ਰਾਬ ਦੀ ਦੁਕਾਨ ਦੇ ਖਿਲਾਫ ਤਿੰਨ ਹਫ਼ਤੇ ਲਈ ਵਿਰੋਧ ਕੀਤਾ ਗਿਆ ਹੈ.

ਵਿਰੋਧ ਵਸਨੀਕ ਦੇ ਕੁਝ ਨੂੰ ਵੀ ਲਿਆ ਆਪਣੇ ਆਪ ਨੂੰ ਮੁਨਾਏ ਹੈ.

ਅਸ਼ੋਕ Balotia, ਪ੍ਰਦਰਸ਼ਨਕਾਰੀ ਜੋ ਉਸ ਦੇ ਸਿਰ ਮੁਨਾਉਣਾ ਦੇ ਇੱਕ, ਨੇ ਕਿਹਾ ਕਿ ਉਹ
ਸ਼ਰਾਬ ਦੀ ਦੁਕਾਨ ਦੇ ਖਿਲਾਫ ਆਪਣੇ ਅੰਦੋਲਨ ਨੂੰ ਜਾਰੀ ਰਹੇਗੀ “ਆ, ਕੀ ਹੋ ਸਕਦਾ ਹੈ”.

“ਸਾਨੂੰ ਹਿੰਦੂ ਧਰਮ ਤੱਕ ਬਦਲਣ ਦੀ ਚੇਤਾਵਨੀ ਦਿੱਤੀ ਸੀ ਅਤੇ ਬਾਅਦ ਸਾਨੂੰ ਅੰਬੇਦਕਰ ਦੇ ਚੇਲੇ ਹਨ, ਸਾਨੂੰ ਉਸ ਵਰਗੇ ਬੁੱਧ ਨੂੰ ਅਪਣਾਇਆ ਹੈ,” ਉਸ ਨੇ ਕਿਹਾ.

ਉਸੇ ਹੀ ਇਲਾਕੇ ਤੱਕ ਭਗਵੰਤੀ ਨੇ ਕਿਹਾ ਕਿ ਉਹ ਕਿਸੇ ਵੀ ਹੱਦ ਤੱਕ ਜਾਣ ਲਈ ਸ਼ਰਾਬ ਦੀ
ਦੁਕਾਨ ਦੇ ਉਦਘਾਟਨ ਨੂੰ ਰੋਕਣ ਲਈ ਤਿਆਰ ਸਨ ਅਤੇ ਦੁਕਾਨ ਦਾ ਲਾਇਸੰਸ ਰੱਦ ਵੱਧ ਘੱਟ ਕੁਝ
ਵੀ ਕਰਨ ਲਈ ਵਸਣ ਨਾ ਹੋਵੇਗਾ.

ਸ਼ਰਾਬ ਦੁਕਾਨਾ ਦੇ ਖਿਲਾਫ ਅੰਦੋਲਨ ਨੂੰ ਜਾਰੀ ਰੱਖਣ ਲਈ

ਵਧੀਆ ਹੱਲ ਬੁੱਧ ਨੂੰ ਤਬਦੀਲ ਕਰਨ ਲਈ ਹੈ

ਟੈਕਨੋ-ਸਿਆਸੀ-ਸਮਾਜਿਕ ਤਬਦੀਲੀ ਆਰਥਿਕ ਮੁਕਤੀ ਅੰਦੋਲਨ ਬਾਬਾ ਡਾ ਅੰਬੇਦਕਰ ਦੇ ਕੇ
ਸ਼ੁਰੂ ਕੀਤੀ, Manyawar Kanshram ਅਤੇ ਸ੍ਰੀਮਤੀ ਮਾਇਆਵਤੀ ਅਤੇ ਆਪਣੇ ਚੇਲੇ ਦੇ ਕਰੋੜ
ਦੇ ਬਾਅਦ ਹੈ.

ਅੱਜ ਦੇ ਆਗੂ ਆਪਣੇ ਸਿਰ tonsure ਅਤੇ ਇੱਕ ਮਿਸਾਲ ਕਾਇਮ ਕਰਨ ਲਈ ਜਾਗਰੂਕਤਾ ਦੇ ਨਾਲ ਜਗਾਇਆ ਇਕ ਵਰਗੇ ਆਪਣੇ ਜੀਵਨ ਦੀ ਅਗਵਾਈ ਕਰਨੀ ਚਾਹੀਦੀ ਹੈ. ਸਾਰੀ ਕੌਮ ਵੀ ਨਸ਼ਾ ਦੇ ਸਾਰੇ ਮਨੁੱਖ ਖਾਣਾ ਹਟ ਸਮੇਤ ਸਾਰੇ ਚੰਗਾ ਨਸੀਹਤ ਦੀ ਪਾਲਣਾ ਕਰੇਗਾ.

ਸਾਰੇ ਦੌਰ ਦੇ ਆਗੂ ਜੋ ਸ਼ਾਬਦਿਕ ਰੋਲਿੰਗ ਪੱਥਰ ਵਰਗੇ ਰੋਲ ਦੀ ਬਜਾਏ ਆਪਣੇ ਹੀ ਜਾਤ
ਮੀਡੀਆ ਅਤੇ ਟੀ.ਵੀ. ਚੈਨਲ ਵਿੱਚ blabbering ਦੀ, ਨੰਗੇ ਤੁਰ ਅਤੇ ਲੋਕ ਮੰਗ ਕਰ ਬਰਬਾਦ
arrack ਅਤੇ ਸਿਗਰਟ cigarrets ਅਤੇ ਤੰਬਾਕੂ ਦੇ ਸਮੇਤ ਨਸ਼ਾ ਰੋਕਣ ਲਈ ਜਰੂਰੀ ਹੈ ਕਿ
ਸਿਰਫ ਆਪਣੇ ਹੀ ਪਰਿਵਾਰ ਦੇ ਲਈ.

ਉਹ ਪਰਿਵਾਰ ਨੂੰ ਮਹਿਲਾ ਨੂੰ ਦੱਸਣਾ ਚਾਹੀਦਾ ਹੈ ਅਤੇ ਜਦ ਉਹ ਨਸ਼ੇ ਹਨ ਆਪਣੇ ਬੱਚੇ ਨੂੰ ਆਪਣੇ ਘਰ ਦੇ ਅੰਦਰ ਆਪਣੇ ਲੋਕ ਲੋਕ ਮਨਜੂਰ ਕਰਨ ਲਈ ਨਾ. ਉਹ ਆਪਣੇ ਘਰ ਦੇ ਬਾਹਰ ਸੁੱਟ ਕਰਨ ਦੀ ਮੰਗ ਕਰਨੀ ਚਾਹੀਦੀ ਹੈ.

ਪੜਾਅਵਾਰ ਢੰਗ ਨਾਲ ਸ਼ਰਾਬ ਦੁਕਾਨਾ ਦੇ ਬੰਦ ਦੀ ਗੱਲ ਕਰ ਪੜਾਅਵਾਰ ਢੰਗ ਨਾਲ ਦੀ ਬਜਾਏ ਇੱਕ ਸਿੰਗਲ ਸ਼ਾਟ ਵਿੱਚ ਇੱਕ ਕੁੱਤੇ ਦੀ ਪੂਛ ਕੱਟਣ ਦੇ ਬਰਾਬਰ ਹੈ. ਇਸੇ ਸਭ ਨੂੰ ਧੋਖਾਧੜੀ ਈਵੀਐਮ ਇੱਕ ਕਾਗਜ਼ ਵੋਟ ਦੇ ਨਾਲ ਹੈ ਅਤੇ ਸਾਬਕਾ ਚੀਫ ਜਸਟਿਸ
Sadasivam ਦਾ ਹੁਕਮ ਦੇ ਤੌਰ ਤੇ ਸਾਬਕਾ ਸੀਈਸੀ ਸੰਪਤ ਨੇ ਸੁਝਾਅ ਦੇ ਤੌਰ ਤੇ ਪੜਾਅਵਾਰ
ਢੰਗ ਨਾਲ ਨਾ ਜਾਓ ਵਿੱਚ ਤਬਦੀਲ ਕੀਤਾ ਜਾ ਕਰਨ ਦੀ ਹੈ.

ਅਨੁਸੂਚਿਤ ਜਾਤੀ ਕਮਿਸ਼ਨ ਦੀ ਰਿਪੋਰਟ: ‘ਅਨੁਸੂਚਿਤ ਸੁਪਰੀਮ ਫੰਡ ਪ੍ਰਾਪਤ ਨਹੀ ਕਰਦੇ’

ਵੱਖ-ਵੱਖ ਸਿਆਸੀ ਧਿਰ ਨੇ ਆਪਣੇ 125 ਜਨਮ ਦਿਵਸ ‘ਤੇ ਡਾ ਬੀ ਆਰ ਅੰਬੇਦਕਰ ਦੀ ਵਿਰਾਸਤ
ਦਾ ਦਾਅਵਾ staking ਨਾਲ, ਅਨੁਸੂਚਿਤ ਜਾਤੀ ਕਮਿਸ਼ਨ ਦੁਆਰਾ ਤਾਜ਼ਾ ਸਾਲਾਨਾ ਰਿਪੋਰਟ ਪਤਾ
ਲੱਗਿਆ ਹੈ ਕਿ ਲਗਭਗ ਸਾਰੇ ਰਾਜ ਅਨੁਸੂਚਿਤ ਭਾਈਚਾਰੇ ਵੱਲ ਆਪਣੇ ਬਜਟ ਵਚਨਬੱਧਤਾ ਦਾ
ਸਨਮਾਨ ਕਰਨ ਲਈ ਫੇਲ੍ਹ ਹੈ.

ਇਹ
ਪਤਾ ਲੱਗਾ ਹੈ ਕਿ ਇਸ ਦੇ ਪਹਿਲੇ ਅਜਿਹੇ ਆਡਿਟ ਵਿੱਚ, ਕਮਿਸ਼ਨ 26 ਰਾਜ ਦੇ 2012-13 ਦੇ
ਬਜਟ ਨੂੰ ਸਵਾਲ ਅਤੇ ਇਹ ਪਤਾ ਲੱਗਿਆ ਹੈ ਕਿ “ਸੁਪਰੀਮ-ਖਾਸ” ਇਸ ਸਕੀਮ ‘ਤੇ ਖਰਚ ਫੰਡ
ਸਿਰਫ ਕੁੱਲ ਅਨੁਸੂਚਿਤ ਵਿਸ਼ੇਸ਼ ਯੋਜਨਾ (ਐਸ.ਸੀ.ਐਸ.ਪੀ) ਤਹਿਤ ਅਲਾਟ ਦੇ ਇੱਕ ਛੋਟੇ
ਜਿਹੇ ਹਿੱਸੇ ਨੂੰ ਹੀ ਸੀ.
ਦੀ ਰਿਪੋਰਟ ਨੂੰ ਅਜੇ ਸੰਸਦ ਵਿਚ ਪੇਸ਼ ਕੀਤਾ ਗਿਆ ਹੈ. “ਸੁਪਰੀਮ-ਖਾਸ ਸਕੀਮ ਤੇ ਖਰਚ ਹੁਣੇ ਹੀ ਦੇਸ਼ ਭਰ ਐਸ.ਸੀ.ਐਸ.ਪੀ ਨੂੰ ਕੁੱਲ ਵੰਡ ਦਾ ਇੱਕ ਛੋਟਾ ਜਿਹਾ ਹਿੱਸਾ ਹੈ.

ਸਰਕਾਰ
ਦੇ ਦਿਸ਼ਾ, ਬਜਟ, ਰਾਜ ਵਿੱਚ ਦਿੱਤਾ ਵੱਖ-ਵੱਖ ਮੰਤਰਾਲੇ ਅਤੇ ਵਿਭਾਗ ਐਸ.ਸੀ.ਐਸ.ਪੀ
ਅਧੀਨ ਫੰਡ ਕਰਨ ਲਈ, ‘ਤੇ ਘੱਟੋ ਘੱਟ ਰਾਜ ਅਮਰੀਕਾ ਵਿੱਚ ਭਾਈਚਾਰੇ ਦੀ ਆਬਾਦੀ ਦੇ ਅਨੁਪਾਤ
ਵਿਚ ਹੈ, ਜੋ ਕਿ.
ਮਰਦਮਸ਼ੁਮਾਰੀ, 2011 ਦੇ ਅਨੁਸਾਰ, ਸੁਪਰੀਮ ਭਾਈਚਾਰੇ ਨੂੰ ਦੇਸ਼ ਦੀ ਆਬਾਦੀ ਦਾ 16.6 ਫੀਸਦੀ ਬਣਦਾ ਹੈ.

80.310
ਕਰੋੜ ਰੁਪਏ ਦੇ 26 ਰਾਜ 2012-13 ‘ਚ ਐਸ.ਸੀ.ਐਸ.ਪੀ ਸਕੀਮ ਨੂੰ ਅਲਾਟ ਹੈ, ਜਦ ਯੂਪੀਏ
ਸਰਕਾਰ’ ਤੇ ਸੱਤਾ ‘ਚ ਸੀ, ਕਰੋੜ 61.480 ਰੁਪਏ ਖਰਚ ਕੀਤਾ ਗਿਆ ਸੀ.
ਪਰ, ਇਹ ਰਕਮ ਸਿਰਫ 9.920 ਕਰੋੜ ਰੁਪਏ, ਜ ਲਈ ਸਿਰਫ 12 ਕੁੱਲ ਵੰਡ ਫੀਸਦੀ ਦੀ,
ਐਸ.ਸੀ.-ਖਾਸ ਸਕੀਮ ‘ਤੇ ਖਰਚ ਕੀਤਾ ਗਿਆ ਸੀ ਅਤੇ ਬਾਕੀ ਹੋਰ ਸਕੀਮ ਨੂੰ ਮੋੜ ਦਿੱਤਾ ਗਿਆ
ਸੀ, ਕਮਿਸ਼ਨ ਮਿਲਿਆ.

 “ਸਿਰਫ ਉਹ ਸਕੀਮ ਐਸ.ਸੀ.ਐਸ.ਪੀ ਹੈ, ਜੋ ਕਿ ਵਿਅਕਤੀ ਜ ਪਰਿਵਾਰ ਅਨੁਸੂਚਿਤ ਨਾਲ ਸਬੰਧਤ ਕਰਨ ਲਈ ਸਿੱਧੇ ਲਾਭ ਯਕੀਨੀ ਬਣਾਉਣ ਦੇ ਤਹਿਤ ਸ਼ਾਮਲ ਕੀਤਾ ਜਾਵੇ”. “ਐਸ.ਸੀ.ਐਸ.ਪੀ ਫੰਡ ਸਿਰਫ ਅਨੁਸੂਚਿਤ ਲਈ ਹਨ, ਪਰ ਹੋਰ ਖੇਤਰ ਨੂੰ ਮੋੜ ਰਹੇ ਹਨ,”.

ਕਮਿਸ਼ਨ ਦੇ ਆਡਿਟ ਵੰਡ ਅਤੇ ਖਰਚ, ਅਤੇ ਦੋ ਵਿਚਕਾਰ ਪਾੜਾ ਤੇ ਮੁੱਖ ਤੌਰ ‘ਤੇ ਧਿਆਨ. ਇਹ ਵਿਚਾਰ ਕਰੋ:

* 26 ਦੇ 19 ਰਾਜ ਦੇ ਐਸ.ਸੀ.ਐਸ.ਪੀ ਲਈ ਅਲਾਟ ਫੰਡ ਸਨ, ਅਨੁਪਾਤ, ਉੱਥੇ ਸੁਪਰੀਮ ਭਾਈਚਾਰੇ ਦੀ ਆਬਾਦੀ ਵੱਧ ਘੱਟ ਹੈ.

* ਖਰਚ ‘ਤੇ, ਕਮਿਸ਼ਨ ਨੇ ਪਾਇਆ ਕਿ 26 ਰਾਜ ਦਾ ਕੋਈ ਵੀ “ਐਸ.ਸੀ.-ਖਾਸ ਸਕੀਮ’ ਤੇ ਐਸ.ਸੀ.ਐਸ.ਪੀ ਖਾਤੇ ਦੇ ਅਧੀਨ ਵੀ ਅੱਧੇ ਫੰਡ ਖਰਚ ਕੀਤੇ. ਬਸ 14 ਵਿਚ ਲਿਖਿਆ ਹੈ: “ਸੁਪਰੀਮ-ਖਾਸ ਸਕੀਮ ‘ਤੇ ਐਸ.ਸੀ.ਐਸ.ਪੀ ਅਧੀਨ ਕੁੱਲ ਖਰਚ ਫੰਡ ਫੀਸਦੀ ਵੱਧ 10 ਖਰਚ. ਛੇ ਹੋਰ, ਗੁਜਰਾਤ, ਉੱਤਰ ਪ੍ਰਦੇਸ਼ ਅਤੇ ਬਿਹਾਰ ਸਮੇਤ, ਸੁਪਰੀਮ-ਖਾਸ ਸਕੀਮ ਤੇ ਘੱਟ 20 ਫੀਸਦੀ ਫੰਡ ਖਰਚ ਕੀਤੇ. ਛੱਤੀਸਗੜ੍ਹ, ਪੱਛਮੀ ਬੰਗਾਲ ਅਤੇ ਉੜੀਸਾ ਬੁਰਾ ਕੰਮ ਸਨ.

* ਉੱਥੇ ਅਲਾਟ ਫੰਡ ਅਤੇ ਪੈਸੇ ਐਸ.ਸੀ. ਸਕੀਮ ‘ਤੇ ਖਰਚ ਦੇ ਵਿਚਕਾਰ ਇੱਕ ਵਿਆਪਕ ਫਰਕ ਹੈ. ਮਿਸਾਲ ਲਈ, ਪੰਜਾਬ ਦੇ ਟੈਗ 28,85 ਨੂੰ ਸੂਬੇ ਦੇ ਬਜਟ ਫੀਸਦੀ ਐਸ.ਸੀ.ਐਸ.ਪੀ ਅਧੀਨ ਪਰ
ਹੁਣੇ ਹੀ 4.81 ਹੈ, ਜੋ ਕਿ ਵੰਡ ਦੀ ਫੀਸਦੀ ਅਨੁਸੂਚਿਤ-ਖਾਸ ਸਕੀਮ ‘ਤੇ ਖਰਚ.

“ਆਮ ਸਕੀਮ ਵੀ ਹੁੰਦੇ ਹਨ ਅਤੇ ਸੁਪਰੀਮ-ਖਾਸ ਸਕੀਮ ਹਨ. ਸੁਪਰੀਮ ਕਮਿਸ਼ਨ ਠੀਕ ਫੰਡ ਸੁਪਰੀਮ-ਖਾਸ ਸਕੀਮ ਲਈ ਹੈ, ਨਾ ਪਰਿਭਾਸ਼ਿਤ ਕੀਤਾ ਹੈ. ਸਾਡਾ ਫੰਡ ਅਨੁਸੂਚਿਤ ਪਹੁੰਚਣ ਰਹੇ ਹਨ ਅਤੇ ਭਾਈਚਾਰੇ ਨੂੰ ਫਾਇਦਾ, “N ਕਸ਼ਮੀਰ
Aswal, ਵਧੀਕ ਮੁੱਖ ਸਕੱਤਰ, ਅਨੁਸੂਚਿਤ ਅਤੇ ਜਨਜਾਤੀ ਵਿਕਾਸ, ਛੱਤੀਸਗੜ੍ਹ ਨੇ ਕਿਹਾ.

ਕਸ਼ਮੀਰ ਡੀ ਕਪਾਡੀਆ, ਡਾਇਰੈਕਟਰ, ਗੁਜਰਾਤ ਸੁਪਰੀਮ ਭਲਾਈ ਵਿਭਾਗ, ਨੇ ਕਿਹਾ: “ਸਾਡੇ ਰਾਜ ਵਿੱਚ, ਅਨੁਸੂਚਿਤ ਆਬਾਦੀ ਖਿੱਲਰ ਗਿਆ ਹੈ. ਕਈ ਪਿੰਡ ਅਨੁਸੂਚਿਤ ਹਿੱਸੇ ਵਿਚ ਜ਼ਿਆਦਾ 250 ਅੰਗ ਹਨ. ਇਹ ਪਿੰਡ ਦੇ ਆਲੇ ਦੁਆਲੇ ਦੇ ਖੇਤਰ ਵਿੱਚ ਲਾਗੂ ਸਕੀਮ ਐਸ.ਸੀ.ਐਸ.ਪੀ ਅਧੀਨ ਮੰਨਿਆ ਜਾਣਾ ਚਾਹੀਦਾ ਹੈ. ਸ਼ਹਿਰੀ ਖੇਤਰ ਵਿੱਚ, ਬਹੁਤ ਸਾਰੇ ਵਾਰਡ ਅਨੁਸੂਚਿਤ ਦੀ ਇੱਕ ਮਹੱਤਵਪੂਰਨ ਆਬਾਦੀ ਹੈ. ਸ਼ਹਿਰੀ
ਸਥਾਨਕ ਸਰਕਾਰ ਨੂੰ ਕਈ ਸਹੂਲਤ ਭਾਵ, ਗਲੀ ਰੌਸ਼ਨੀ, ਓਵਰਹੈੱਡ ਪਾਣੀ ਦੀ ਕੁੰਡ, ਸੜਕ,
ਫੁੱਟਪਾਥ ਬਣਾਏ, ਪੀਣ ਵਾਲੇ ਪਾਣੀ, ਡਰੇਨੇਜ, ਸਕੂਲ, ਕਮਿਊਨਿਟੀ ਪਖਾਨੇ, ਸਪਲਾਈ ਵਰਕਸ,
ਆਦਿ, ਅਜਿਹੇ ਵਾਰਡ ਵਿਚ ਮੁਹੱਈਆ.
ਇਹ ਐਸ.ਸੀ.ਐਸ.ਪੀ ਲਈ ਖਰਚ ਵਿਚ ਸ਼ਾਮਲ ਕੀਤਾ ਜਾਣਾ ਚਾਹੀਦਾ ਹੈ. “

ਕਸ਼ਮੀਰ
ਐਸ ਸਰੋਜ, ਸਕੱਤਰ, ਪੰਜਾਬ, (ਐਸ.ਸੀ ਤੇ ਬੀ.ਸੀ ਦੀ ਭਲਾਈ) ਨੇ ਕਿਹਾ: “ਸਾਨੂੰ ਪੰਜਾਬ
ਵਿਚ ਅਨੁਸੂਚਿਤ ਆਬਾਦੀ ਦਾ ਅਨੁਪਾਤ ਵਿਚ ਅਨੁਸੂਚਿਤ ਲਈ ਫੰਡ ਜਾਰੀ.
ਸੁਪਰੀਮ ਸਕੀਮ ‘ਤੇ ਖਰਚ ਨੂੰ ਵੀ ਉਸੇ ਤਰੀਕੇ ਨਾਲ ਕੀਤੇ ਗਿਆ ਹੈ. ਸਾਨੂੰ ਪਤਾ ਹੈ, ਨਾ ਭੁੱਲੋ ਨੂੰ ਕਮਿਸ਼ਨ ਵੰਡ ਅਤੇ ਖਰਚ ਦੇ ਵਿਚਕਾਰ ਅਜਿਹੇ ਅੰਤਰ ਪਾਇਆ ਹੈ. “

ਦੇ
ਤੌਰ ਤੇ ਸਾਡੇ ਸੰਵਿਧਾਨ ਵਿਚ ਦਰਜ ਇਹ ਲੋਕਤੰਤਰ, ਆਜ਼ਾਦੀ, ਸਮਾਨਤਾ ਅਤੇ ਭਰੱਪਣ ਨੂੰ
ਬਚਾਉਣ ਲਈ ਯੂ.ਪੀ. ਦੇ ਮੁੱਖ ਮੰਤਰੀ ਦੇ ਤੌਰ ‘ਸ੍ਰੀਮਤੀ ਮਾਇਆਵਤੀ ਅਨੁਪਾਤ Sarvajan
Hithaye Sarvajan Sukhaye ਭਾਵ ਲਈ ਸਮਾਜ ਦੇ ਹਰ ਵਰਗ ਦੇ ਵਿੱਚ ਸੂਬੇ ਦੇ ਦੌਲਤ
ਵੰਡੇ, ਭਲਾਈ, ਖ਼ੁਸ਼ੀ ਅਤੇ ਸਾਰੇ ਸਮਾਜ ਦੇ ਅਮਨ ਲਈ
. ਉਸ ਨੂੰ ਵਧੀਆ ਸ਼ਾਸਨ ਦੇ ਕਾਰਨ ਉਹ ਇਸ ਦੇਸ਼ ਦੇ ਪ੍ਰਧਾਨ ਮੰਤਰੀ ਬਣਨ ਦੇ ਯੋਗ ਹੋ ਗਿਆ. ਇਹ
1% ਅਸਹਿਣਸ਼ੀਲ, ਹਿੰਸਕ, ਅੱਤਵਾਦੀ ਨੇ ਪਸੰਦ ਕੀਤਾ ਹੈ, ਨਾ ਸੀ, ਸ਼ੂਟਿੰਗ, lynching,
ਪਾਗਲ, ਮਾਨਸਿਕ ਤੇਕਮਜ਼ੋਰ ਆਦਮਖ਼ੋਰ psychopath chitpawan Rakshasa Swayam ਸੇਵਕ
ਅਤੇ ਇਸ ਦੇ ਸਾਰੇ avathars ਭਾਜਪਾ ਦੇ (Bahuth Jiyadha Psychopaths), ਵਿਸ਼ਵ
ਹਿੰਦੂ ਪ੍ਰੀਸ਼ਦ (ਹਿੰਸਕ ਹਿੰਦੂਤਵ psychopaths), ਏਬੀਵੀਪੀ ਦੇ ਬ੍ਰਾਹਮਣ (
ਸਾਰੇ
ਬ੍ਰਾਹਮਣ venomous Psychopaths) ਭਜਨ ਦਲ ਆਦਿ, 99% Sarvajan ਸਮਾਜ ਪ੍ਰਤੀ ਆਪਣੇ
ਨਫ਼ਰਤ ਦੇ ਕਾਰਨ ਧੋਖਾਧੜੀ ਈਵੀਐਮ ਛੇੜਛਾੜ ਦੇ ਕੇ ਉਸ ਨੂੰ ਹਰਾ ਦਿੱਤਾ.
ਪਰ ਉਹ ਸਾਬਤ ਕੀਤਾ ਜਦ ਉਸ ਨੇ ਅਤੇ ਉਸ ਦੇ ਬਸਪਾ ਉੱਤਰ ਪ੍ਰਦੇਸ਼ ਪੰਚਾਇਤ ਚੋਣ ‘ਚ ਸੀਟ ਦੀ ਬਹੁਗਿਣਤੀ ਜਿੱਤਿਆ.

ਸਿਰਫ
ਹੱਲ ਹੈ ਕਾਗਜ਼ ਵੋਟ ਦੇ ਨਾਲ ਇੱਕ ਸਿੰਗਲ ਪੜਾਅ ਵਿੱਚ ਸਾਰੇ ਈਵੀਐਮ ਨੂੰ ਤਬਦੀਲ ਕਰਨ
ਅਤੇ ਇਹ ਸਭ ਫਰਾਡ ਈਵੀਐਮ ਕੇ ਚੁਣਿਆ ਸਰਕਾਰ ਬਰਖਾਸਤ ਅਤੇ ਫਿਰ ਤਾਜ਼ਾ ਚੋਣ ਕਰਨ ਲਈ
ਹੁੰਦਾ ਹੈ.

21) Classical Telugu

21) ప్రాచీన తెలుగు

1844 శనివారము 23 ఎప్రిల్ 2016
పాఠాలు

నుండి

అంతరార్థ-NET -ఆన్లైన్ A1 (జాగృతం వన్) Tipiṭaka రీసెర్చ్ & ప్రాక్టీస్ విశ్వవిద్యాలయం
విజువల్ ఫార్మాట్ లో (FOA1TRPUVF)
http://sarvajan.ambedkar.org ద్వారా
aonesolarpower@gmail.com

సంగీతం బౌద్ధమతం (అవేర్నెస్ తో జాగృతం వన్ యొక్క బోధనలు) ప్రపంచానికి చెందిన, మరియు ప్రతి ఒక్కరూ ప్రత్యేక హక్కులను కలిగి: జేసీ

ఈ Google అనువాదం మరియు వ్యాపించడంపై ఒకరి మాతృభాషలో విశ్వవిద్యాలయ ఒక
పాఠం గా ఖచ్చితమైన అనువాదం రెండరింగ్ ఒక స్ట్రీమ్ Enterer (Sottapanna)
పరిచి ఒక ఫైనల్ గోల్, ఎటర్నల్ బ్లిస్ సాధించడానికి చేసుకోవచ్చును.

అవగాహన తో జాగృతం వన్ యొక్క బోధనలు ప్రచారం వెబ్సైట్లు జాబితా అనగా, బుద్ధ Tripitaka విజువల్ ఫార్మాట్

http://sarvajan.ambedkar.org/?m=200907
http://wapedia.mobi/en/Buddhahood#1.
HTTP: // వార్తలు. xinhuanet. com / ఇంగ్లీష్ / 2009-07 / 27 / content_11780918 .htm
www.chinaview. CN
www.buddhismandbusi ness.webs. కామ్
http://www.grameenfoundation.org/welcome/google_psa/
www.grameenfoundation.org

http://plato.stanford.edu/entries/abhidharma/
http://www.taosinstitute.net/Websites/taos/images/PublicationsWorldShare/BuddhaAsTherapistMeditations_2015.pdf

http://www.audiodharma.org/series/1/talk/1839/

http://scroll.in/article/806815/in-sounding-the-bugle-for-2017-polls-in-uttar-pradesh-mayawati-did-not-spare-anyone
ఉత్తరప్రదేశ్ లో 2017 ఎన్నికలకు బుగల్ సౌండింగ్ లో మాయావతి ఎవరైనా ఇంకొక లేదు

https://in.news.yahoo.com/robot-monk-blends-science-buddhism-chinese-temple-022046666.html
రోబోట్ సన్యాసి చైనీస్ ఆలయం వద్ద సైన్స్ మరియు బౌద్ధమతం అనుసంధానం
http://www.hindustantimes.com/india/jodhpur-dalits-against-liquor-shop-say-they-ve-converted-to-buddhism/story-66WtTi1jP436dwxVFIRO1N.html
జోధ్పూర్: ఎస్సీ / మద్యం దుకాణం వ్యతిరేకంగా ఎస్టీలకు వారు బౌద్ధమతం మార్చబడుతుంది చేసిన సే
https://in.news.yahoo.com/scheduled-caste-commission-report-scs-010500542.html
షెడ్యూల్డ్ కులాల కమిషన్ రిపోర్ట్: ‘ఎస్సీ ఎస్సీ నిధులు పొందలేము’

https://in.news.yahoo.com/robot-monk-blends-science-buddhism-chinese-temple-022046666.html
రోబోట్ సన్యాసి చైనీస్ ఆలయం వద్ద సైన్స్ మరియు బౌద్ధమతం అనుసంధానం
జోసెఫ్ కాంప్బెల్ ద్వారా
రాయిటర్స్
23 ఏప్రిల్ 2016

https://www.rt.com/viral/340638-buddha-robot-longquan-beijing/
బుద్ధ-bot: చైనీస్ ఆలయం బోధనలు పెంచడానికి మినీ సన్యాసి రోబోట్ (వీడియో) చేసుకుంటాడు
వీడియోను దయచేసి:
https://www.rt.com/viral/340638-buddha-robot-longquan-beijing/

Xian’er అని ఆలయం యొక్క సొంత కార్టూన్ సిరీస్, ట్రబుల్ లోని ఒక ప్రముఖ పాత్ర ఆధారంగా, మీరే కోరడం. Xianfan CNTV ప్రకారం, హైలైట్ మరియు కొత్త మీడియా ద్వారా సమకాలీన సంస్కృతితో బౌద్ధమతం యొక్క కనెక్షన్ అభివృద్ధి సిరీస్ అభివృద్ధి.

Xian’er రోబోట్ టెక్ సంస్థ నుండి మద్దతు మరియు చైనీస్ విశ్వవిద్యాలయాలు
నుండి AI నిపుణులతో అభివృద్ధి చేయబడింది, మరియు ప్రస్తుతం ఆలయ విధులు
విస్తృత శ్రేణి ఒక కొత్త మోడల్ అభివృద్ధి చేస్తోంది.

అతను బీజింగ్, ఏప్రిల్ 20, 2016. రాయిటర్స్ / కిమ్ Kyung-హూ శివార్లలో
Longquan బౌద్ధ ఆలయంలో ఫోటో సెషన్లో రోబోట్ యొక్క సంభాషణ ఫంక్షన్
ప్రదర్శించాడు మాస్టర్ Xianfan రోబోట్ సన్యాసి Xian’er చూసి

జోసెఫ్ కాంప్బెల్ ద్వారా

బీజింగ్ (రాయిటర్స్) - బీజింగ్ శివార్లలో ఒక బౌద్ధ దేవాలయం అనుచరులు ఆకర్షించడానికి ఉపయోగం సాంకేతిక నిర్ణయించింది.

Longquan దేవాలయం బౌద్ధ Suttas శ్లోకం చేసే వాయిస్ కమాండ్ ద్వారా
తరలించడానికి, మరియు ఒక సాధారణ సంభాషణ కలిగి ఒక రోబోట్ సన్యాసి అభివృద్ధి
చెప్పారు.

Xian’er నేమ్డ్, 2 అడుగుల పొడవైన రోబోట్ పసుపు దుస్తులలో ఒక కార్టూన్
వంటి అనుభవం లేని సన్యాసి ఒక గడ్డం తల తో, తన ఛాతీ మీద ఒక టచ్ స్క్రీన్
పట్టుకొని పోలి.

Xian’er తన తెరపై జాబితా బౌద్ధమతం మరియు రోజువారీ జీవితం గురించి 20
సాధారణ ప్రశ్నలు, సమాధానాలు ఇవ్వడం ద్వారా ఒక సంభాషణ కలిగి, మరియు అతని
చక్రాలు మీద కదలికలు ఏడు రకాల పని చేయవచ్చు.

మాస్టర్ Xianfan, Xian’er యొక్క సృష్టికర్త, రోబోట్ సన్యాసి సైన్స్
మరియు బౌద్ధమతం కలయిక ద్వారా, చైనా లో బౌద్ధ జ్ఞానం వ్యాప్తి కోసం
పరిపూర్ణ నౌకను చెప్పాడు.

“సైన్స్ మరియు బౌద్ధమతం వ్యతిరేకిస్తున్నారు గానీ విరుద్ధంగా, మరియు మిశ్రమ మరియు పరస్పర అనుకూలంగా చేయవచ్చు,” Xianfan చెప్పారు.

బౌద్ధమతం నెమ్మదిగా సంస్కరణలు అనేక దశాబ్దాల క్రితం కు వెళ్ళి వచ్చింది నుండి రోజువారీ జీవితంలో తిరిగి అల్లుకుంది.

Xianfan బౌద్ధమతం త్వరితంగా మారుతున్న, స్మార్ట్ ఫోన్ ఆధిపత్య సమాజంలో ప్రజలకు ఖాళీ నిండి అన్నారు.

“బౌద్ధమతం లోపలి గుండె చాలా ప్రాముఖ్యత జోడించబడి విషయం, ఇంకా వ్యక్తి
యొక్క ఆధ్యాత్మిక ప్రపంచ దృష్టి చెల్లిస్తుంది ‘అని ఆయన చెప్పారు.

“ఇది కృత్రిమ సంస్కృతి యొక్క ఒక రకం. ఈ కోణం, దాన్ని అనేక ప్రజల అవసరాలను సంతృప్తి చేయవచ్చు భావిస్తున్నాను నుండి మాట్లాడుతూ.”

చిన్న రోబోట్ సన్యాసి ఒక సాంకేతిక సంస్థ మరియు చైనా అగ్రశ్రేణి
విశ్వవిద్యాలయాల్లో కొన్ని కృత్రిమ మేధస్సు నిపుణులు మధ్య ఒక ఉమ్మడి
ప్రాజెక్టుగా అభివృద్ధి చేయబడింది.

ఇది అక్టోబర్ లో ప్రజలకు విడుదల చేశారు.

కానీ Xian’er అది అవసరంగా సామాజిక సీతాకోకచిలుక అనేక అతని భావించడానికి ఉంది.

అతను అనేక రోబోటిక్స్ మరియు చైనా అంతటా ఆవిష్కరణ వేడుకలు పర్యటించింది కానీ అరుదుగా Longquan ఆలయం వద్ద ప్రజా ప్రదర్శనలు చేస్తుంది.

Xian’er అతని గురించి ఉత్సుకత సోషల్ మీడియాలో పేలింది ఉంది అయినప్పటికీ, తన రోజుల ఒక కార్యాలయంలో ఒక షెల్ఫ్ “ధ్యానం” గడుపుతుంది.

Xian’er అదే పేరుతో Xianfan యొక్క 2013 కార్టూన్ ప్రేరణతో. ఆలయ కార్టూన్ యానిమేషన్లు, ప్రచురించబడిన కామిక్ ప్రచురణ సేకరణలను, మరియు కార్టూన్ సన్యాసి నటించిన కూడా సరుకుల ఉత్పత్తి చేసింది.

మిచెల్ యు పర్యాటకుల మరియు బౌద్ధ సాధన, ఆమె మొదటి సోషల్ మీడియాలో Xian’er మచ్చల అన్నారు.

“అతను నిజంగా అందమైన మరియు పూజ్యమైన కనిపిస్తుంది. తను చాలా
ఆసక్తికరమైన పని అనుకుంటున్నాను ఉంటుంది, ఎందుకంటే ఎక్కువ మంది బౌద
వ్యాప్తి చేస్తారు, మరియు వాటిని నిజంగా బౌద్ధమతం అర్థం అనుకుంటున్నారా
చేస్తుంది,” ఆమె చెప్పారు.

ఆలయ విధులను విభిన్న శ్రేణుల కలిగి చెబుతాడు Xian’er యొక్క ఒక కొత్త మోడల్, అభివృద్ధి చేస్తుంది.

(రాబర్ట్ Birsel ఎడిటింగ్ జోసెఫ్ కాంప్బెల్ నివేదించుట)

http://www.hindustantimes.com/india/jodhpur-dalits-against-liquor-shop-say-they-ve-converted-to-buddhism/story-66WtTi1jP436dwxVFIRO1N.html
జోధ్పూర్: ఎస్సీ / మద్యం దుకాణం వ్యతిరేకంగా ఎస్టీలకు వారు బౌద్ధమతం మార్చబడుతుంది చేసిన సే

వారి ప్రాంతంలో ఒక మద్యం దుకాణంలో ప్రారంభ వ్యతిరేకంగా ఆందోళన చేసిన
ఎస్సీ / ఎస్టీలకు సమూహం రాష్ట్ర పరిపాలన వారి డిమాండ్ నిర్లక్ష్యం చేసింది
వంటి వారు బౌద్ధమతం మార్పిడి పేర్కొన్నారు.

జోధ్పూర్ Bhadasia శివారులో సంత్ రవిదాస్ కాలనీ వాసులు మద్యం దుకాణం వ్యతిరేకంగా మూడు వారాలు ఆందోళన చేస్తున్నారు.

నిరసన నివాసితుల యొక్క కొన్ని కూడా తాము tonsured కాకముందు.

అశోక్ Balotia, అతని తల గుండు ఎవరు నిరసనకారులు ఒకటి, “ఏమి చేయవచ్చు
వచ్చి” వారు మద్యం దుకాణం వ్యతిరేకంగా వారి ఉద్యమం కొనసాగుతుందని చెప్పారు.

“మేము హిందూమతం నుండి మార్పిడి హెచ్చరించాడు మరియు మేము బిఆర్ అంబేద్కర్
అనుచరులు ఎందుకంటే, మేము నీలాంటి బౌద్ధమతం అనుసరిస్తున్నాయి,” అతను
అన్నాడు.

అదే ప్రాంతానికి చెందిన Bhagwanti వారు మద్యం దుకాణం యొక్క ప్రారంభ
ఆపడానికి ఏ మేరకు సిద్ధంగా ఉన్నారు మరియు షాప్ లైసెన్స్ రద్దు కంటే తక్కువ
ఏదైనా కోసం పరిష్కరించడానికి లేదు చెప్పారు.

మద్యం దుకాణాలు వ్యతిరేకంగా ఉద్యమం కంటిన్యూ

ఉత్తమ పరిష్కారాలను బౌద్ధమతంలో ఉంది

టెక్నో-రాజకీయ-సామాజిక ట్రాన్స్ఫర్మేషన్ ఆర్థిక విమోచన ఉద్యమం బాబాసాహెబ్
డాక్టర్ బిఆర్ అంబేద్కర్ ప్రారంబించింది, Manyawar Kanshram మరియు Ms
మాయావతి, వారి అనుచరులు కోట్లాది తరువాత ద్వారా.

నేటి నాయకులు వారి తలలను క్షవరం చేయుట మరియు ఒక ఉదాహరణ సెట్ అవగాహన తో జాగృతం వన్ వంటి వారి జీవితాలను దారి ఉండాలి. దేశమంతా మత్తుపదార్ధాలు అన్ని రకాల వినియోగించే తప్పించుకుంటూ సహా అన్ని మంచి ఉపదేశములను అనుసరించే.

అక్షరాలా రాళ్ళు రోలింగ్ వంటి చుట్టుకునే వారు బదులుగా వారి సొంత కుల
మీడియా మరియు TV చానెల్స్ లో పెళ్ళాం పిల్లల సంగతి ఆలోచించండి యొక్క,
చెప్పులు లేని కాళ్ళు నడవడానికి మరియు వినియోగించే సారాయి మరియు ధూమపానం
cigarrets, బీడీలు సహా మత్తుపదార్ధాలు ఆపడానికి ప్రజలు అడగండి ఉండాలి అన్ని
రౌండ్ నాయకులు మాత్రమే తమ సొంత కుటుంబ సభ్యులు కోసం ఉద్దేశించబడింది.

వారు గృహ మహిళలు చెప్పడం ఉండాలి మరియు వారు మత్తులో ఉన్నప్పుడు తమ పిల్లలు వారి గృహాలను లోపల వారి పురుషులు జానపద అనుమతించదు. వారు వాటిని తమ ఇళ్లలో బయటకు విసిరేస్తానని వాటిని అడగండి ఉండాలి.

దశలవారీగా మద్యం దుకాణాలు మూసివేయడం మాట్లాడుతూ దశలవారీగా బదులుగా ఒకే షాట్ లో ఒక కుక్క తోక కత్తిరించి వంటిది. అదేవిధంగా అన్ని మోసం ఈవీఎంలు మాజీ మాజీ సిఇసి సంపత్ సూచించారు సిజెఐ
సదాశివం ఆదేశించిన విధంగా దశలవారీగా పేపర్ బ్యాలెట్ తో ఒక గో మరియు భర్తీ
చేయాలి.

షెడ్యూల్డ్ కులాల కమిషన్ రిపోర్ట్: ‘ఎస్సీ ఎస్సీ నిధులు పొందలేము’

వివిధ రాజకీయ పార్టీలు దావా తన 125 వ జయంతి నాడు డా బి ఆర్ అంబేద్కర్
వారసత్వం కర్ర తో, షెడ్యూల్డ్ కులం కమిషన్ ద్వారా తాజా వార్షిక నివేదిక
దాదాపు అన్ని రాష్ట్రాలకు ఎస్సీలు వైపు వారి బడ్జెటరీ కట్టుబాట్లు
గౌరవించడం విఫలమయ్యాయి తేలింది.

ఇది
దాని మొట్టమొదటి ఇటువంటి ఆడిట్, కమిషన్ 26 రాష్ట్రాల 2012-13 బడ్జెట్
పరిశీలించిన మరియు “ఎస్సీ నిర్దిష్ట” పథకంపై ఖర్చు నిధులు మొత్తం ఎస్సీ
స్పెషల్ ప్లాన్ (ఎస్సీఎస్పీ) కింద కేటాయించిన మాత్రమే చిన్న భాగం వయసులో
కనుగొన్నారు నేర్చుకుందని.
నివేదిక ఇంకా పార్లమెంట్లో సమర్పించని. “ఎస్సీ-నిర్దిష్ట పథకాలు వ్యయానికి ఎస్సీఎస్పీ మొత్తం కేటాయింపును దేశవ్యాప్తంగా కేవలం ఒక చిన్న భాగమని.

కేంద్రం
మార్గదర్శకాలు, బడ్జెట్, రాష్ట్ర పేర్కొన్న వివిధ మంత్రిత్వ శాఖలు,
విభాగాలు రాష్ట్రాల్లో కమ్యూనిటీ యొక్క జనాభా నిష్పత్తి కనీసం ఎస్సీఎస్పీ
కింద నిధులు కేటాయించనుంది కలిగి.
2011 సెన్సస్ ప్రకారం, ఎస్సీలు ఏర్పరుస్తుంది దేశ జనాభాలో 16.6 శాతం.

రూ
80.310 కోట్ల 26 రాష్ట్రాలు ఎస్సీఎస్పీ పథకాలు 2012-13లో రూ 61.480 కోట్లు
వెచ్చించారు కేటాయించిన యుపిఎ ప్రభుత్వం కేంద్రంలో అధికారంలో ఉన్నప్పుడు.
అయితే, ఈ మొత్తాన్ని రు 9.920 కోట్లు లేదా 12 మొత్తం కేటాయింపును శాతం,
ఎస్సీ- నిర్దిష్ట పథకాలు ఖర్చు మరియు మిగిలిన ఇతర పథకాలు మళ్లించాడు,
కమిషన్ దొరకలేదు.

 “మాత్రమే ఆ పథకాలు ఎస్సి సంబంధించిన వ్యక్తులను లేదా కుటుంబాలు ప్రత్యక్ష ప్రయోజనాలు హామీ ఇది ఎస్సీఎస్పీ చేరుస్తారు చేయాలి”. “ఎస్సీఎస్పీ నిధులను మాత్రమే ఎస్టీలకు ఉద్దేశించినవి, కానీ ఇతర ప్రాంతాలలో మళ్ళించారు,”.

కమిషన్ ఆడిట్ కేటాయింపు మరియు వ్యయం, మరియు రెండు మధ్య అంతరం ప్రధానంగా దృష్టి. ఈ పరిగణించండి:

* ఫండ్స్ 19 26 యొక్క రాష్ట్రాలు ఎస్సీఎస్పీ కోసం కేటాయించిన నిష్పత్తి, అక్కడ ఎస్సీలు యొక్క జనాభా కంటే తక్కువ ఉన్నారు.

* వ్యయాన్ని న కమిషన్ 26 రాష్ట్రాలు ఎవరూ ఎస్సీఎస్పీ ఖాతా కింద కూడా సగం నిధులు గడిపారని “ఎస్సీ-నిర్దిష్ట పథకాలు” దొరకలేదు. జస్ట్ 14 రాష్ట్రాలు “ఎస్సీ-నిర్దిష్ట పథకాలు” పై ఎస్సీఎస్పీ కింద మొత్తం ఖర్చు నిధుల శాతం ఖర్చు 10 కంటే ఎక్కువ. ఆరుగురు, గుజరాత్, యుపి, బీహార్ సహా, ఎస్సీ- నిర్దిష్ట పథకాలు కంటే తక్కువ 20 శాతం నిధులు ఖర్చు. ఛత్తీస్గఢ్, పశ్చిమబెంగాల్, ఒడిశా చెత్త ప్రదర్శకులు ఉన్నాయి.

* కేటాయించిన నిధులు మరియు డబ్బు ఎస్సీ విధమైన ఖర్చు మధ్య వెడల్పైన ఖాళీ ఉంది. ఉదాహరణకు, పంజాబ్ ఎస్సీఎస్పీ కింద ట్యాగ్ 28.85 రాష్ట్ర బడ్జెట్ శాతం
కానీ ఎస్సీ- నిర్దిష్ట పథకాలు కేవలం 4.81 చేసే కేటాయింపుల శాతం గడిపాడు.

“సాధారణ పథకాలు ఉన్నాయి, ఎస్సీ-నిర్దిష్ట పథకాలు ఉన్నాయి. ఎస్సీ కమిషన్ సరిగ్గా ఎస్సీ- నిర్దిష్ట పథకాలకు కేటాయించాల్సిన నిధులను నిర్వచించబడింది. మా నిధులు ఎస్సి చేరే మరియు కమ్యూనిటీ లాభాన్నిపొందగా ఉంటాయి, “ఎన్ కె
Aswal అదనపు చీఫ్ సెక్రటరీ, SC & ST డెవలప్మెంట్, ఛత్తీస్గఢ్ చెప్పారు.

కె డి కపాడియా, దర్శకుడు, గుజరాత్ ఎస్సీ సంక్షేమ శాఖ, అన్నాడు: “మన రాష్ట్రంలో ఎస్సీ జనాభా చెల్లాచెదురుగా ఉంది. అనేక గ్రామాల్లో ఎస్సీ విభాగంలో 250 మందికి పైగా సభ్యులు ఉన్నారు. ఈ గ్రామాలకు పరిసర ప్రాంతాల్లో అమలు పథకాలు ఎస్సీఎస్పీ కింద పరిగణలోకి తీసుకోవాలి. పట్టణ ప్రాంతాల్లో, పలువురు వార్డుల ఎస్సీ గణనీయమైన జనాభాను కలిగి ఉన్నాయి. పట్టణ
స్థానిక సంస్థలకు, అనగా అనేక సౌకర్యాలు, వీధి దీపాలు, ఓవర్హెడ్ వాటర్
ట్యాంకులు, రోడ్లు, కాలిబాటలు, నీటి పారుదల, పాఠశాలలు, కమ్యూనిటీ
మరుగుదొడ్లు, చికిత్సాలయాలు, మొదలైనవి మద్యపానం, అటువంటి వార్డుల లో
తెలుపుతాయి.
ఈ ఎస్సీఎస్పీ కోసం వ్యయము లో చేర్చబడిన చేయాలి. “

కె
ఎస్ సరోజ్, సెక్రటరీ, పంజాబ్, (ఎస్సీ, బీసీలకు సంక్షేమ) అన్నాడు: “మేము
పంజాబ్ ఎస్సీ జనాభా అనులోమానుపాతంలో ఎస్టీలకు నిధులు కేటాయించాలని.
ఎస్సీ పథకాలపై వ్యయం కూడా అదే విధంగా చేపడతారు. మేము కమిషన్ కేటాయింపులు, వ్యయాల మధ్య వ్యత్యాసాలు ఎలా కనుగొంది తెలియదు. “

ఉత్తరప్రదేశ్
CM గా మాయావతి రాష్ట్ర సంపదను ప్రజాస్వామ్యం, స్వేచ్ఛ, సమానత్వం మరియు
కూటమిలో సేవ్ మా రాజ్యాంగం లో పొందుపరిచారు సంక్షేమం, ఆనందం మరియు అన్ని
సంఘాలు శాంతి కోసం ఎంత Sarvajan Hithaye Sarvajan Sukhaye అంటే సమాజంలోని
అన్ని వర్గాల మధ్య పంపిణీ
. ఎందుకంటే ఆమె ఉత్తమ పాలన అతను ఈ దేశ ప్రధాని కావడానికి అర్హత మారింది.
1% అసహనంగా, హింసాత్మక, తీవ్రవాద ద్వారా ఇష్టపడలేదు షూటింగ్, చిత్రవధలు
చేసి చంపడం జరిగింది, వెర్రివాడు, మానసిక రోగులు నరమాంస భక్షకుడు మానసిక
chitpawan rakshasa Swayam Sevaks మరియు అన్ని దాని avathars బిజెపి
(Bahuth Jiyadha వికలోద్వేగరోగులు) విహెచ్పి (హింసాత్మక హిందూత్వ
వికలోద్వేగరోగులు), ఏబీవీపీ బ్రాహ్మణులు (
ఎందుకంటే
99% Sarvajan సమాజ్ వైపు వారి ద్వేషం అన్ని బ్రాహ్మణులు విషపూరిత
వికలోద్వేగరోగులు) భజన దళ్ మొదలైనవి, మోసం ఈవీఎంలు దిద్దుబాటు ద్వారా ఆమె
ఓడించింది.
ఆమె మరియు ఆమె బిఎస్పి యుపిలో పంచాయతీ ఎన్నికల్లో మెజారిటీ సీట్లు గెలిచారు కానీ ఆమె నిరూపించాడు.

మాత్రమే
పరిష్కారం పేపర్ బ్యాలెట్ తో ఒకే దశలో ఈవీఎంలు స్థానంలో మరియు అన్ని
ప్రభుత్వాలు ఈ మోసం EVM ల ఎంపిక కొట్టి ఆపై తాజా ఎన్నికలకు చర్యగా ఉంది.


comments (0)